लाइव टीवी

CAA मुद्दे पर RJD का आज बिहार बंद, क्या 'जमीन' पर दिखेगी महागठबंधन की एकता?
Gaya News in Hindi

News18 Bihar
Updated: December 21, 2019, 8:47 AM IST
CAA मुद्दे पर RJD का आज बिहार बंद, क्या 'जमीन' पर दिखेगी महागठबंधन की एकता?
बिहार में महागठबंधन की एकता तार-तार होती दिख रही है.

बंद के समर्थन और विरोध की सियासत के बीच बड़ा सवाल ये है कि क्या आरजेडी (RJD) को महागठबंधन के अन्य दलों का कितना सपोर्ट मिलता है? दरअसल ये सवाल इसलिए है कि एक ही मुद्दे को लेकर दो दिन के भीतर बिहार की जनता को दो बार बंद (Bihar Band) का सामना करना पड़ रहा है

  • Share this:
पटना. नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने आज यानी शनिवार को बिहार बंद (Bihar Band) बुलाया है. इस बंद को लेकर बिहार के जनमानस में पहले से काफी आशंकाएं हैं. यही वजह है कि अधिकतर प्राइवेट स्कूलों ने स्वत: छुट्टी घोषित कर दी है. वहीं, सरकारी विद्यालयों में भी एहतियात बरतने की सलाह दी गई है. विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejasvi Yadav) ने इसे लेकर नीतीश सरकार को चेतावनी दी है कि अगर बिहार बंद के दौरान आरजेडी के किसी भी कार्यकर्ता पर कहीं भी पुलिस ने लाठी भांजी तो इसका अंजाम बुरा होगा.






वहीं एडीजी जितेंद्र कुमार ने तेजस्वी यादव से दो टूक साफ-साफ कहा है कि अगर बंद के दौरान कहीं भी उपद्रव फैलाने या सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. राज्य के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए सवाल किया है कि उन्हें यदि नागरिकता कानून का विरोध करना ही था, तो वामदलों द्वारा 19 दिसंबर को बुलाए गए बंद से वो क्यों अलग रहे?

बंद के समर्थन और विरोध की सियासत के बीच बड़ा सवाल ये है कि क्या आरजेडी को महागठबंधन के अन्य दलों का कितना सपोर्ट मिलता है? दरअसल ये सवाल इसलिए है कि एक ही मुद्दे को लेकर दो दिन के भीतर बिहार की जनता को दो बार बंद का सामना करना पड़ रहा है.

महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि वो एक ही दिन का बंद चाहते थे लेकिन वामदलों और आरजेडी के बीच सहमति नहीं होने के कारण यह दो दिनों में बंट गया. कुशवाहा ने कहा कि बंद एक ही दिन बुलाने को लेकर तेजस्वी से अपील की गई थी, लेकिन वो नहीं माने.

'लड़ाई' का कारण- महागठबंधन का नेता कौन?
वरिष्ठ पत्रकार अशोक कुमार शर्मा का कहना है कि दरअसल यह एक मौका तेजस्वी यादव के लिए अहम साबित होने वाला है. इसके पीछे वजह ये है कि महागबंधन में तेजस्वी यादव को कोई नेता मानने को तैयार नहीं है और वो खुद को नेता मनवाने पर अड़े हुए हैं. 19 दिसंबर का बिहार बंद असरदार नहीं होने के बाद अब आरजेडी के बंद की सफलता भी तेजस्वी का कद तय करेगा.

खुद को उभारने में लगी कांग्रेस, मांझी-सहनी-कुशवाहा हैं खफा!
बकौल अशोक कुमार शर्मा बीते 24 नवंबर को बेरोजगारी और महंगाई जैसे कई मुद्दों को लेकर कांग्रेस ने 'जनवेदना मार्च' निकाला था. तब इस मार्च से आरजेडी और अन्य सहयोगियों की दूरी सवालों के घेरे में रही थी. हालांकि कांग्रेस के लिए यह अपने आपको फिर खड़ा करने की कवायद के लिए बढ़िया अवसर लेकर आया. इसके बाद 19 दिसंबर के वामदलों के बंद को कांग्रेस के साथ मांझी, कुशवाहा और सहनी की पार्टी का खुला समर्थन, और 21 दिसंबर को आरजेडी के बंद को सिर्फ नैतिक समर्थन देने की बाद ये साबित करती है कि तेजस्वी के लिए अभी भी आगे की राह आसान नहीं है.

तेजस्वी यादव के लिए शक्ति प्रदर्शन का मौका!
वहीं, वरिष्ठ पत्रकार प्रेम कुमार कहते हैं कि बिना आरजेडी के महागठबंधन का कोई वजूद फिलहाल तो नहीं दिखता है. 19 दिसंबर के बंद से अलग रहकर आरजेडी ने ये दिखा दिया कि बिहार में महागठबंधन की सफलता के लिए आरजेडी के बिना सोचा भी नहीं जा सकता. हालांकि ये तथ्य भी बिल्कुल सत्य है कि दो दिन के भीतर दो-दो बंद बिहार की जनता को झेलना पड़ रहा है तो इसका एक मैसेज ये साफ है कि अब भी विपक्ष बिखरा-बिखरा ही है.

बकौल प्रेम कुमार गुरुवार को बिहार बंद से दूरी बनाकर तेजस्वी ने इसके संकेत दिए थे कि महागठबंधन में शामिल अन्य दल उन्हें नेता मान लें, अन्यथा वो अकेले ही बिहार की सियासी लड़ाई के लिए सक्षम हैं. हालांकि ऐसा सोचना फिलहाल मजबूत एनडीए के सामने बेहद ही बचकाना होगा. ऐसे में सवाल ये उभरता है कि क्या आरजेडी के इस अलगाव का असर महागठबंधन की राजनीति पर असर डालेगा. इसका जवाब आज के बंद की सफलता या असफलता खुद ही दे देगी.

ये भी पढ़ें

तेजस्वी यादव की चेतावनी पर बिहार पुलिस की दो टूक- उपद्रव किया तो नहीं बख्शेंगे

पटना में आयोजित विरोध मार्च में भाग लेने से पहले ही नजरबंद किए गए पप्पू यादव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 21, 2019, 7:27 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर