लाइव टीवी

CM नीतीश कुमार ने की प्रवासी मजदूरों से अपील- अब बिहार छोड़कर नहीं जाएं, यहीं देंगे काम
Patna News in Hindi

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: May 23, 2020, 7:13 AM IST
CM नीतीश कुमार ने की प्रवासी मजदूरों से अपील- अब बिहार छोड़कर नहीं जाएं, यहीं देंगे काम
सीएम नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से क्वारंटीन केंद्रों में मौजूद लोगों से की बातचीत

जब CM नीतीश कुमार ( CM Nitish Kumar) जायजा ले रहे थे तब कई ट्रेंड श्रमिकों से भी उनकी बात हो रही थी. इसी दौरान महाराष्ट्र (Maharashtra) सहित दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों से हाल-चाल जानने लगे.

  • Share this:
पटना. अब नहीं न जाइएगा बिहार से बाहर, बिहार में ही रहिए, यहीं मिलेगा रोजगार, चिंता मत कीजिए... ये बातें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने बिहार के क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine center) में रहने वाले अप्रवासी बिहारी मजदूरों से तब कही जब वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए बिहार के कई जिलों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में रहने वाले लोगों का हाल जान रहे थे. बता दें कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीएम नीतीश (CM Nitish) ने 10 जिले के 20 ब्लाक क्वारंटाइन सेंटर का डिजीटल निरीक्षण, समीक्षा एवं रहनेवाले मजदूरों एवं पदाधिकारियों से बात की. बातचीत के क्रम में मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्वारंटाइन केन्द्रों पर मिल रही सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली. सेंटर में खाने की व्यवस्था, किचन, साफ सफाई एवं अन्य सुविधाओं का भी डिजीटल निरीक्षण किया गया.

सीएम नीतीश ने ट्रेंड श्रमिकों से की बात

जब नीतीश कुमार जायजा ले रहे थे तब कई ट्रेंड श्रमिकों से भी उनकी बात हो रही थी. इसी दौरान महाराष्ट्र सहित दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों से जब हाल-चाल जानने लगे.  खाने-पीने से लेकर रहने और काम काज के बारे में सवाल पूछा. इसी दौरान नीतीश कुमार ने उसमे से कुछ मजदूरों से जब सवाल पूछा कि कहां काम करते थे,और क्या करते थे. इस पर कुछ मजदूरों ने बताया कि महाराष्ट्र और गुजरात जैसे राज्यों में काम करते थे.



मुख्यमंत्री ने की हुनर की तारीफ



कई मजदूर टेलरिंग, कुकिंग सहित अन्य कार्यो में कुशल थे, इसी दौरान एक मजदूर ने बताया कि वो पेवल फ्लास्क की तकनीक से ईंट का निर्माण करते हैं और क्वारंटाइन में रहने के दौरान निर्माण कर रहे हैं. ये जान सीएम नीतीश कुमार बेहद खुश हुए और इसकी प्रशंसा तो की ही साथ ही अधिकारियों को निर्देश भी दिया की पेवल फ्लास्क से बनाए जा रहे ईटों को बड़े पैमाने पर तालाब और नदियों के किनारे लगाया जाए. नल जल कल योजना के तहत किए जा रहे सरकारी योजनाओं में इसका उपयोग करने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के कई क्वारंटाइन केंद्रों में रह रहे मजदूरों का हल-चाल जाना.


इसी के बाद नीतीश कुमार ने तमाम जगहों के प्रवासी बिहारी मजदूरों से जो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े हुए थे, उनसे आग्रह किया की बिहार से बाहर अब न जाएं. बिहार में ही उनके स्किल के मुताबिक रोजगार देने की व्यवस्था सरकार कर रही है.  सीएम नीतीश नेलगे हाथों अधिकारियों को इसका निर्देश भी दे दिया.

मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार  को इस दौरान  वी अधिकारियों ने बताया कि  रोजगार सृजन के लिए लगातार काम किया जा रहा है. लॉकडाउन के समय 4 लाख 18 हजार फंक्शनल योजनाओं के तहत अब तक 2 करोड़ 93 लाख मानव दिवस सृजित किये जा चुका है.

ये भी पढ़ें


Lockdown: 1925 के बाद पहली बार पटना के गांधी मैदान में नहीं हाेगी ईद की नमाज! इमारत ए शरिया ने की ये अपील




पिता को पीछे बिठा 1200 किमी साइकिल चला दरभंगा पहुंची थी ज्योति, अब इवांका ट्रंप ने की तारीफ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 6:43 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading