लाइव टीवी

एक फरवरी से हड़ताल पर जा सकते हैं नियोजित शिक्षक, शिक्षा मंत्री बोले- कौन रोक सकता है
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: January 24, 2020, 12:55 PM IST
एक फरवरी से हड़ताल पर जा सकते हैं नियोजित शिक्षक, शिक्षा मंत्री बोले- कौन रोक सकता है
एक फरवरी से हड़ताल पर जा सकते हैं बिहार के नियोजित शिक्षक

बिहार राज्य पंचायत नगर प्रारम्भिक शिक्षक संघ ने गुरुवार को ही ऐलान कर दिया है कि एक फरवरी से सभी शिक्षक हड़ताल पर जाएंगे. अगर संघर्ष समन्वय समिति फैसला ले लेती है तो राज्य सरकार के लिए एक फरवरी से बड़ी मुसीबत बढ़ने वाली है.

  • Share this:
पटना. 'समान काम-समान वेतन' के मामले में सुप्रीमकोर्ट से मिली हार के बाद भी नियोजित शिक्षकों के वेतनमान की लड़ाई खत्म नहीं हुई है. चुनावी साल की शुरुआत में ही शिक्षक फिर से आंदोलन का मन बना रहे हैं और सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार दिख रहे हैं. बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समिति ने पहले 19 जनवरी के मानव श्रृंखला का बहिष्कार किया अब 1 फरवरी से हड़ताल पर जाने का फैसला लेनेवाले हैं.

हड़ताल के फैसले को लेकर शुक्रवार को शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति की ब्रजनंदन शर्मा की अध्यक्षता में अहम बैठक होने वाली है, जिसमें राज्यभर के सभी 28 संघ के प्रतिनिधि शामिल होंगे और 1 फरवरी से शिक्षा व्यवस्था ठप कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लेंगे.

बता दें कि बिहार राज्य पंचायत नगर प्रारम्भिक शिक्षक संघ ने गुरुवार को ही ऐलान कर दिया है  कि एक फरवरी से सभी शिक्षक हड़ताल पर जाएंगे. अगर  संघर्ष समन्वय समिति फैसला ले लेती है तो राज्य सरकार के लिए एक फरवरी से बड़ी मुसीबत बढ़ने वाली है.

गौरतलब है कि समान वेतनमान के मुद्दे पर राज्य सरकार ने पहले ही हाथ खड़ा कर दिया है, लेकिन चुनावी वर्ष है, सरकार को मनवाने के लिए शिक्षक कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं. यही वजह है कि आगामी महीने में इंटर और मैट्रिक परीक्षा से ठीक पहले हड़ताल पर जाने का मन बना लिया है और परीक्षा का बहिष्कार करने की भी चेतावनी दी है.

शिक्षक नेता आनंद कौशल, कृत्यनजंय चौधरी, आनंद मिश्रा, शिशिर पाण्डे, नवनीत मिश्रा समेत सभी शिक्षक नेताओं ने साफ कहा है कि सरकार को अब कोई मोहलत नहीं मिलेगी क्योंकि अल्टीमेटम के बाद भी सरकार ने वार्ता की पहल नहीं की ऐसे में हड़ताल ही एक रास्ता बचा है. शिक्षकों का कहना है कि अब 4 लाख नियोजित शिक्षक सरकार से डरनेवाले नहीं हैं.

पूरे मामले पर शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने जवाब देते हुए कहा कि शिक्षकों का हड़ताल पर जाने का फैसला करना समझ से परे है क्योंकि समय-समय पर सरकार वेतन वृद्धि करती है, बावजूद नियोजित शिक्षक नहीं समझ रहे.  हालाकि मंत्री ने शिक्षकों की हड़ताल को बहुत गंभीरता से नहीं लेते हुए ये कहा कि लोकतंत्र में हर किसी को आजादी है शिक्षकों को कौन रोक सकता है.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 12:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर