लाइव टीवी

पटना: 'जल प्रलय' पर नीतीश ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, कई पर गिर सकती है गाज

News18 Bihar
Updated: October 14, 2019, 9:28 AM IST
पटना: 'जल प्रलय' पर नीतीश ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, कई पर गिर सकती है गाज
पटना में हुई बारिश के बाद अभी तक कई इलाकों में जल जमाव की स्थिति है. (फाइल फोटो)

सीएम नीतीश कुमार (Nitish kumar) के आवास पर होने वाली इस हाई लेवल मीटिंग (High Level Meeting) में 12 बिंदुओं पर चर्चा होगी.

  • Share this:
पटना. पटना में जल जमाव (Water Logging) का दोषी कौन है? आख़िर किसकी ग़लती से पटना जलमग्‍न हो गया? इस सवाल का जवाब जानने के लिए सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सोमवार को समीक्षा बैठक कर रहे हैं. अपने सरकारी आवास एक अणे मार्ग में बुलाई गई इस हाई लेवल मीटिंग में इस बात की पूरी जानकारी ली जाएगी की पटना (Flood in Patna) किसकी ग़लती से डूबा. कई विभाग के मंत्री से लेकर अधिकारी तक बैठक में शामिल होंगे, लेकिन इस बैठक से जनप्रतिनिधियों को दूर रखा गया है. सूत्र बताते हैं कि इस बैठक में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर फ़ोकस रहेगा.

इन बिंदुओं पर होगी चर्चा

1. पटना में जल जमाव की समस्या क्यूंं हुई?
2. ज़्यादा पानी हुई तो पानी निकासी की व्यवस्था सही ढंग से क्यूंं नहीं की गई?

3. सम्प हाउस समय ठीक तरीक़े से काम क्यूंं नही कर पाया?
4. पटना के बड़े नाले की सफ़ाई का दावा किया गया था तो इसके बावजूद नाला जाम क्यूंं हुआ?
5. पटना का मास्टर प्लान कहां है — बिना मास्टर प्लान के शहर कैसे बढ़ता जा रहा है?
Loading...

6. पटना नगर निगम का रवैया पूरे घटना में क्या रहा?
7. पटना से जल निकासी का उपाय क्या है — क्या पुनपुन का जल स्तर और गंगा का जल स्तर बढ़ने से भी समस्या हुई?
8. पटना के नालों का नक़्शा कहां है — जल जमाव से निजात के लिए बिना नक़्शा आज तक काम कैसे हुआ?
9. नमामी गंगे योजना की वजह से भी समस्या हुई अगर हुई तो इसका पहले निदान क्यूंं नहीं खोजा गया?
10. आने वाले समय में पटना में जल जमाव और दूसरी समस्या ना हो इसके लिए क्या कुछ उपाय किए जा सकते हैं?
11. स्मार्ट सिटी में चुनाव होने के बावजूद पटना की समस्या कम होने के बजाय बढ़ती क्‍यूं जा रही है?
12. पटना में बड़े नालों पर को कब तक ढका जाएगा ताकि नाले को जाम की समस्या से निजात मिल सके?

गाज गिरना तय

ख़बर यह भी मिल रही है कि पटना के पानी पानी होने ले जिम्मेदार अधिकारियों पर गाज गिरना तय है. सूत्र यह भी बताते हैं कि इसकी तैयारी भी हो चुकी है और वैसे अधिकारियों को चिन्हित भी किया जा चुका है. जल जमाव से जूझ रहे लोगों की नाराज़गी झेल रहे बीजेपी विधायक संजीव चौरसिया भी कहते हैं कि अधिकारियों ने ग़लती की है.

कमेटी का भी हो सकता है गठन

अब नज़रें नीतीश कुमार पर टिक गई हैं कि हाई लेवल बैठक में वो क्या फ़ैसला करते हैं. कहा जा रहा है कि पटना के जल जमाव की जांच पूरी करने के लिए तीन सदस्यीय कमिटी भी बनाई जा सकती है जो कुछ वक़्त लेकर पूरी रिपोर्ट मुख्य मंत्री को दे सकते हैं. इस रिपोर्ट के आने के बाद ही सीएम नीतीश कुमार फ़ैसला कर सकते हैं.

रिपोर्ट- आनंद अमृतराज

ये भी पढ़ें- कानून-व्यवस्था बिगड़ी तो हिरासत में लिए गए भगवान, ले जाए गए पुलिस स्टेशन

ये भी पढ़ें- पटना में डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के घर का घेराव, हाय-हाय के लगे नारे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 8:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...