लाइव टीवी

COVID-19: बिहार में ट्रू नेट मशीनों से की जांच शुरू, सैम्पल जांच में आई तेजी
Patna News in Hindi

Rajnish Kumar | News18 Bihar
Updated: May 23, 2020, 12:02 PM IST
COVID-19: बिहार में ट्रू नेट मशीनों से की जांच शुरू, सैम्पल जांच में आई तेजी
मंगल पांडेय ने बताया कि भारत सरकार से सीबी नेट और आरटीपीसीआर मशीनों की जल्द आपूर्ति कराने की मांग की गई है. (प्रतीकात्मक चित्र)

45 ट्रू नेट मशीनें (True Net Machine) भी जल्द बिहार (Bihar) सरकार को उपलब्ध करा दी जाएंगी. इसके बाद रोज 4000 से ज्यादा सैम्पल की जांच हो पाएगी. बताते चलूं कि वर्तमान में 2800 तक सैम्पल की जांच हो पा रही है.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में देखते ही देखते कोरोना वायरस मरीजों का आंकड़ा 2166 तक पहुंच चुका है, जिसकी सबसे बड़ी वजह सैम्पल जांच में तेजी आना है. सीएम नीतीश कुमार के निर्देश के बाद राज्य के 7 जांच लैब में जहां सैम्पल क्षमता बढ़ाई गई है, वहीं 9 जिलों में मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पतालों में ट्रू नेट मशीनों से भी जांच शुरू हो गई है. ताजा आंकड़ा की बात करें तो अब तक जहां 7 जांच केंद्रों में आरटीपीसीआर और सीबी नेट मशीनों से 58,481 सैंपल की जांच हो चुकी है. वहीं नए ट्रू नेट मशीनों से 424 सैंपल की जांच हुई है.

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की मानें तो भारत सरकार से सीबी नेट और आरटीपीसीआर मशीनों की जल्द आपूर्ति कराने की मांग की गई है, जबकि 45 ट्रू नेट मशीनें भी जल्द बिहार सरकार को उपलब्ध करा दी जाएंगी. इसके बाद रोज 4000 से ज्यादा सैम्पल की जांच हो पाएगी. बताते चलूं कि वर्तमान में 2800 तक सैम्पल की जांच हो पा रही है और औसतन डेढ़ सौ से 200 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हो रही है.

सीबी नेट मशीन की किट खत्म
बिहार में जांच में सबसे आगे आरएमआरआई है, जहां अब तक 30 हजार से ज्यादा सैम्पल की जांच हो चुकी है जबकि आईजीआईएमएस में 7,486 सैम्पल का टेस्ट हुआ है. सबसे खराब परफॉर्मेंस जेएलएनएमसीएच भागलपुर का है, जहां 20 दिनों में मात्र 478 जांच हो पाई है और इसकी सबसे बड़ी वजह सीबी नेट मशीन की किट खत्म होना है.



प्रवासी मजदूरों की एंट्री के बाद, जहां पॉजिटिव मरीजों में तेजी से इजाफा हो रहा है, वहीं संसाधनों का अभाव भी सरकार को झेलना पड़ रहा है. माना जा रहा है कि अगले 5 दिनों में तकरीबन 5 लाख और प्रवासी बिहारी पहुंचने वाले हैं ऐसे में स्वास्थ्य विभाग प्रयास में है कि जल्द से जल्द मशीनों की आपूर्ति हो जाये ताकि सीएम के लक्ष्य को पूरा किया जा सके और रैंडमली सैम्पल जांच के बदले अधिक से अधिक सैम्पल लिया जा सके.



ये भी पढ़ें - 

योगी ने दिया विकास का विजन: सड़क बनाने को गोरखनाथ मंदिर की दीवार और 50 दुकानें तोड़ी गईं

COVID-19: रेल भवन में तीसरा मामला, रेलवे की वरिष्ठ अधिकारी कोरोना से संक्रमित
First published: May 23, 2020, 12:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading