लाइव टीवी

गंभीर नहीं हुई सरकार तो अधूरा रह सकता है बिहटा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का सपना, जानिए क्‍यों?

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: November 27, 2019, 12:49 PM IST
गंभीर नहीं हुई सरकार तो अधूरा रह सकता है बिहटा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का सपना, जानिए क्‍यों?
2022-23 में बनकर तैयार होगा बिहटा एयरपोर्ट.

जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Jay Prakash Narayan International Airport) का लोड कम करने और यात्रियों को बेहतर सेवा देने के मकसद से नागरिक विमानन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) ने बिहटा में नये हवाई अड्डे के निर्माण का फैसला किया गया था. लेकिन 1400 करोड़ की लागत से बन रहे इस एयरपोर्ट पर नीतीश सरकार की उदासीनता भारी पड़ सकती है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 27, 2019, 12:49 PM IST
  • Share this:
पटना. पटना में जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Jay Prakash Narayan International Airport) का दबाव कम करने और यात्रियों को बेहतर सेवा उपलब्ध कराने के मकसद से नागरिक विमानन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) द्वारा बिहटा में नये हवाई अड्डे के निर्माण का फैसला किया गया था. जबकि लक्ष्य के अनुसार काम शुरू हो चुका है और 2022-23 तक इसका निर्माण कार्य पूरा किया जाना है, लेकिन जिस मकसद के साथ बिहटा एयरपोर्ट (Bihta Airport) का निर्माण शुरू हुआ वह अधूरा है. अगर राज्य सरकार ने गंभीरता नहीं दिखाई तो इस एयरपोर्ट पर इंटरनेशनल फ्लाइट की लैंडिग का सपना पूरा नहीं हो पाएगा.

1400 करोड़ की लागत से बनेगा एयरपोर्ट
पटना से सटे बिहटा में 1400 करोड़ रुपए की लागत से नये एयरपोर्ट पर काम शुरू हो गया है. इस एयरपोर्ट पर दो चरणों में काम पूरा होगा. पहले चरण में इस एयरपोर्ट को 25 लाख सालाना क्षमता का बनाया जा रहा और दूसरे चरण में 50 लाख तक का विस्तार किया जाएगा. इसके लिए बिहटा एयरफोर्स स्टेशन के आसपास की अधिग्रहित की गई 108 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी को मिल गई है. हालांकि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने बिहार सरकार से कुल 156 एकड़ जमीन मांगी थी, लेकिन सरकार द्वारा आवंटित 108 एकड़ जमीन में 11000 फीट तक रनवे का विस्तार संभव नहीं है. बड़े आकार के बोईंग विमान वाली इंटरनेशनल फ्लाइट की लैंडिंग के लिए यह रनवे छोटा पड़ जाएगा.

बिहार सरकार ने जो जमीन दी है उस पर 8000 फीट का ही रनवे बन पाएगा. एयरपोर्ट अथॉरिटी की मानें तो 11 हजार फीट लंबा रनवे होने पर 350 मीटर की विजुअलिटी में भी एयरक्राफ्ट लैंड कर सकता है. जबकि इससे भारी कुहासे के दिनों में भी आसानी से विमानों की लैंडिंग की जा सकती है.

पटना पर इतनी विजुअलिटी में उतरते हैं विमान
मौजूदा समय में पटना एयरपोर्ट पर एक हजार मीटर की विजुअलिटी में भी विमान उतर सकते हैं. हालांकि पहले यह क्षमता 1200 मीटर की थी. एयरपोर्ट अथॉरिटी ने सरकार से एक बार फिर 156 एकड़ जमीन देने का अनुरोध किया है. पटना एयरपोर्ट के अभियांत्रिकी परियोजना महाप्रबंधक केएस विजयन की मानें तो बिहार सरकार अगर 156 एकड़ जमीन देने की मांग पूरा कर देती है तो बिहटा एयरपोर्ट की बात ही अलग होगी.

फोर लेन सड़क का भी काम शुरूसाथ ही बिहटा एयरपोर्ट और दानापुर रेलवे स्टेशन के बीच करीब 19 किलोमीटर लंबे फोर लेन सड़क का निर्माण कार्य भी शुरू हो चुका है. एनएचएआई और बिहार सरकार के पथ निर्माण विभाग द्वारा सड़क निर्माण का काम किया जाना है. माना जा रहा है कि खुली जमीन पर काम होने के कारण पटना एयरपोर्ट की नई टर्मिनल बिल्डिंग से पहले ही बिहटा एयरपोर्ट बन कर तैयार हो जाएगा. पटना जिला प्रशासन ने किसी भी तरह की बाधा दूर करने के मकसद से बिहटा एयरपोर्ट की जमीन के 100 मीटर के दायरे में दूसरे सभी तरह के निर्माण काम पर रोक लगा दी है.

ये भी पढ़ें-
शराबबंदी को लेकर सख्‍त हुए CM नीतीश, पुलिस को दी कड़ी कार्रवाई करने की खुली छूट

पेट्रोल टैंकर-ट्रक में जोरदार टक्‍कर, घायलों की मदद के बजाए ये काम कर रहे थे लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 11:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर