लाइव टीवी

साइबर अपराधियों पहले फर्जी वेबसाइट बनाई, फिर नौकरी का विज्ञापन निकाल वसूल ली मोटी रकम
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 20, 2020, 1:40 PM IST
साइबर अपराधियों पहले फर्जी वेबसाइट बनाई, फिर नौकरी का विज्ञापन निकाल वसूल ली मोटी रकम
साइबर अपराधियों ने फर्जी वेबसाइट बनाकर सुपरवाइजर समेत तीन पदों का निकाल दिया विज्ञापन

इसके फर्जी होने का खुलासा तब हुआ जब बहाली के लिए अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड या कोई अन्य सूचना नहीं आई. तब अभ्यर्थियों ने विभाग के फोन पर जानकारी लेनी शुरू की.

  • Share this:
पटना. बिहार में साइबर अपराधियों (Cyber criminals) ने एक बार फिर बिहार सरकार के पंचायती राज विभाग का फर्जी वेबसाइट (Fake website of Panchayati Raj Department) बना दिया. यही नहीं विभाग के अधीन मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से मिलती-जुलती फर्जी वेबसाइट बनाने के बाद उस पर सुपरवाइजर, नल-जल पंप ऑपरेटर टेक्नीशियन पदों पर बहाली के लिए विज्ञापन भी निकाल दिया. सबसे खास बात ये कि बेरोजगार अभ्यर्थियों ने नौकरी की तलाश में इस फर्जी वेबसाइट को ही विभाग की ओरिजिनल वेबसाइट मानकर ऑनलाइन आवेदन (Online Application) दे दिया और इन पदों के लिए जो फीस मांगी गई थी, उसका भी भुगतान कर दिया.

ऐसे हुआ मामले का खुलासा
इसके फर्जी होने का खुलासा तब हुआ जब बहाली के लिए अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड या कोई अन्य सूचना नहीं आई. तब अभ्यर्थियों ने विभाग के फोन पर जानकारी लेनी शुरू की और तब जाकर अधिकारियों का पता चला कि पंचायती राज विभाग का फर्जी वेबसाइट बना दिया गया है.

सचिवालय थाना में दर्ज हुआ मामला



विभाग ने आईटी सेल से चेक कराया तो ये बात सही निकली कि फर्जी वेबसाइट बना दी गई है. मामले का खुलासा होने के बाद विभाग के कार्यपालक अभियंता धीरज कुमार सिंह ने सचिवालय थाना में अज्ञात साइबर अपराधियों के खिलाफ सचिवालय थाना में मामला (कांड सं. 45/2020) दर्ज करवा दिया है.

मामले की तफ्तीश में जुटी पुलिस
अवर थानेदार संजय पासवान ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है और साइबर सेल से मदद से इस बात का पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इस फर्जी वेबसाइट का आईपी एड्रेस क्या है, किसने बनाया और कैसे बनाया? पुलिस मामले की छानबीन करने में जुटी है.

हूबहू बना दी फर्जी वेबसाइट
गौरतलब है कि ओरिजनल वेबसाइट www.biharprd.bih.nic.in है, जबकि www.gov.biharprd.in फर्जी है. जाहिर है साइबर अपराधियों ने पंचायती राज विभाग का एकदम मिलता जुलता फर्जी वेबसाइट बना दिया है. खास बात ये कि जिस तरह विभाग के वेबसाइट का पेज है, शातिरों ने इस फर्जी वेबसाइट को भी ठीक इसी तरह डिजाइन किया है.

कई बार कर चुके हैं ऐसी हरकत
दरअसल यह कोई पहला मामला है जिसमें साइबर अपराधियों ने विभाग की या किसी संस्थान की ओरिजनल से मिलती-जुलती नकली वेबसाइट बनाई हो. इससे पहले पटना हाईकोर्ट का भी शातिरों ने फर्जी वेबसाइट बना लिया था, जिसका केस कोतवाली थाना में दर्ज हुआ था. पिछले साल दिसंबर माह में ही शातिर अपराधियों ने बेलट्रॉन का फर्जी वेबसाइट बनाकर आईटी ब्वॉय पद के लिए बहाली के लिए विज्ञापन निकाल दिया था.

'कोई बहाली नहीं निकाली गई है'
विभाग के कार्यपालक अभियंता ने कहा कि किसी पद की बहाली नहीं निकाली गई है. फर्जी वेबसाइट बनाकर शातिरों ने ठगने के लिए यह सब किया है. युवक या उनके परिजन इन शातिरों के झांसे में न आएं. अगर किसी से ठगी हुई है तो वे स्थानीय थाना में केस दर्ज करा सकते है.

ये भी पढ़ें


लालू के मास्टरप्लान से महागठबंधन में हड़कंप! तैयार है RJD का ये 'ब्रह्मास्त्र'




Coronavirus: आज से बंद रहेगा पटना का गांधी मैदान, पासपोर्ट कार्यालय में भी कामकाज पर रोक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 1:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर