VIDEO : नीतीश ने किया खुलासा, सुबह सबसे पहले गाय की देखभाल करता हूं

उपेन्द्र कुशवाहा ने हाल ही में यदुवंशी के दूध और कुशवंशी के चावल से स्वादिष्ट खीर बनाने वाली बात कही थी.

Rupesh Kumar | News18 Bihar
Updated: August 30, 2018, 6:19 AM IST
Rupesh Kumar | News18 Bihar
Updated: August 30, 2018, 6:19 AM IST
बिहार की राजनीति में कभी लालू यादव और उनकी गायों को लेकर खूब चर्चाएं होती थी. गायों और गोशाला की कहानी लालू चटकारे लेकर सुनाते थे. बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी खुद को बड़ा गोपालक बताते हुए गाय से जुड़ी हुई कहानियां सुनाईं.

सीएम नीतीश ने कहा कि वो खुद एक बड़े गोपालक हैं. सुबह उठकर वो सबसे पहले गोशाला में ही जाते हैं. पटना में पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के प्रथम स्थापना दिवस समारोह में बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि दूध उत्पादन इतना आसान नहीं है. बहुत मेहनत करनी पड़ती है. उन्होंने खुद देशी नस्ल की गाय पाल रखी है और गर्भाधान के लिए वो देशी नस्ल के सांड (Bull) ढूंढ रहे हैं. उन्हें पता चला है कि कृषि विश्वविद्यालय में देशी नस्ल का सांड है.

ये भी पढ़ें-VIDEO : यदुवंशी के दूध और कुशवंशी के चावल से 'स्वादिष्ट खीर' बनाएंगे उपेंद्र कुशवाहा

VIDEO : सरेंडर से पहले बोले लालू- देश तानाशाही की ओर, 2019 से पहले बड़ी साजिश

नीतीश कुमार के इस बयान को 'सियासी खीर' से भी जोड़कर देखा जा रहा है. हाल ही में उपेन्द्र कुशवाहा ने यदुवंशियों के दूध और कुशवंशियों के चावल मिलाकर खीर बनाने वाली बात कही थी. कुशवाहा के इस बयान के बाद बिहार में सियासी खीर की राजनीति शुरू हो गई.

ये भी पढ़ें- Exclusive: जब आधार कार्ड ने इन छह मासूम बच्चों को 'अनाथ' बनने से बचाया

कुशवाहा के बयान पर भाजपा ने कहा है कि खीर कोई भी बनाये लेकिन खाएगी भारतीय जनता पार्टी ही. उधर, कांग्रेस ने कहा कि चावल और दूध चाहे किसी का भी हो, खीर कांग्रेसी वर्तन में ही बनेगी.
Loading...
ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने मांग से ज्यादा की आपूर्ति फिर भी बिहार के किसानों से दूर है यूरिया
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर