कोरोना संकट ने बदली व्यवस्थाएं, अब मंदिर में मशीन से मिलेगा इम्यूनिटी बूस्टर चरणामृत
Patna News in Hindi

कोरोना संकट ने बदली व्यवस्थाएं, अब मंदिर में मशीन से मिलेगा इम्यूनिटी बूस्टर चरणामृत
पटना के महावीर मंदिर में मशीन से मिलेगा चरणामृत, जिसे पीने से बढ़ेगी इम्युनिटी!

मंदिर प्रशासन का कहना है कि कोरोना महामारी (Pandemic Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर मंदिर परिसर में कई नई व्यवस्थाएं की गई हैं, जिससे संक्रमण फैलने के खतरे को कम किया जा सके.

  • Share this:
पटना. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) ने लोगों की जीवन शैली को भी खासा प्रभावित किया है. यहां तक कि अब मंदिर में मिलने वाले प्रसाद पर भी इसका असर पड़ा है, पटना के महावीर मंदिर (Mahaveer Temple) में भी कोरोना वायरस से बचाव और भक्तों की सुविधा को देखते हुए एक अनोखी पहल की गई है. अब यहां आने वाले भक्तों को पंडित जी से चरणामृत मांगने की जरूरत नही पड़ेगी बल्कि मंदिर परिसर के अंदर डिस्पेंसर मशीन के जरिये भक्तों को चरणामृत मिल जाएगा और इतना ही नहीं मंदिर प्रशासन का दावा है कि ये चरणामृत इम्यूनिटी बूस्टर (immunity booster) का भी काम करेगा.

चरणामृत देने के लिए लगाई गई डिस्पेंसर मशीन (Dispenser machine) में ऑटो सेंसर (Auto sensor) भी लगा हुआ है इसके आगे हाथ बढ़ाते ही हाथों में चरणामृत आ जायेगा. मंदिर प्रशासन का कहना है कि कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर मंदिर परिसर में कई नई व्यवस्थाएं की गई हैं, जिससे संक्रमण फैलने के खतरे को कम किया जा सके.

ये भी पढ़ें- CM अशोक गहलोत ने साधु-संतों को मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए जाने की दी छूट, सफाई कर्मचारियों को लेकर कही ये बात

कैसे काम करती है ये मशीन


मंदिर परिसर में मशीन लगाई गई हैं जिनमें प्रत्येक कंटेनर 10 kg क्षमता का है. इस मशीन में ऑटो सेंसर लगाया गया है. जब किसी को प्रसाद लेना होता है तो डिस्पोजेबल कप इसके डिस्पेंसर के सामने ले जाना होता है और मशीन से निर्धारित मात्रा में चरणामृत कप में आ जाता है. कोरोना संकट से पहले प्रसाद भी बांटा जाता था और फूल माला भी चढ़ाई जाती थी लेकिन कोविड-19 के चलते अब मंदिर में प्रसाद का डिब्बा खोलने पर मनाही है और फूल माला चढ़ाने पर भी पाबंदी है.

चरणामृत में कई औषधीय गुण
इस चरणामृत में कई सारी औषधियां डाली गई हैं. मंदिर प्रशासन का दावा है कि इस चरणामृत से लोगों की इम्यूनिटी भी बढ़ेगी. इसमें लौंग, इलाइची, तुलसी, जायफल, कपूर का प्रयोग किया गया है. मंदिर में भगवान के दर्शन करने पहुंचे एक श्रद्धालु करन कुमार सिंह ने बातचीत में कहा कि अनलॉक के बाद पहली बार यहां आया हूं, शुरुआत में डर लग रहा था कि कहीं यहां आने से संक्रमित न हो जाऊं लेकिन यहां मंदिर परिसर में पूरी व्यवस्था की गई है कि संक्रमण न फैले. वहीं चरणामृत के लिए लगाई गई मशीन देख कर अच्छा लग रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading