Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    पटना: बेउर जेल में रची गई थी बंगाल भाजपा नेता मनीष शुक्ला की हत्या की साजिश! निशाने पर थे दो और BJP लीडर

    दिवंगत भाजपा नेता मनीष शुक्ला. (फाइल फोटो)
    दिवंगत भाजपा नेता मनीष शुक्ला. (फाइल फोटो)

    पश्चिम बंगाल (West Bengal) के एक राजनीतिक दल से जुड़े लोगों ने सुबोध सिंह को हत्या की सुपारी दी थी. अब इसी मामले को लेकर बंगाल पुलिस (bengal Police) ने बिहार पुलिस (Bihar Police) से संपर्क साधा है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 12, 2020, 1:45 PM IST
    • Share this:
    पटना. बीजेपी नेता मनीष शुक्ला हत्याकांड (BJP leader Manish Shukla Murder Case) मामले को लेकर एक ओर जहां पश्चिम बंगाल बेहद गर्म है, वहीं दूसरी तरफ इसके तार बिहार के बेउर जेल (Beur Jail) से जुड़ते जा रहे हैं. सूत्रों से मिली बड़ी जानकारी के मुताबिक, मनीष शुक्ला हत्याकांड की स्क्रिप्ट पश्चिम बंगाल (West Benagal) में लिखी गई थी, लेकिन इसे अमलीजामा पहनाने का काम बेउर जेल में किया गया. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बेउर जेल में बंद कुख्यात सोना लूटकांड का आरोपी सुबोध सिंह ने को इसकी सुपारी मिली थी और उसने अपने गुर्गों से मनीष शुक्ला की हत्या करवाई. बताया जा रहा है कि इस हत्याकांड में दो सुपारी किलर शामिल थे और मुंगेर निर्मित पिस्टल का इस्तेमाल किया गया था.

    मिली जानकारी के अनुसार, बंगाल के एक राजनीतिक दल से जुड़े लोगों ने सुबोध सिंह को हत्या की सुपारी दी थी. अब इसी मामले को लेकर बंगाल पुलिस ने बिहार पुलिस से संपर्क साधा है. फिलहाल बिहार पुलिस के आला अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने से पच रहे हैं. यह जानकारी भी सामने आ रही है कि मनीष शुक्ला के साथ ही दो अन्य BJP नेताओं की भी हत्या की साजिश रची गई थी.

    BJP नेता मनीष शुक्ला हत्याकांड मामले पर BJP विधायक नितिन नवीन ने कहा है कि हमलोग तो लगातार कह रहे हैं कि बंगाल में राजनीतिक हत्या हो रही है. आज बंगाल राजनीतिक हत्या के दौर से गुजर रहा है. दरअसल, ममता बनर्जी की जो पिछले तीन साल से जो राजनीति चली है लोकसभा के पहले से ममता बनर्जी हताशा और निराशा में हत्या करवा रही है. एक वक्‍त था बिहार में नरसंहार का दौर था, आज बंगाल में राजनीतिक हत्या का दौर चल रहा है. ममता बनर्जी और लालू यादव का व्यवहार एक जैसा है.




    इधर, JDU नेता संजय सिंह का कहना है कि बंगाल में यह घटना घटी है. मनीष शुक्ला का मर्डर हुआ है. ऐसे में बेउर जेल से इसके तार अगर जुड़े हैं तो निश्चित तौर पर बिहार और बंगाल की पुलिस जांच करेगी. बिहार पुलिस बंगाल पुलिस की पूरी मदद करेगी, जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया उसके खिलाफ कानून अपना काम करेगी. हमलोग न किसी को फंसाते हैं, न बचाते हैं.

    बता दें कि पश्चम बंगाल के भाजपा पार्षद मनीष शुक्ला की गत 24 अक्टूबर को उत्तर 24 परगना जिले में मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. मनीष शुक्ला की गोली मारकर हत्या किए जाने की घटना को लेकर एक तरफ जहां भाजपा ने इस घटना की सीबीआई जांच के साथ राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की, वहीं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि यह घटना भाजपा के आपसी अंतर्द्वंद्व का नतीजा है.

    गौरतलब है कि इस मामले में इस मामले में बंगाल पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. दोनों के नाम मोहम्मद खुर्रम तथा गुलाब शेख हैं. पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन्होंने ही दूसरे राज्यों से किराए के शार्प शूटर लाकर इस घटना को अंजाम दिया है. इस घटना में आपसी रंजिश की बात भी उठी है. हालांकि, अब इस मामले में बिहार कनेक्शन सामने आने के साथ ही यह बड़ी साजिश की ओर इशारा करता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज