आपके व्हाट्सएप्प पर रहेगी बिहार पुलिस कि निगाहें, बन रहा है 'साइबर सेनानी समूह'

‘साइबर सेनानी समूह’ में जागरुक और जिम्मेदार नागरिक सदस्य होंगे और वे सोशल मीडिया के माध्यम से नकारात्मक ओर भ्रामक संदेशों का खंडन करेंगे.

News18 Bihar
Updated: August 11, 2018, 6:24 AM IST
आपके व्हाट्सएप्प पर रहेगी बिहार पुलिस कि निगाहें, बन रहा है 'साइबर सेनानी समूह'
फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: August 11, 2018, 6:24 AM IST
बिहार पुलिस ने व्हाट्सएप्प के साइड इफेक्ट से बचने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है. बिहार के अंदर तीन लेवल पर ‘साइबर सेनानी समूह’ बनाया जाएगा. ये समूह व्हाट्सऐप पर काम करेगा. एक ग्रुप थाना लेवल पर, दूसरा ग्रुप अनुमंडल लेवल पर और तीसरा ग्रुप जिला लेवल पर बनाया जाएगा.

साइबर सेनानी समूह बनाने के लिए डीजीपी केएस द्विवेदी की ओर से एक आदेश जारी किया गया है. दरअसल, ये पूरी कवायद सोशल मीडिया के तेजी से बढ़ते दुष्प्रभाव की वजह से की जा रही है. पूरे देश की तरह बिहार में भी मोबाइल और इंटरनेट का उपयोग बढ़ता जा रहा है. सोशल मीडिया का उपयोग करने वाले भी करोड़ों की संख्या में है. इनमें व्हाट्सऐप की भूमिका विशेष रुप से महत्वपूर्ण है. लेकिन हाल के दिनों में गलत और भ्रामक सूचनाएं व्हाट्सऐप पर तेजी से वायरल हो रही हैं जिससे कानून-व्यवस्था और सामाजिक सौहार्द पर असर पड़ता है.

‘साइबर सेनानी समूह’ में जागरुक और जिम्मेदार नागरिक सदस्य होंगे और वे सोशल मीडिया के माध्यम से नकारात्मक ओर भ्रामक संदेशों का खंडन करेंगे. साइबर सेनानी समूह के माध्यम से पुलिस और जनता के बीच बेहतर संवाद स्थापित किया जाएगा. इसके साथ ही साथ समाज में सौहार्द, शांति स्थापित करे, अफवाहों को रोकने के मदद मिलेगी.

साइबर सेनानी समूह में थाना स्तर पर सौ स्थानीय व्यक्तियों को जोड़ा जाएगा और अनुमंडल स्तर पर बनने वाले दूसरे ग्रुप में कम से कम दो सौ स्थानीय लोगों व्हाट्सऐप ग्रुप से जोड़ा जाएगा, जबकि जिला स्तर पर एसएसपी-एसपी तीसरा ग्रुप बनाएंगे, जिसमें क्षेत्रीय पुलिस उप-महानिरीक्षक/क्षेत्रीय पुलिस उप-महानिरीक्षक भी सदस्य होंगे.​

ये भी पढ़ें- 
मुज़फ्फरपुर चिल्ड्रेन होम बन गया हॉरर होम, देखिए अंदर की पहली तस्वीरें
मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप केस: मामले की जांच को पहुंची सीबीआई की 12 सदस्यीय टीम
बालिका गृह यौन शोषण मामले पर बोलीं मंत्री- सरकार की जांच में ही हुआ खुलासा
News18 Special: प्रशासन की नाक के नीचे खेला गया यौन शोषण का घिनौना खेल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर