लाइव टीवी

COVID-19: बिहार में चुनावी अभियानों पर कोरोना ब्रेक, तेजस्वी-चिराग की यात्रा थमी, घरों में बंद हुए नेताजी
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 21, 2020, 1:21 PM IST
COVID-19: बिहार में चुनावी अभियानों पर कोरोना ब्रेक, तेजस्वी-चिराग की यात्रा थमी, घरों में बंद हुए नेताजी
तेजस्वी यादव की रैली और उनकी बेरोजगारी यात्रा पर ब्रेक लग गया है. (File Photo)

कोरोना के चलते ही तेजस्वी की बेरोजगारी यात्रा और चिराग की बिहार 1st बिहारी 1st यात्रा पर ब्रेक लग गया है. इसके अलावा आरजेडी का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर और जेडीयू-बीजेपी का सम्मेलन भी रद्द करना पड़ा है.

  • Share this:
पटना. वैसे तो दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर दहशत का माहौल है, लेकिन बिहार (Bihar) के राजनेताओं के लिए तो ये किसी 'अभिशाप' से कम नहीं है. बिहार में इसी साल चुनाव होने हैं. सारी पार्टियां चुनावी यात्राओं, रैलियों और अन्य अभियानों में जुटी हुई थीं कि तभी कोरोना ने दस्तक दे दिया. सियासी पार्टियों की चुनावी तैयारियों पर कोरोना ने ऐसा पानी फेरा है कि नेता जी अब परेशान हो गए हैं.

देश के इतिहास में शायद यह पहली बार हो रहा है जब सियासत करने वाले लोग खुद को इतने बेबस और लाचार पा रहे हैं. चुनावी साल में जहां नेता जनता के पास जाने के नए-नए तरीके ढूंढ रहे थे, वहीं अब कोरोना के डर से घर में नजरबंद रहने को मजबूर हैं. तेजस्वी यादव की बेरोजगारी यात्रा थम गई है. चिराग पासवान के अभियान पर ब्रेक लग गया है.

कोरोना ने किया बेरोजगार

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेमचंद मिश्रा तो कहते भी हैं कि कोरोना ने तो हमें बेरोजगार कर दिया. ना तो कार्यकर्ता हमसे मिलने आते हैं और न ही हम जनता से मिलने जा पाते हैं. कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा मानते हैं कि कोरोना के चलते उनका राजनीतिक जीवन उथल-पुथल हो गया है और जनता से धीरे-धीरे वह कटने भी लगे हैं.



तेजस्वी ने बेरोजगारी यात्रा पर लगाई रोक

ऐसा ही कुछ हाल उनकी सहयोगी पार्टी आरजेडी का भी है. आरजेडी के 'युवराज' तेजस्वी यादव की रैली और उनकी बेरोजगारी यात्रा पर कोरोना ने ऐसा ब्रेक लगाया है कि उनकी पार्टी को इसका दर्द सहन करने में बड़ी मुश्किल हो रही है. पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी कहते हैं कि कोरोना की सबसे बड़ी मार अकेले आरजेडी ने ही झेली है. इससे जल्दी उबर पाना आसान भी नहीं है.

हर पार्टी पर दर्द का साया

राजद और कांग्रेस के अलावा बीजेपी और जेडीयू यानी एनडीए खेमे में भी कोरोना वायरस का खौफ कम नहीं है. कोरोना को लेकर 'साइड इफेक्ट' को लेकर दोनों पार्टियों के नेता डरे हुए हैं. बीजेपी प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल और जेडीयू नेता खालिद अनवर का कहना है कि वो अपनी जनता और कार्यकर्ताओं से धीरे-धीरे दूर होते जा रहे हैं. यह उनकी राजनीति के लिए बेहद खतरनाक है.

कोरोना का 'साइड इफेक्ट'

कोरोना की वजह से न सिर्फ तेजस्वी यादव की बेरोजगारी यात्रा थमी है, बल्कि लोजपा प्रमुख चिराग पासवान की 'बिहार 1st बिहारी 1st' यात्रा पर भी ब्रेक लग गया है. चुनावी साल में लोजपा के लिए यह किसी बड़े झटके से कम नहीं है. इसके अलावा आरजेडी के दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर को भी कोरोना के कारण ही रद्द करना पड़ा. जेडीयू-बीजेपी का सम्मेलन भी इस कोरोना के चलते अचानक रद्द करना पड़ा है. ऐसे में इन राजनेताओं के लिए अब सबसे बड़ी मुश्किल इस बात से है कि चुनावी साल में वो अपने वोटरों से जिस तरह से दूर जा रहे हैं कही उनका वोटबैंक ना खिसक जाए.

 

ये भी पढ़ें: 'जनता कर्फ्यू' पर रार! BJP ने RJD को कहा 'राजनीतिक कोरोना', जानें क्यों

बिजली की नई दर का ऐलान- 10 पैसे प्रति यूनिट की राहत, नहीं देना होगा मीटर रेंट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 21, 2020, 12:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर