बिहार में 'फ्रंट फुट' पर खेलने की बात कर रही कांग्रेस अब 'बैक फुट' पर खेलने को तैयार !

लगभग तीन दशक के बाद 3 फरवरी को हुई राहुल गांधी के नेतृत्व में हुई कांग्रेस की रैली को लेकर कांग्रेस जितनी आशान्वित थी उतना रिस्पॉन्स नहीं मिला. इतना ही नहीं आररजेडी ने भी बीते 6 फरवरी को दो टूक कह दिया था कि पार्टी 20 से 22 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी.

News18 Bihar
Updated: February 12, 2019, 2:08 PM IST
बिहार में 'फ्रंट फुट' पर खेलने की बात कर रही कांग्रेस अब 'बैक फुट' पर खेलने को तैयार !
राहुल गांधी-तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: February 12, 2019, 2:08 PM IST
बिहार में महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर अभी पेच फंसा हुआ है. अंतिम रूप से अभी किसी भी दल ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं, लेकन प्रदेश में 'फंट फुट' पर खेलने वाली कांग्रेस अब बैक फुट पर जाती नजर आ रही है. दरअसल सीट शेयरिंग पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा है कि कांग्रेस न तो 'फ्रंट फुट'  पर और न ही  'बैक फुट' पर खेलेगी,  कांग्रेस बिहार में साथ मिलकर खेलेगी. जाहिर है प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के सियासी गलियारों में कई मायने निकाले जा रहे  हैं और माना जा रहा है कि 'फ्रंट फुट' पर खेलने की बात करने वाली कांग्रेस अब गठबंधन के बाकी दलों के आगे झुक गई है.

दरअसल 3 फरवरी को हुई कांग्रेस की रैली को लेकर कांग्रेस जितनी आशान्वित थी उतना रिस्पॉन्स नहीं मिला. इतना ही नहीं आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे  ने भी बीते 6 फरवरी को दो टूक कह दिया था कि पार्टी 20 से 22 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी.

ये भी पढ़ें-   'हम 24 घंटे के भीतर आरोपी को लड़कियों के कदमों में डाल देंगे'



जाहिर है आरजेडी की इस दावेदारी के बाद कांग्रेस की 'फ्रंट फुट' पर खेलने की राणनीति को झटका लगा था. दरअसल आरजेडी के इस दावे के बाद कांग्रेस का 15 सीटों पर लड़ने का दावा पूरा होता नहीं दिख रहा क्योंकि कांग्रेस कमोबेश आरजेडी के आधार वोट बैंक के सहारे ही मैदान में खड़ी है.

बहरहाल माना जा रहा है कि अगर आरजेडी कम से कम 20 सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी तो भी कांग्रेस के हिस्से में महज 10 सीटें ही आ सकती हैं. इस फॉर्मूले के तहत उपेन्द्र कुशवाहा को 4, जीतन राम मांझी की पार्टी को 2, भाकपा माले को 2, विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के मुकेश सहनी और शरद यादव को 1-1 सीटें दी जा सकती हैं.

अगर गठबंधन में फिर भी बात नहीं बनी तो कयास लगाए जा  रहे हैं कि कांग्रेस को महज 8 सीटें ही दी जा सकती हैं. गौरतलब है कि इससे पहले तेजस्वी यादव ने भी 20 सीटों पर लड़ने का इशारा किया था.

 
Loading...

इनपुट- रवि एस नारायण

ये भी पढ़ें-  खुशखबरी: डेढ़ महीने के लंबे अंतराल के बाद आज खुेलगा पटना जू पर लटका ताला
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर