बिहार: कोरोना पीड़ित पति को लेकर गई तो अस्पताल में हुई छेड़खानी, खींच लिया दुपट्टा- महिला ने बयां किया दर्द

बिहार के अस्पताल में महिला से छेड़खानी.

बिहार के अस्पताल में महिला से छेड़खानी.

Patna News: कोरोना मरीज के महिला अटेंडेट द्वारा लगाए गए इल्जामों पर राजेश्वर अस्पताल की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. पीड़िता मधुबनी की रहने वाली है.

  • Share this:

पटना. बिहार सहित पूरे देश में कोरोना कहर बरपा रहा है, लेकिन कोरोना के कहर के बीच बिहार में स्वास्थ्य सेवाओं (Bihar Health System) के नाम पर अस्पतालों की मनमानी जारी है. बात चाहे सरकारी की हो या प्राइवेट, सभी की स्थिति बुरी है. ऐसा ही एक मामला सामने आया है बिहार के भागलपुर और पटना से, जहां मधुबनी की रहनी वाली एक महिला के साथ उसके पति के इलाज के क्रम में अभद्रता और छेड़खानी की घटना हुई है. अस्पताल की कुव्यवस्था के कारण इनकी पति की जान चली गई वहीं इस महिला का आरोप है कि अस्पताल में उनके साथ छेड़छाड़ भी हुई है.

पीड़ित महिला का नाम रुचि रौशन है जिनके पति की कोरोना से मौत हो गई. मधुबनी की रहने वाले रौशन चंद्र दास अपनी पत्नी के साथ होली मनाने अपने रिश्तेदार के पास भागलपुर गए हुए थे. उसी दौरान उनके पति कोरोना के शिकार हो गए और उनको इलाज के लिए भागलपुर के ग्लोकल हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया, जहां रोज़ वो सिस्टम से संघर्ष करते रहे. यहां तक कि रुचि रौशन के अनुसार हॉस्पिटल कर्मियों के द्वारा कई बार उनके साथ छेड़छाड़ भी हुई.

जब रौशन चंद्र के हालात और बिगड़ने लगे तो उनकी पत्नी उनको लेकर पटना स्थित राजेश्वर अस्पताल आईं, लेकिन इलाज के दौरान उनकी जान चली गई. उनकी पत्नी का आरोप है कि राजेश्वर अस्पताल में भी उनके पति के साथ बहुत बुरा बर्ताव किया गया. डॉक्टर से लेकर वहां के कम्पाउण्डर तक की लापरवाही से उनकी जान चली गई. उन्होंने वहां के कर्मचारियों पर भी छेड़खानी और बदतमीजी के साथ ही मरीजों की जान से खेलने के गंभीर आरोप लगाए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज