अपना शहर चुनें

States

बिहार: 'अपराधियों को चौक-चौराहों पर मिले सजा', भाजपा सांसद ने की कानून बदलने की मांग

दिवंगत रूपेश कुमार सिंह व भाजपा सांसद जनार्दन सिग्रीवाल. (फाइल फोटो)
दिवंगत रूपेश कुमार सिंह व भाजपा सांसद जनार्दन सिग्रीवाल. (फाइल फोटो)

बीजेपी के सांसद जनार्दन सिग्रीवाल (BJP MP Janardan Sigriwal) ने कहा कि इस मामले में प्लानर का पकड़ा जाना बेहद जरूरी है. अगर कोई अपराध करता है तो उसमें यह खौफ भी होना जरूरी है कि उसे भी कठोर सजा मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 10:52 PM IST
  • Share this:
पटना. इंडिगो स्‍टेशन हेड रूपेश कुमार सिंह की 12 जनवरी को हुई हत्या (Rupesh Singh Murder) के बाद बिहार की सियासत में उफान है. बिहार के एनडीए सरकार (NDA Government) में शामिल बीजेपी नेता भी सरकार पर हमलावर हैं. पहले भाजपा नेता और पटना के बांकीपुर से विधायक नितिन नवीन (Nitin Naveen) ने कहा था कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) का माॅडल बिहार में भी जरूरी है. अब भाजपा के महाराजगंज सांसद जनार्दन सिग्रीवाल (BJP MP Janardan Sigriwal) ने कानून बदलकर अपराधियों को उसी अंदाज में सजा देने की मांग की है जिस तरह अपराध किया गया हो.

मीडिया से बात करतेत हुए महाराजगंज से बीजेपी के सांसद जनार्दन सिग्रीवाल ने कहा कि इस मामले में प्लानर का पकड़ा जाना बेहद जरूरी है. अगर को ई अपराध करता है तो उसमें यह खौफ भी होना जरूरी है कि उसे भी कठोर सजा मिलेगी. मैं तो कहूंगा कि अपराधियों को ठीक उसी तरह चौक-चौराहों पर टांगकर गोली मार देनी चाहिए जिस तरह से उनलोगों ने अपराध को अंजाम दिया है.

हालांकि सिग्रीवाल ने यह भी कहा कि कानून इसके लिए क्या इजाजत देता है, इसे भी देखा जाना चाहिए. अगर नहीं देता है तो कानून में परिवर्तन करने की आवश्यकता हो तो करना चाहिए. किसी भी सूरत में ऐसे अपराधियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए.




इस बीच रूपेश सिंह के बड़े भाई नर्वदेश्वर सिंह का कहना है कि इस हत्या का कारण क्या है, कैसे हत्या हुई, किन लोगों ने हत्या की? हम लोगों को जानकारी नहीं है. इनका व्यवहार ऐसा था कि कभी किसी से कोई भी विवाद हुआ ही नहीं. सबकी मदद किया करते थे. गांव में आते थे तो पहले अपने दरवाजे नहीं जाते थे, पूरे गांव में घूमते-घूमते जब वक्त मिलता तो अपने घर आते.

बता दें कि इस हत्याकांड में पुलिस को कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं. पुलिस सूत्रों के अनुसार सीसीटीवी कैमरे में मिले फुटेज के अनुसार अपराधियों ने एयरपोर्ट से ही रूपेश का पीछा करना शुरू कर दिया था. पूरे रास्ते अपराधी मौके की तलाश में थे, लेकिन रास्ता व्यस्त रहने से शूटरों ने हमला नहीं किया.

इसके बाद जैसे ही रूपेश ने अपनी गाड़ी गली की ओर घुमाई, अपराधी सक्रिय हो गए. फिर गाड़ी के अपार्टमेंट के सामने रुकते ही शूटरों ने गोलियां दागनी शुरू कर दीं. माना जा रहा है कि यह फुटेज पुलिस टीम के लिए काफी मददगार साबित होगी. इस मर्डर केस के हत्यारों को पकड़ने के लिए टेक्निकल सर्विलांस के अन्य तरीकों से भी एसटीएफ और पटना पुलिस की टीम जांच में जुटी हुई है.

पुलिस सूत्र बताते हैं कि जिस तरीके से इस वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे यह साफ है कि शूटर बेहद प्रोफेशनल थे. अपराधियों को यह पता था कि रूपेश कितने बजे एयरपोर्ट से निकलेंगे. सूत्र बताते हैं कि एयरपोर्ट के पास लगे कई कैमरों को पटना पुलिस की टीम ने खंगाला है. वहां से मिले फुटेज से भी अहम सुराग हाथ लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज