बिहार: बढ़े मौत के आंकड़े और घटे रिकवरी रेट पर बोले स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे- चुनौती बड़ी है

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने न्यूज 18 से विशेष बातचीत की.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने न्यूज 18 से विशेष बातचीत की.

Covid 19 Update: स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि हम सब लोग के लिए बहुत ही कठिन चुनौती के समय है. सच यह है कि डॉक्टरों के साथ ही पारा मेडिकल स्टाफ भी दिन-रात परिश्रम कर रहे हैं, उनको सैल्यूट करना चाहिए.

  • Share this:
रिपोर्ट- धर्मेंद्र कुमार

पटना. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच संक्रमितों की संख्या 63 हजार के पार पहुंच चुकी है, वहीं रिकवरी रेट में कमी आने के साथ ही मौत के आंकड़े भी काफी बढ़ गए हैं. पिछले करीब पंद्रह दिन से रिकवरी रेट लगातार घट रही है. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 20 अप्रैल को प्रदेश की रिकवरी रेट 82.99 प्रतिशत  थी जो 21 अप्रैल को घट कर 81.41 प्रतिशत रह गयी है. बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमित् मरीजो की संख्या को देखते हुए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का बताया कि पिछले 10 दिनों में तेजी से संक्रमण बढ़ा है हम लोगों को सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है. आंकड़े हम लोगों के सामने हैं और सरकार की तरफ से जो आवश्यक स्वास्थ्य सेवा देनी है वह दी जा रही है.

मंगल पांडे ने कहा कि चाहे टेस्टिंग करने का मामला हो या ट्रीटमेंट करने का, जि भी चीज की जरूरत है उसकी आवश्यकता अनुसार पूर्ति की जा रही है. विभिन्न जगहों पर बेड बढ़ाने की बात हो या फिर किसी और भी स्तर पर सहूलियत देने की बात, हम सभी तरीके से प्रयास कर रहे हैं और लोगों को अधिक से अधिक स्वास्थ्य सुबिधा उपलब्ध करा सकें यही हमारा प्रयास है.

राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि उपचार के संबंध में जो भी आवश्यक चीजों की जरूरत है उसकी  का हम लोग पूर्ति करने का प्रयास कर रहे है. चाहे वह  ऑक्सीजन हो रेमडिसीवीर हो या अन्य दवाइयां हो, सभी की उपलब्धता बढ़ाई जा रही है. इसके लिए कई प्रयास किए गए हैं. जहां  टैंकर की संख्या बढ़ाई गई है वहीं विभिन्न मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में  में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाए गए हैं.
मंगल पांडे ने कहा कि पीएमसीएच एनएमसीएच डीएमसीएच, एसकेएमसीएच, मधेपुरा  मेडिकल हॉस्पिटल कॉलेज इन जगहों पर  विगत तीन-चार दिन में सारे  ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट चालू किया गया है  अन्य जगहों पर भी इसकी  व्यवस्था की जा रही है इसके अतिरिक्त भी ऑक्सीजन के भंडारण हेतु अतिरिक्त व्यवस्था का निर्माण हो रहा है. भारत के सरकार के स्तर से और राज्य  सरकार के स्तर से जो  अधिकारी है उन सारी चीजों पर लगातार निगरानी रखे हुए हैं और लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि बिहार सरकार के स्तर से जो स्वास्थ्य विभाग और उद्योग विभाग मिलकर  इस ऑक्सीजन की समस्या के निदान का प्रयास कर रहा है और हम सब लोगों से ऑक्सीजन की आपूर्ति को बहुत हद तक समान किया है. राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कितनी जरूरत है इस पर मंगल पांडे ने कहा कि कोई निश्चित आप नहीं बता सकते क्योंकि आप देख रहे हैं कि कि मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है. इसलिए आज कितने  मीट्रिक टन की जरूरत है और कल कितना होगा पक्का-पक्का नहीं बताया जा सकता है.  मंगल पांडे ने कहा कि जो भी आवश्यकता है प्रतिदिन बढ़ती जा रही है उसके सापेक्ष हम आपूर्ति के लिए प्रयास कर रहे हैं.

अस्पताल में बेड कम होने के सवाल पर  स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा की एनएमसीएच में पर्याप्त बेड है. इसके अतिरिक्त राजेंद्र नगर आई हॉस्पिटल में भी एक-दो दिन में 100 बेड की व्यवस्था भी शुरू कर दी जाएगी. आई एम एस के अंदर पहले से जो व्यवस्था बनी हुई है. इसके अतिरिक्त 75 से 100 बेड की सेवा शुरू हो जाएगी पर जहां-जहां बेड बढ़ाने की व्यवस्था है वहां वहां हम लोग काम कर रहे हैं.



सूबे के अस्पतालों में नर्स और चिकित्सकों के पॉजिटिव होने पर स्वास्थ्य सेवा के ऊपर असर होने पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि यह तो निश्चित रूप से चुनौती है. यही हमलोगों को समझना पड़ेगा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और चिकित्सकों, चिकित्साकर्मी हो नर्स हो पारा मेडिकल स्टाफ हो, सब लोग दिन-रात परिश्रम करके लोगों की जान बचाने में लगे हुए और स्वयं संक्रमित होने के बाद भी लोगों को सेवा के कर रहे हैं. यह कितनी बड़ी चुनौती है और कठिनाई का समय है यह हम लोग को समझना पड़ेगा और चुनौतियों का सामना हम लोगों करना पड़ रहा है और उससे हम लोग जूझ रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम सब लोग के लिए बहुत ही कठिन चुनौती के समय है. सच यह है कि डॉक्टरों के साथ ही पारा मेडिकल स्टाफ भी दिन-रात परिश्रम कर रहे हैं, उनको सैल्यूट करना चाहिए.  राज्य की सरकार ने भी प्रोत्साहन के लिए 1 माह का अतिरिक्त सैलरी का घोषणा की गई है यह उनको देंगे ताकि उनका हौसला बढ़े.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज