लाइव टीवी

कांग्रेस के भोज में जुटे गठबंधन के सभी दिग्गज, दही-चूड़ा भी नहीं मिटा पाया खटास

RaviS Narayan | News18 Bihar
Updated: January 15, 2020, 6:58 PM IST
कांग्रेस के भोज में जुटे गठबंधन के सभी दिग्गज, दही-चूड़ा भी नहीं मिटा पाया खटास
कांग्रेस ने आयोजित किया दही-चूड़ा भोज.

मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर पटना में कांग्रेस ने दही-चूड़ा भोज को आयोजन किया, जिसमें गठबंधन के सभी दिग्‍गज जुटे. हालांकि गठबंधन के नेता के सवाल पर आपसी दूरियां साफ तौर पर झलकती रहीं.

  • Share this:
पटना. बिहार में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर दही-चूड़ा के भोज करने की रवायत पुरानी है. अगर यह भोज राजनीतिक पार्टी के द्वारा दिया गया हो तो राजनीति होना तय है. मकर संक्रांति के मौके पर कांग्रेस पार्टी (Congress Party) द्वारा दिये गए दही-चूड़ा भोज में भी यही नजारा दिखा. गठबंधन में आपसी एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए सभी दलों के नेता जुटे, लेकिन गठबंधन के नेता के सवाल पर आपसी दूरियां साफ झलकती रहीं. कोशिश थी कि इस भोज की मिठास में गठबंधन की खटास खत्म होगी, लेकिन यह आपसी खटास दूर करने में नाकाफी साबित हुआ.

तेजस्वी ने भोज में बताई दिल की बात
मकर संक्रांति के मौके पर कांग्रेस द्वारा बुलाये गए दही-चूड़ा भोज में गठबंधन के तमाम नेताओं के साथ तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) भी पहुंचे. उन्‍होंने भोज के बाद तमाम गठबंधन के नेताओं की मौजूदगी में दिल की बात कही. तेजस्वी से जब गठबंधन के नेता के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्‍होंने स्पष्ट कहा कि आरजेडी ने अपनी बात कह दी है और गठबंधन के नेता अब बैठकर बाते कर लेंगे. हालांकि आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पहले ही घोषणा कर चुके है कि गठबंधन का नेता और मुख्यमंत्री का उम्‍मीदवार तेजस्वी यादव ही होंगे, जिसे आना है वो साथ आये.

मांझी, कुशवाहा और मुकेश साहनी ने नहीं खोले पत्ते

तेजस्वी यादव भले ही खुद को गठबंधन का नेता मानते हों, लेकिन गठबंधन के नेताओं ने फिलहाल इंतजार करने की बात कहकर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है. रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि यहां सभी नेता मौजूद हैं, अगर सभी मान जाते हैं तो कोई दिक्कत नहीं. दूसरी तरफ जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने तजस्वी को गठबंधन के नेता के तौर पर मानने की बात पर कहा कि जब तक कोऑर्डिनेशन कमिटी की बैठक नहीं हो जाती, तब तक कुछ भी कहना ठीक नहीं है. जबकि वीआईपी पार्टी के नेता मुकेश साहनी ने भी इंतजार करने को कहा है. यही नहीं, कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने सवाल को टालते हुए कहा कि बिहार का चुनाव विधारधारा का चुनाव है, इसमें व्यक्तिगत हित नहीं, समय पर सभी बातें ठीक हो जाएंगी.

 

ये भी पढ़ें-बाइक से 10,000KM यात्रा कर भागलपुर पहुंची स्‍पेन की महिला, इस बात को लेकर जाहिर की चिंता

 

खुशखबरी! बिहार में अब 8वीं पास को ITI में मिल जाएगा एडमिशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 6:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर