सीताराम येचुरी के बेटे की मौत पर भाजपा नेता ने किया ऐसा ट्वीट कि मच गया बवाल, राजद ने दिया यह जवाब

सीताराम येचुरी के बेटे आशीष येचुरी के निधन पर भाजपा नेता मिथिलेश तिवारी के ट्वीट पर मचा बवाल

सीताराम येचुरी के बेटे आशीष येचुरी के निधन पर भाजपा नेता मिथिलेश तिवारी के ट्वीट पर मचा बवाल

Bihar Politics: सीपीएम नेता मनोज चंद्रवंशी ने कहा है कि मिथिलेश तिवारी के इस ट्वीट से न सिर्फ उनकी बल्कि भाजपा के राजनीतिक स्तर का पता चलता है क्योंकि पार्टी ही ऐसे नेताओं को सह देती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 9:31 AM IST
  • Share this:
पटना. सियासी अदावत के अपने-अपने आधार हैं, पर हम सभी के बीच इंसानियत ही ऐसी चीज है जो संकट के समय एक-दूसरे के काम आता है. कोरोना संकट के समय अक्सर हम ऐसे उदाहरण देख रहे हैं, जिसमें कई लोग धर्म, नस्ल या वर्ग भेद से ऊपर उठकर मानवता की सेवा में लगे हैं. कई राजनेता भी इस कार्य में लगे हैं, लेकिन बिहार बीजेपी के एक नेता ने इसी कोरोना क्राइसिस के दौर में मौत पर भी ऐसी राजनीति कर दी कि उनकी फजीहत तो हुई ही, पार्टी के अन्य नेताओं को भी इस कारण निंदा का सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के बड़े पुत्र आशीष येचुरी का कोरोना के कारण असामयिक निधन हो गया था. इसी को लेकर भाजपा के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता मिथिलेश तिवारी ने ट्वीट किया, ‘चीन के समर्थक सीताराम येचुरी के पुत्र की चीनी वायरस कोरोना से मौत.' बस क्या था बिहार में उनकी मानसिकता को लेकर तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आने लगीं.

मिथिलेश तिवारी के ट्वीट का स्क्रीन शॉट


सीपीएम नेता मनोज चंद्रवंशी ने कहा है कि मिथिलेश तिवारी के इस ट्वीट से न सिर्फ उनकी बल्कि भाजपा के राजनीतिक स्तर का पता चलता है, क्योंकि पार्टी ही ऐसे नेताओं को सह देती है. अन्य सीपीएम नेताओं ने कहा है कि बिहार भाजपा में थोड़ी भी शर्म बची है तो ऐसे नेताओं को पार्टी से बाहर करे. हालांकि, जब मिथिलेश तिवारी के इस ट्वीट को लेकर कई राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों, बुद्धिजीवियों ने सोशल मीडिया पर कड़ी निन्दा की तो उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दूसरे ट्वीट पर माफी मांगते हुए कहा कि उनका अकाउंट हैक कर लिया गया था.
आरजेडी ने मिथिलेश कुमार तिवारी के ट्वीट डिलीट करने पर हमला करते हुए बताया कि उन्होंने अपना ट्वीट भले ही डिलीट कर लिया हो, मगर उससे संघी संस्कारों की दुर्गंध नहीं मिटेगी. राष्ट्रीय जनता दल के ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ट्वीट डिलीट करने से संघी संस्कारों की दुर्गंध नहीं मिटती! PM हों, HM हों, विजयवर्गीय हों, गिद्धराज सिंह या कोई छुटभैया नेता, सबके एक से बढ़कर एक निम्नस्तरीय वक्तव्य खंगाल लीजिए, सबके यही संस्कार हैं! बजबजाते कूड़ेदान के कूड़ेदान अटे पड़े हैं इनके बदबूदार बयानों से!

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के बड़े पुत्र आशीष येचुरी के निधन पर दुख व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने कहा है इस घटना से मैं स्तब्ध और दुखी हूं. मेरी संवेदनाएं सीताराम येचुरी और उनके परिवार के साथ है. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिरशांति तथा दुख की घड़ी में परिजनों को धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है. आशीष येचुरी के असामायिक निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने गहरा शोक एवं दु:ख व्यक्त किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज