Home /News /bihar /

'बैड एलिमेंट' अनंत सिंह पर लालू प्रसाद के बेटों में पड़ी दरार!

'बैड एलिमेंट' अनंत सिंह पर लालू प्रसाद के बेटों में पड़ी दरार!

तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

तेजप्रताप यादव ने अनंत सिंह के लिए महागठबंधन में आने का समर्थन किया था, लेकिन तेजस्वी यादव ने उन्हें 'बैड एलिमेंट' बताते हुए प्रस्ताव को खारिज बता दिया.

    क्या बिहार आरजेडी में सब कुछ ठीक चल रहा है? ये सवाल इसलिए कि बीते दिनों कई मौकों पर तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव की राहें जुदा हैं. एक ओर तेजप्रताप आरजेडी ऑफिस में जनता दरबार लगा रहे हैं तो तेजस्वी यादव आरजेडी ऑफिस जाने से भी बच रहे हैं. इस बीच अनंत सिंह को महागठबंधन में शामिल किए जाने की बात पर भी लालू प्रसाद के दोनों बेटों के दो विचार निकल कर सामने आए हैं.

    गौरतलब है कि बिहार में मोकामा के निर्दलीय बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने कुछ दिन पहले बयान दिया था कि लालू यादव सबसे बड़े जनाधार वाले नेता हैं. उन्होंने लालू यादव को सबसे पसंदीदा नेता बताते हुए कहा था कि बिहार में नीतीश कुमार का जादू खत्म हो रहा है. इसके बाद तेजप्रताप यादव ने अनंत सिंह के बयान का समर्थन करते हुए अपने पिता की तारीफ की और अनंत सिंह के लिए महागठबंधन में आने का समर्थन किया था. आपको बता दें कि अनंत सिंह ने बिहार में होने वाले महागठबंधन में मुंगेर सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा व्यक्त की थी.

    ये भी पढ़े- बिहार में बढ़ते अपराध पर तेजस्वी का तंज, कुर्सी-कुर्सी खेलने में मस्त हैं मुख्यमंत्री

    इसके अगले दिन शुक्रवार को ही नेता प्रतिपक्ष लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने साफ-साफ कह दिया कि अनंत सिंह जैसे 'बैड एलिमेंट' के लिए महागठबंधन में कोई जगह नहीं है. उन्होंने कहा कि अनंत सिंह महागठबंधन की विचारधारा के नहीं है और ऐसे लगे भले ही हमारी तारीफ करें तो भी उनके लिए पार्टी और महागठबंधन के दरवाजे हमेशा बंद रहेंगे.

    जाहिर है इस मामले में दोनों भाइयों की अलग राय तो है ही, पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं होने के संकेत भी मिल गए. खास बात यह है कि तेजप्रताप की सक्रियता से तेजस्वी यादव की परेशानी बढ़ती दिख रही है. क्योंकि उन्हें पार्टी के कुछ बड़े नेताओं का भी साथ मिल रहा है.

    ये भी पढ़ें- सूरजनंदन के निधन पर मुख्यमंत्री समेत कई नेताओं ने जताया शोक, बिहार कैबिनेट की बैठक स्थगित

    पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक लेने के मामले पर परिवार में अलग-थलग पड़ चुके तेजप्रताप यादव ने पार्टी पर पकड़ बनाने की कोशिश शुरू कर दी है. कुछ दिन पहले उन्होंने कहा भई था कि अगर जनता चाहेगी तो वह पार्टी की कमान संभाल सकते हैं. इसके बाद वह लालू यादव के अंदाज में लगातार जनता दरबार लगा रहे हैं. बहरहाल अब सवाल ये है कि अनंत सिंह के मसले पर दोनों भाइयों के अलग-अलग रुख का आने वाली राजनीति पर क्या असर पड़ता है.

    इनपुट- अमित कुमार सिंह

    ये भी पढ़ें- हार्ट अटैक से बीजेपी MLC सूरज नंदन कुशवाहा का निधन

    Tags: Bihar News, PATNA NEWS, Tejaswi yadav, Tejpratap yadav

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर