सीएम नीतीश कुमार की हडताली शिक्षकों को खरी-खरी, RJD को भी आड़े हाथों लिया
Patna News in Hindi

सीएम नीतीश कुमार की हडताली शिक्षकों को खरी-खरी, RJD को भी आड़े हाथों लिया
बिहार के लंबित राशन कार्ड धारकों को मिलेंगे एक-एक हजार रुपए (फाइल फोटो)

बुधवार को नियोजित शिक्षकों की हडताल (Strike) पर सीएम नीतीश कुमार बरस पडे. उन्होंने कहा कि वो इन शिक्षकों को कहां से कहां लेकर आए हैं, लेकिन ऐन मौके पर शिक्षक इस तरह से हडताल पर जाएं, ये शोभा नही देता.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: February 26, 2020, 11:50 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
पटना. बिहार में नियोजित शिक्षकों को लेकर सरकार ने कडा रुख अख्तियार कर लिया है. इसको लेकर सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने स्पष्ट कर दिया है कि 'समान काम के लिए समान वेतन' नहीं दिया जा सकता है. विधान परिषद में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान सीएम ने कह दिया है कि ये हडताल गैर कानूनी है और उन हडताली शिक्षकों के साथ कुछ होता है तो उसकी जिम्मेदारी उनकी नहीं होगी. हालांकि सत्तारुढ दल के नेता ये कहते नजर आए कि सीएम उन शिक्षकों के साथ सहानुभुति रखते हैं. वहीं विपक्ष इसे धमकी रुप में देख रहा है.

'जिन्हें भविष्य संवारने रखा, वो भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे'
'शिक्षकों की हड़ताल गैरकानूनी है. जिनको बच्चों के भविष्य संवारने के लिए रखा गया है, वो बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते हैं.' ये कहना है बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का. बुधवार को नियोजित शिक्षकों की हडताल पर सीएम नीतीश कुमार बरस पडे. उन्होंने कहा कि वे इन शिक्षकों को कहां से कहां लेकर आए हैं. उनके साथ सहानुभुति है. लेकिन ऐन मौके पर इस तरह से शिक्षक हडताल पर जाएं, ये शोभा नहीं देता. बिहार में मैट्रीक की परीक्षा है, इसके बाद कॉपियों की जांच होनी है. सीएम बार बार ये बोलते नजर आए कि शिक्षकों से सहानुभुति है, और आगे वो उनके हित के लिए काम करते रहेंगे. ये बात सीएम नीतीश कुमार विधान परिषद में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान कही.

विपक्ष ने धमकी बताया 



नीतीश कुमार के इस बयान को कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा शिक्षकों के लिए धमकी मान रहे है. उनक कहना है कि ये नीतीश कुमार शिक्षकों के साथ अन्याय कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीएम कहते हैं कि उनको शिक्षकों के साथ सहानुभुति है और दूसरी ओर उन्हें बर्खास्त भी किया जा रहा है, ये सरकार का दहरा चरित्र है.



RJD पर किया हमला
बिहार में नियोजित शिक्षकों की संख्या करीब साढे़ 3 लाख है. सीएम विधान परिषद में पुरी तैयारी के साथ पहुंचे थे. उन्होंने आरजेडी का 2008 वाला बयान भी दिखाया, जिसमें इन्हीं शिक्षकों को अयोग्य कहा गया था जिन्हें बिहार सरकार ने नियोजित किया है. सीएम ने आरजेडी पर आरोप लगाया कि आज आप जिसे भड़का रहे हैं वो अयोग्य शिक्षक हैं. हालांकि सीएम जब अपनी बात विधान परिषद में रख रहे थे तो आरजेडी ने वॉक आउट कर दिया था.

ये भी पढ़ें -
ग्राम पंचायत की मुखिया ने बढ़ाई नीतीश सरकार की मुश्किलें, इस मामले को लेकर कोर्ट में घसीटा
तेजस्वी-नीतीश मुलाकात: नीतीश की इस नई चाल का बिहार की राजनीतिक पर क्या असर पड़ेगा
First published: February 26, 2020, 11:49 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading