गंगा किनारे पुलिस ने की खुदाई तो मिली 20 लाख की अवैध शराब, बालू के अंदर बना रखा था तहखाना

पटना के दियारा इलाके में रेड करती पुलिस

पटना के दियारा इलाके में रेड करती पुलिस

Liquor Smuggling In Patna: राजधानी पटना के कई इलाकों में पुलिस इन दिनों होली को लेकर शराब माफियाओं के खिलाफ ऑपरेशन चला रही है. पटना में शहर और गंगा के किनारे कई इलाकों में पुलिस लगातार ऐसी कार्रवाई कर रही है.

  • Share this:
पटना. होली करीब आते ही बिहार में शराब माफियाओं पर पुलिस का शिकंजा कसने लगा है. पटना और सोनपुर में पुलिस ने 20 लाख की शराब जब्त की है जो कि बालू के अंदर छिपाकर रखी गई थी. हाेली काे देखते हुए शराब माफियाओं ने पीरबहाेर और साेनुपर इलाके में गंगा नदी के किनारे बालू और खेत में शराब की बड़ी खेप काे बाेरी में रखकर दफन कर दिया था लेकिन पीरबहाेर थाना की पुलिस काे इसकी भनक लग गई.

पुलिस गंगा के किनारे एनआईटी घाट के पूरब पहुंची और बालू की खुदाई शुरू की ताे विदेशी शराब बाेरे में बंदकर रखा हुआ मिला. पुलिस ने यहां से 25 कार्टन में भरी 520 बाेतल विदेशी शराब जब्त किया. ये सभी कार्टन प्लास्टिक के बाेरे में रखे हुए थे. टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद और पीरबहाेर थानेदार रिजवान अहमद काे सूचना मिली थी कि एनआईटी घाट के सामने साेनपुर इलाके में भी बालू औ गंगा के किनारे खेताें में विदेशी शराब की बड़ी खेप दबा कर रखी गई है.

सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम नाव से गंगा पार गई. वहां पहुंचने के बाद साेनपुर पुलिस काे बुलाया गया और दाेनाें थानाें की पुलिस ने करीब दाे घंटे तक ऑपरेशन करने के दाैरान वहां से 72 कार्टन शराब जब्त किया. पीरबहाेर पुलिस के अनुसार जब्त शराब की कीमत करीब 20 लाख है. उन्हाेंने कहा कि एक शराब माफिया के बारे में पुलिस काे सुराग मिल गया है. पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी पर वह फरार पाया गया.

हाेली में खपाने के लिए किया गया था स्टॉक


शराब की नाव से सप्लाई हाेनी थी. दरअसल हाेली काे देखते हुए शराब माफिया विदेशी शराब जमा करने में लगे हैं, इसी के तहत इन माफियाओं ने गंगा के किनारे शराब की खेप काे गंगा के इस पार और उस पार बालू और खेत में दबाकर रखा था. नाव से शराब की सप्लाई हाेनी थी. नाव से शराब पहुंचाने के बाद फिर बाइक या कार से छाेटे-छाेटे सप्लायराें के पास जाना था पर पुलिस ने शराब माफियाओं के पूरे खेल काे बिगाड़ दिया.

जब्त कर बर्बाद कर दी शराब



दूसरी तरफ रूकुनपुरा मुसहरी में उत्पाद विभाग ने छापा मारकर 4100 लीटर देसी शराब बर्बाद किया. उत्पाद विभाग की टीम ने इस दौरान करीब दाे दर्जन से अधिक शराब भट्टियाें काे ध्वस्त कर दिया. छापेमारी करने के दाैरान मुसहरी में हड़कंच मच गया. यहां से बनी देसी शराब पटना के कई इलाकाें में सप्लाई हाेती है. पटना पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम द्वारा की गई इस कार्रवाई ने सवाल भी खड़े कर दिए हैं. सवाल ये है कि शराबबंदी कानून लागू होने को 5 साल होने को आए हों लेकिन इसके बावजूद शराब माफिया अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज