Home /News /bihar /

Big News: यूनिवर्सिटी टेंडर घोटाला मामले में सीएम नीतीश ने आरोपी VC के खिलाफ की जांच की सिफारिश, राज्यपाल को लिखा पत्र

Big News: यूनिवर्सिटी टेंडर घोटाला मामले में सीएम नीतीश ने आरोपी VC के खिलाफ की जांच की सिफारिश, राज्यपाल को लिखा पत्र

सीएम नीतीश कुमार ने आरोपी वीसी एसपी सिंह के खिलाफ जांच के लिए राज्यपाल को सिफारिश पत्र लिखा है.

सीएम नीतीश कुमार ने आरोपी वीसी एसपी सिंह के खिलाफ जांच के लिए राज्यपाल को सिफारिश पत्र लिखा है.

University Tender Scam: मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय के पूर्व वीसी और वर्तमान में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति एसपी सिंह के खिलाफ टेंडर घोटाला मामले में जांच की सिफारिश खुद सीएम नीतीश कुमार ने की है. इस मामले को लेकर शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने बताया कि सीएम नीतीश ने राज्यपाल फागू चौहान को सिफारिश पत्र भेजा है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार में विश्वविद्यालयों के अंदर लूट का खेल लगातार जारी है. ऐसे में अब बिहार के सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) खुद इन मामलों की जांच की सिफारिश कर रहे हैं. मिल जानकारी के अनुसार पटना के मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय (Maulana Mazharul Haque Arabic & Persian University) के पूर्व वीसी और वर्तमान में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति एसपी सिंह के खिलाफ टेंडर घोटाला मामले में जांच की सिफारिश खुद सीएम नीतीश कुमार ने की है. इस मामले को लेकर शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने बताया कि सीएम नीतीश ने राज्यपाल फागू चौहान को सिफारिश पत्र भेजा है. शिक्षा मंत्री ने कहा कि सीएम नीतीश भ्रष्टाचार मामले में कोई समझौता नहीं करते हैं. आरोपी वीसी एसपी सिंह के खिलाफ जांच होगी. सीएम ने शिक्षा विभाग को भी सजग रहने का निर्देश दिया है.

बता दें,  मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय के वीसी प्रो कुद्दुस के पत्र पर संज्ञान लेते हुए सीएम नीतीश ने एसपी सिंह (SP Singh) के खिलाफ जांच की सिफारिश की है. प्रो कुद्दुस ने अपने आरोप पत्र में एसपी सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए बताया है कि पूर्व वीसी एसपी सिंह ने डबल रेट पर लखनऊ की एजेंसी को आंसर शीट छापने के टेंडर थे, वहीं पटना की एक एजेंसी के जरिए आउटसोर्स कर्मचारियों की नियुक्ति में भी अनियमितता पायी गई. इसके अलावा भी उन्होंने कई मद में आर्थिक अनियमितता बरती है. शिक्षा मंत्री ने इन आरोपों को लेकर कहा कि आरोप सही है या गलत ये लोगों के बीच आनी चाहिए.

LNMU में भी भ्रष्टाचार का आरोप 

बता दें, एसपी सिंह पर ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में भी भ्रष्टाचार करने का  मामला सामने आया है. टेंडर में भ्रष्टाचार के खेल का खुलासा कोई और नहीं बल्कि सत्ता पक्ष के भाजपा नगर विधायक संजय सरावगी के लिखे एक पत्र से हुआ है. बीजेपी विधायक द्वारा बिहार सरकार के शिक्षा विभाग के अपर सचिव को जून महीने में एक पत्र लिखा गया था जो यूनिवर्सिटी में करप्शन के खेल को उजागर करता है. पूरा मामला ललित नारायण मिथिला विवि के कुलपति द्वारा चहारदीवारी, केंद्रीय लाइब्रेरी भवन, गांधी सदन के सामने तालाब के सौंदर्यीकरण कार्य से जुड़ा है. आरोप है कि इसके लिए 2 करोड़ 56 लाख रुपये के लिये टेंडर निकले जाने में करप्शन का खेल हुआ है. बताया जा रहा है कि निविदा निकलने के पहले से ही संवेदक के द्वारा काम भी शुरू करवा दिया गया था.

2 करोड़ 56 लाख की अनियमितता का है मामला 

भाजपा नगर विधायक संजय सरावगी में अपने लिखित पत्र में ये कहा है कि 2 करोड़ 56 लाख के निविदा में घोर अनियमितता हुई है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार का ये नियम है कि 15 लाख से अधिक के कार्य का टेंडर कम समय में नही निकाला जाय, बल्कि इसके लिये ई-टेंडर किये जाने का प्रावधान है. लेकिन, विवि प्रशासन ने सरकार के इस  नियम को तोड़ते हुये अपने करीबी संवेदक (ठेकेदार) को लाभ पहुंचाने को लेकर टेंडर प्रकाशित नहीं किया.

Tags: Bihar News, CM Nitish Kumar, PATNA NEWS, Scam, University

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर