Covid-19 Vaccination: बिहार में 18 साल से ऊपर के लोगों को मुफ्त टीका देने में खर्च होंगे 5000 करोड़

तैयारियों को लेकर अधिकारियों से बात करते सीएम नीतीश कुमार.

तैयारियों को लेकर अधिकारियों से बात करते सीएम नीतीश कुमार.

Bihar Corona Vaccination: 18 से 45 आयु वर्ग के टीकाकरण कार्यक्रम का खर्च राज्य सरकार को वहन करना है. टीका निर्माताओं को भुगतान किस तरीके से किया जाएगा, इस पर अभी वित्त विभाग और स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंथन किया जा रहा है.

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. हालांकि, इस बीच राज्य सरकार ने 18 से लेकर 45 साल के लोगों को कोरोना वैक्सीन फ्री में देने का एलान कर दिया है. इस आयु वर्ग वाले सभी लोगों को 1 मई से शुरू हो रहे वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में कोविड-19 का टीका लगाया जाना तय किया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि सरकार को इस पर लगभग 5000 करोड़ का अतिरिक्त खर्च करना होगा. दरअसल, बिहार सरकार (Bihar Government) ने घोषणा की थी कि 18 से 45 वर्ग के सभी व्यक्तियों का राज्य में मुफ्त टीकाकरण किया जाएगा. सरकार द्वारा यह घोषणा केंद्र सरकार की उस घोषणा के बाद की गई जिसमें 18 से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण कवर प्रदान करने की घोषणा की गई थी.

18 से 45 आयु वर्ग के  टीकाकरण कार्यक्रम का खर्च राज्य सरकारों को वहन करना है. टीका निर्माताओं को टीकाकरण के लिए भुगतान किस तरीके से की जाएगी इस पर अभी वित्त विभाग और स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंथन किया जा रहा है. अधिकारियों की मानें तो टीकों की आपूर्ति के लिए टीका निर्माताओं को सीधे तौर पर भुगतान किया जा सकता है या फिर भारत सरकार के माध्यम से भी भुगतान करने की सुविधा मौजूद है. 18 से 45 आयु वर्ग में शामिल लोगों को टीका लगाने की लागत पर कितना खर्च आएगा इसका आकलन किया जा रहा है.

वैक्सीनेशन की घोषणा सराहनीय पहल मानी जा रही है

एक अनुमान के अनुसार, यह  संख्या लगभग 6 करोड़ के आसपास होगी. दरअसल,  वैक्सीन की दो डोज के लिए प्रति व्यक्ति 800 रुपये  देने होंगे. इस तरह लगभग 6 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने में 4800 करोड़ खर्च होंगे. बिहार पहले ही अतिरिक्त संसाधनों की वजह से राजस्व की कमी और केंद्रीय हस्तांतरण के कारण आर्थिक दबाव में है. सरकार ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों को 1 महीने के अतिरिक्त वेतन देने के लिए ₹600 अतिरिक्त खर्च करने का ऐलान किया है. ऐसे में राजस्व आर्थिक बोझ झेलने के बावजूद सरकार द्वारा मुफ्त वैक्सीनेशन की घोषणा सराहनीय पहल मानी जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज