नीतीश कुमार का गृह जिला नालंदा और यहीं के 700 घरों में कई घंटों तक छाया रहा अंधेरा, ये है वजह

नालंदा में बिजली विभाग ने हुसैनपुर गांव के 700 घरों की बिजली काट दी है.

नालंदा में बिजली विभाग ने हुसैनपुर गांव के 700 घरों की बिजली काट दी है.

सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के गृह जिला नालंदा में बिजली विभाग (Electricity Department) की मनमानी का एक बड़ा मामला सामने आया है. बिजली विभाग ने जिले के रहुई प्रखंड के हुसैनपुर गांव के 700 घरों की बिजली काट दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 10:44 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार के सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के गृह जिला नालंदा में बिजली विभाग (Electricity Department) की मनमानी का एक बड़ा मामला सामने आया है. बिजली विभाग ने जिले के रहुई प्रखंड के हुसैनपुर गांव के 700 घरों की बिजली कई घंटों तक काट (Electricity Cut Off) दी. बीते 17 फरवरी को बिजली चोरी की शिकायत पर बिजली विभाग के कर्मचारियों और वरीय अधिकारियों ने गांव का दौरा किया था. इस चेकिंग में नजर आया कि गांव के कुछ ग्रामीणों के द्वारा बिजली का उपयोग चोरी से किया जा रहा था. इस पर बिजली विभाग ने गांव के कुछ लोगों पर 53 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था. इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने बिजली विभाग के कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार किया, जिसके कारण बिजली विभाग कर्मचारी आग बबूला हो गए और पूरे हुसैनपुर गांव का बिजली काटने का फरमान जारी कर दिया. हालांकि, मीडिया में खबर आने के बाद शनिवार शाम को एक बार फिर से पूरे गांव में बिजली सेवा बहाल कर दी गई है.

बिजली चोरी की शिकायत पर गांव की हुई थी चेकिंग

आपको बता दें कि बिजली विभाग के द्वारा इस फरमान को जारी करने के बाद हुसैनपुर गांव के नियमित रूप से बिजली बिल जमा करने बाले भी अंधेरे में रहने को मजबूर हैं. बीते 3 दिनों से बिजली गुल होने के कारण अस्पताल, स्कूल समेत पांच हजार की आबादी पूरी तरह से बेहाल है. ग्रामीणों ने बताया गांव के बिजली नहीं होने के कारण कृषि के अलावा अन्य दिनचर्या का काम भी नहीं हो पा रहा है.

हुसैनपुर गांव के नियमित रूप से बिजली बिल जमा करने बाले भी अंधेरे में रहने को मजबूर हैं.
हुसैनपुर गांव के नियमित रूप से बिजली बिल जमा करने बाले भी अंधेरे में रहने को मजबूर हैं.

बिजली कटने से पानी का सप्लाई बाधित

वहीं बिजली नहीं होने के कारण नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट सात निश्चय के द्वारा पानी का सप्लाई भी बंद है. गांव के कुछ चापाकल में पानी आता है तो है, लेकिन कुछ चापाकल से पानी निकालने में गांववालों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है.

90% लोगों ने बिजली बिल का भुगतान नहीं किया



इस संबंध में बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि इस गांव के 90% लोग बिजली का भुगतान नहीं कर रहे हैं. यही कारण है कि पूरे गांव की बिजली काट दी गई है. लेकिन, जैसे ही इस बात की खबर मीडिया में आई बिजली विभाग हरकत में आ गई और बिजली जुड़वाने की बात कही.

बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि इस गांव के 90% लोग बिजली का भुगतान नहीं कर रहे हैं.
बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि इस गांव के 90% लोग बिजली का भुगतान नहीं कर रहे हैं.


ये भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान Online Class के लिए दिए थे पापा के डॉक्युमेंट्स, अब हर महीने 2000 रुपये की EMI कटने लगी

दूसरी तरफ ग्रामीणों का कहना है कि जो लोग बिजली का भुगतान नहीं कर चोरी से बिजली जला रहे हैं, उनके घरों की बिजली काटना उचित है. लेकिन, जो लोग बिजली का भुगतान नियमित रूप से कर रहे हैं उनका बिजली काट देना कहीं से भी उचित नहीं है. मीडिया में खबर आने के बाद शनिवार शाम को बिजली विभाग ने दोबारा से बिजली सप्लाई बहाल कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज