BJP नेता रूडी की चुनौती पर पप्पू यादव ने खड़े किए 40 ड्राइवर, कहा- जहां जरूरत हो ले जाएं

पप्पू यादव ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना.

पप्पू यादव ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना.

Bihar News: पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी (Rajiv Pratap Rudy) की चुनौती का जवाब पप्पू यादव ने 40 एंबुलेंस डाइवरों के तौर पर दिया है.

  • Share this:

पटना. पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी (Rajiv Pratap Rudy) के प्रशिक्षण केंद्र पर खड़ी एम्बुलेंस मामले में उनसे मिली चुनौती का करारा जवाब देते हुए जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने शनिवार को 40 लाइसेंस धारी ड्राइवर खड़े कर दिए. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार को जहां भी एम्बुलेंस ड्राइवर की जरूरत हो, वे लें जाएं. इसके लिए उन्होंने जाप के राष्ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह का नंबर 9334123702 जारी किया और कहा कि सरकार इन ड्राइवर को सरकारी नौकरी भी दे. साथ ही उन्होंने महामारी एक्ट के तहत भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी पर मुकदमा दर्ज करने की भी मांग की. उन्होंने मुख्यमंत्री से कौशल विकास के नाम पर हुए घोटाले की जांच की भी मांग कर दी.

पप्पू यादव ने ये बातें शनिवार को पत्रकारों से की. इस दौरान उन्होंने राजीव प्रताप रूडी और उनके समर्थकों पर अप्रत्यक्ष रूप से धमकी देने का आरोप लगाया और कहा कि अगर जरूरत होगी तो हम ऑडियो भी पब्लिक करेंगे. साथ ही पप्पू यादव ने ये भी कहा कि अगर हमें मार देने से बिहार की जनता को एम्बुलेंस, दवाई, ऑक्सीजन आदि मिल जाये तो हम इसके लिए तैयार हैं. पप्पू यादव ने कहा, ''राजीव रूडी से मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है, लेकिन उन्होंने जिस तरह से मुझे धमकी दी और राजनीति का आरोप लगाया तो बस यही कहूंगा कि राजनीति कौन नहीं करता है. नरेंद्र मोदी, अटल बिहारी वाजपेयी, जार्ज फर्नांडिस जैसे दिग्गज लोग भी तो राजनीति करते रहे हैं.''

पप्पू यादव ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना

पप्पू यादव ने कहा, ''प्रताप रूडी, आपने तत्कालीन मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ NH के पास परिवहन क्षेत्र में संभावित रोजगार सृजन के लिए कुशल चालकों के प्रशिक्षण केंद्र शुरू किया था. फिर यह बंद क्यों हुआ? आपको भ्रष्टाचार के आरोप में मंत्री पद से हटाया गया. भाजपा को तो आपकी करतूत मालूम है. आप ही बताइए सरकारी पैसे का एम्बुलेंस निजी घर में क्या कर रहा है?  आप हमारे भाई हैं. धमकी न दीजिये. सारण की जनता ने जो जिम्मेदारी दी है, वो निभा लीजिये. जनता के भरोसे पर आप चुनकर गए हैं, अगर आप अपनी जिम्मेदारी लें, लें तो हम खुद घर बैठ जायेंगे. लेकिन अगर आप भूलेंगे, तो हम आपको जगायेंगे. रही बात खत्म होने की तो जो आदमी दिन रात एक कर लाशों की बीच जिंदगी गुजार रहा है उसे मत डराइए. मैंने जनता के सवाल को उठाया और आप व आपके लोग मेरा अंतिम करने में लग गए।.जिसके घर शीशे के हों वो पत्थर नहीं फेंकते. आप कहते हैं ड्राइवर नहीं है. आपके यहां से ही कल से आज तक कई लोगों ने ड्राइवर देने की बात कही है. थोड़ा शर्म करिये.''
ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: हरियाणा में मिलेगी डोर-टू-डोर ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिलिंग की सुविधा

वहीं, पप्पू यादव ने सिवान कोविड सेंटर के बहाने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से भी आग्रह किया कि कम से कम वे अपने गृह जिले में ICU, वेंटिलेटर आदि की व्यवस्था कर लेते. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री हमारे मित्र हैं. मैं उनसे आग्रह करूंगा की कि वे सिवान में तो लोगों को असप्तालों में सुविधा मुहैया कराए. वहां ICU नहीं है. वेंटीलेटर नहीं है. ऑक्सीजन नहीं है. रेमडीसीवीर सिर्फ 40 मिला है, जबकि लोग 100 भर्ती हैं. आपके इस्तीफे के लिए ट्विटर पर लाखों ट्वीट हो चुके हैं, लेकिन वक्त काम करने का है. आपको जो जिम्मेदारी बिहार की जनता ने दी है, उसे निभाइए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज