Covid-19- दानापुर रेल मंडल ने तैयार किया PPE KIT, मंजूरी के लिए DRDO को भेजेगा
Patna News in Hindi

Covid-19- दानापुर रेल मंडल ने तैयार किया PPE KIT, मंजूरी के लिए DRDO को भेजेगा
डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के दौरान एक खास तरह का सूट पहनते हैं. (सांकेतिक फोटो)

दानपुर रेल मंडल ने पीपीई किट (PPE Kit) का निर्माण शुरू किया है, जिसे डीआरडीओ को स्वीकृति के लिए भेजा जा रहा है. डीआरडीओ से स्वीकृति मिलने के बाद इसका भारी संख्या में निर्माण किया जाएगा.

  • Share this:
दानापुर. कोरोना के चलते पूरे देश में पीपीई किट (PPE KIT) की मांग बढ़ रही है. बिहार सरकार भी इसकी कमी के बारे में लगातार कह रही है. पीपीई किट की कमी को पूरा करने में अब भारतीय रेल (Indian Railway) भी आगे आया है. ईस्ट सेंट्रल रेलवे के दानापुर रेल मंडल (Danapur Rail Mandal) ने इस ओर एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ाया है. दानपुर रेल मंडल ने पीपीई किट (PPE Kit) का निर्माण शुरू किया है, जिसे डीआरडीओ को स्वीकृति के लिए भेजा जा रहा है. डीआरडीओ से स्वीकृति मिलने के बाद इसका भारी संख्या में निर्माण किया जाएगा. रेलवे के दानपुर डिविज़न ने अभी दस हज़ार किलो पीपीई किट का मैटेरियल मंगाया है. इस समय पाँच हज़ार किट बनाने की प्रक्रिया जारी है. डीआरडीओ से स्वीकृति के बाद इसका अधिक तादाद में निर्माण शुरू होगा।

रेलवे के अस्पतालों में होगा इसका इस्तेमाल

डीआरडीओ द्वारा सैंपल की मंजूरी के पश्चात् उत्तर रेलवे से प्राप्त 10 हजार किलो पीपीई निर्माण सामग्री से रेलवे चिकित्सालय के चिकित्सक, नर्स एवं अन्य पैरा मेडिकल स्टाफ के प्रयोग के लिए पीपई का निर्माण पूर्व मध्य रेल के पांचो मंडलों में किया जाएगा. कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए चिकित्सक, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए पीपीई का होना नितांत आवश्यक है. इतने कम समय में पीपीई का निर्माण करना पूर्व मध्य रेल के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि होगा.



बाज़ार में किट उपलब्ध नहीं होने पर उठाया कदम
बाजार में अनुपलब्धता को देखते हुए रेलवे का प्रयास है कि पीपीई किट का उत्पादन स्वयं किया जाए. इससे पहले जगाधरी में प्रथम बार पीपीई किट तैयार किया गया था जिसे डीआरडीओ ने भी अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है. इसी के मद्देनजर भारतीय रेल के अन्य कारखानों को भी इसके निर्माण की जिम्मेवारी दी गयी है. पूर्व मध्य रेल की यह उपलब्धि कोविड-19 के मरीजों के इलाज के दृष्टिकोण से मील का पत्थर साबित होगा.

ये भी पढ़ें:  इन IAS अधिकारियों की पहल पर गोपालगंजवासियों को घर बैठे मिलेगी सारी सुविधाएं

पटना में ट्रैफिक पुलिस से मारपीट करना कस्टम इंस्पेक्टर को पड़ा महंगा, गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading