होम /न्यूज /बिहार /प्रशांत किशोर के खिलाफ पटना में धोखाधड़ी का केस दर्ज, उन पर लगा ये आरोप...

प्रशांत किशोर के खिलाफ पटना में धोखाधड़ी का केस दर्ज, उन पर लगा ये आरोप...

कोलकाता कार्गो फ्लाइट में जाने को लेकर अब प्रशांत किशोर पर जेडीयू लगातार हमला बोल रही है. (फाइल फोटो)

कोलकाता कार्गो फ्लाइट में जाने को लेकर अब प्रशांत किशोर पर जेडीयू लगातार हमला बोल रही है. (फाइल फोटो)

मोतिहारी (Motihari) के रहने वाले शाश्वत गौतम ने पटना (Patna) के पाटलिपुत्रा थाने में प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के ...अधिक पढ़ें

पटना. राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के खिलाफ कथित साहित्यिक चोरी के मामले में एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, प्रशांत किशोर पर पटना (Patna) में आईपीसी की धारा 420 और 406 (आईपीसी के आपराधिक उल्लंघन के लिए सजा) के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है. बता दें कि पटना के पाटलिपुत्र थाने में प्रशांत किशोर के खिलाफ ये शिकायत दर्ज कराई गई थी. मोतिहारी के रहने वाले शाश्वत गौतम ने यह शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायतकर्ता ने पीके पर 'बात बिहार की' कंटेंट के नकल का आरोप लगाया है.




क्या है पूरा मामला
दरअसल, आरोपों के मुताबिक शाश्वत गौतम नाम के युवक ने 'बिहार की बात' नाम का एक प्रोजेक्ट बनाया था. इस प्रोजेक्ट को आने वाले दिनों में लॉन्च करने की बात हो रही थी. इस बीच ओसामा नाम के शख्स ने शाश्वत के यहां से इस्तीफा दे दिया और 'बिहार की बात' का सारा कंटेंट उसने प्रशांत किशोर (PK) को दे दिया. ऐसी जानकारी मिल रही है कि शिकायतकर्ता शाश्वत गौतम पूर्व में कांग्रेस के लिए चुनाव के दौरान काम कर चुके है.

पॉलीटिकल वर्कर बनकर काम करने का दावा
बता दें कि नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू का हिस्सा रहे प्रशांत किशोर की राहें अब अलग हो चुकी हैं. पिछले महीने सीएम नीतीश ने उन्हें जेडीयू ने बर्खास्त कर दिया था. पीके अब बिहार में राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर पर काम करने की बात कह रहे हैं. चुनावी रणनीतिकार के तौर पर अलग-अलग राजनीतिक दलों के साथ काम कर चुके प्रशांत किशोर प्रदेश के युवाओं को जोड़ने के लिए 'बात बिहार की' नाम से एक कैंपेन की शुरुआत की है. प्रशांत किशोर ने इस कैंपेन के तहत 10 लाख युवाओं को जोड़ने की बात कही है.

रजिस्ट्रेशन हो चुका है शुरू
प्रशांत किशोर के 'बात बिहार की' (Baat Bihar ki) कार्यक्रम की शुरुआत उन लोगों के रजिस्ट्रेशन के साथ हो चुकी है जो समान विचारधारा वाले लोगों के समूह का हिस्सा बनना चाहते हैं. आने वाले दिनों में राजधानी पटना में 'बात बिहार की' के कई अहम कार्यक्रम प्रस्तावित हैं.

ये भी पढ़ें: 

NSA अजीत डोभाल पर है दिल्ली में सांप्रदायिक दंगों को थामने की जिम्मेदारी

Delhi Violence: साथी लापता, जिंदगी भर की पूंजी चंद सेकंड में हो गई खाक

Tags: Bihar News, Bihar police, PATNA NEWS, Politics, Prashant Kishor

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें