बिहार उपचुनाव: कांग्रेस ने तीन सीटों पर दावेदारी ठोकी, RJD ने दी औकात में रहने की नसीहत

बिहार उपचुनाव में सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस-आरजेडी में तकरार.
बिहार उपचुनाव में सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस-आरजेडी में तकरार.

बिहार (Bihar) में होने वाले उपचुनाव से पहले कांग्रेस (Congress) और आरजेडी (RJD) में तकरार खुलकर सामने आ गई है. कांग्रेस ने विधानसभा की पांच में से तीन सीटों पर ताल ठोक दी है तो आरजेडी ने उसे औकात में रहने की नसीहत दी है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 10, 2019, 11:39 PM IST
  • Share this:
पटना. बेशक बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar assembly elections 2020) में होंगे, लेकिन पांच सीटों पर होने वाले उपचुनाव (Bypoll) को लेकर सभी पार्टियां ने अपनी-अपनी तैयारियां शुरू कर दी है. लेकिन अहम सवाल ये है कि क्‍या कांग्रेस ने ठान लिया है कि बिहार में अब वो आरजेडी की पिछलग्गू बनकर नहीं रहने वाली? ये सवाल इस कारण बेहद महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि कांग्रेस ने आगामी उपचुनाव से पहले ही अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. जी हां, बिहार में 5 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने अभी से ही 3 सीटों पर ताल ठोक दी है. उधर आरजेडी भी 5 में से 4 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है. ऐसे में चुनाव से पहले सीटों को लेकर फिर एक बार दोनों पार्टियां आमने-सामने आ गई हैं.

आरजेडी कांग्रेस आमने-सामने
महागठबंधन की गाठें एक बार फिर से उभरने लगी हैं. यही वजह है कि कांग्रेस और आरजेडी में एक बार फिर से सीटों पर महाभारत छिड़ गया है.अगले कुछ दिनों में बिहार में 5 विधानसभा और 1 लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होने हैं. 2020 से पहले इस उपचुनाव को सेमीफाइनल के तौर पर भी देखा जा रहा है. ऐसे में कांग्रेस अभी से ही पूरे तेवर में है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने खुलकर कहा है कि कांग्रेस को अपना जनाधार बढ़ाना है ऐसे में तीन सीटों पर हमारी दावेदारी पक्की है बाकी पार्टी के बड़े नेता यानी आलाकमान आपस में बैठकर इस पर निर्णय लेंगे. कांग्रेस ने शायद ये मन बना लिया है कि लोकसभा की तरह इस बार वो आरजेडी के रहमों पर कोई समझौता नहीं करेगी. कांग्रेस ने 5 विधानसभा सीटों में से नाथनगर, सिमरी बख्तियारपुर और किशनगंज पर अभी से ही अपनी दावेदारी ठोक दी है. इसके साथ में समस्तीपुर में होने वाले लोकसभा उपचुनाव के लिए भी कांग्रेस ने ताल ठोक दी है.
आरजेडी की खरी-खरी


कांग्रेस तीन सीटों पर अपनी दावेदारी ठोक रही है तो आरजेडी ने भी डंके की चोट पर ना सिर्फ चार सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है बल्कि कांग्रेस को नसीहत भी दे दी है कि औकात में रहे. विधायक विजय प्रकाश ने साफ कर दिया कि आरजेडी बड़ी पार्टी है, इसीलिए उसकी दावेदारी भी बड़ी होगी. बिहार के नेताओं के ताल ठोकने से कुछ हासिल नहीं होगा. कांग्रेस बिहार में फ्रंट पर आने को बेताब है तो आरजेडी अब भी खुद को बड़ी पार्टी बताते हुए कांग्रेस को उसकी औकात तक बताने को तैयार है. अब जरा देखिए 5 सीटों पर महागठबंधन की ये दोनों प्रमुख पार्टियां किस तरह से आपस में छिना-झपटी कर रही हैं. अब जरा सोचिए 2020 में इनका क्या होगा.

ये भी पढ़ें-CM नीतीश के काफिले में टूटते हैं ट्रैफिक नियम, परिवहन मंत्री नहीं मानते कानून

JDU बोली- किसी के रहमोकरम से CM नहीं हैं नीतीश कुमार, कांग्रेस की चुनौती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज