Bihar Election: जेडीयू ने जारी की स्‍टार प्रचारकों की लिस्‍ट, CM नीतीश समेत ये नेता करेंगे 'जीत' पक्‍की

जेडीयू के लिए 30 नेता प्रचार करेंगे.
जेडीयू के लिए 30 नेता प्रचार करेंगे.

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के लिए जेडीयू (JDU) ने स्‍टार प्रचारकों की लिस्‍ट जारी कर दी है, जिसमें सीएम नीतीश कुमार समेत कई दिग्‍गज नेता शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 11:51 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के लिए जेडीयू  (JDU) ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट (Star Campaigner) जारी कर दी है. जेडीयू ने बिहार चुनाव में सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) समेत अपने 30 वरिष्ठ नेताओं को प्रचार में उतारने की योजना बनाई है. इस लिस्‍ट में सीएम के अलावा बशिष्‍ठ नारायण सिंह, रामचंद्र प्रसाद सिंह और राजीव रंजन सिंह 'ललन' समेत कई दमदार नेता शामिल हैं. यही नहीं, जेडीयू ने अपने प्रचारकों की लिस्‍ट में जाति और धर्म का भी खास ख्‍याल रखा है.

जेडीयू ने जिस तरह से चुनाव में 11 मुस्लिम उम्‍मीदवारों पर दांव लगाया है, वैसे भी प्रचारकों की लिस्‍ट में भी कई मुस्लिम नेताओं को तरजीह मिली है. इस लिस्‍ट में अली अशरफ फातमी, गुलाम गौस, तनवीर अख्‍तर, कमर आलम, अफाक अहमद खां और  मुलाम रसूल वलियावी जैसे कई नेता शामिल हैं. जेडीयू ने इसके माध्यम से यह संदेश देने का प्रयास किया है कि नये तेवरों वाली भाजपा के साथ गठबंधन के बावजूद अल्पसंख्यक समुदाय के हित सुरक्षित हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव, Bihar Assembly Election, जेडीयू, JDU
जेडीयू ने कई मुस्लिम नेताओं को भी प्रचार की कमान सौंपी है.




राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में सीटों के बंटवारे के तहत 243 सदस्यीय विधानसभा के लिये जेडीयू को 122 सीटें मिली थी, जिसमें से उसने सहयोगी जीतनराम मांझी की हम पार्टी को सात सीटें दी हैं. जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने अपने सभी 115 सीटों पर लड़ने वाले प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए हैं. पार्टी ने सबसे अधिक 67 प्रत्याशी पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग से उतारे हैं. इनमें पिछड़ा वर्ग से 40 प्रत्याशी हैं. जिनमें सबसे ज्यादा 19 यादव, 12 कुर्मी और तीन वैश्य समुदाय के लोगों को टिकट दिया गया है. वहीं, अति पिछड़ा समुदाय से 27 प्रत्याशी उतारे हैं, जिनमें 8 धानुक और 15 कुशवाहा शामिल हैं. जदयू ने 115 सीटों में से 19 सीटें सवर्ण समुदाय के लोगों को दी है, जिनमें सबसे ज्यादा 8 भूमिहार, 7 राजूपत और दो ब्राह्मण प्रत्याशियों को टिकट दिया है. बिहार के अनुसूचित जाति समुदाय के उम्मीदवारों को 17 टिकट दिए हैं और अनुसूचित जनजाति को एक टिकट दिया है. इसके अलावा पांच अनुसूचित जाति वाली सीटें जीतनराम मांझी की पार्टी को दे रखी है. यही नहीं जेडीयू ने बिहार की 11 सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशी उतारे हैं.
11 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया
इसके बाद पार्टी ने राज्य में 115 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की सूची बुधवार को जारी कर दी जिसमें 11 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया गया है जहां इस समुदाय की आबादी 15 प्रतिशत से अधिक है. साल 2015 के चुनाव में जेडीयू का राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस के साथ गठबंधन था, तब उसके (जेडीयू) टिकट पर पांच मुस्लिम उम्मीदवार विजयी रहे थे. जेडीयू ने इनमें से चार को इस बार भी टिकट दिया है जिसमें खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद (सिकटा), शरफुद्दीन (शिवहर), नौशाद आलम (ठाकुरगंज) और मुजाहिद आलम (कोचाधामन) से चुनाव मैदान में हैं .जेडीयू से 2005 में विजयी पांचवें मुस्लिम उम्मीदवार जोकीहाट से सरफराज आलम थे जिन्होंने 2018 में पार्टी से त्यागपत्र दे दिया था. आलम को राजद ने आररिया लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में उतारा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज