दानापुर बनारस इंटरसिटी एक्सप्रेस हादसा! 5 की मौत, 15 घायल, जानें पूरा सच

दानापुर बनारस इंटरसिटी एक्सप्रेस हादसा एक मॉक ड्रिल थी.

दानापुर बनारस इंटरसिटी एक्सप्रेस हादसा एक मॉक ड्रिल थी.

दानापुर बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस (Danapur Banaras Intercity Superfast Express)दुर्घटनाग्रस्त होने को लेकर हड़कंप मचा हुआ है. हालांकि यह किसी आपदा से निपटने के लिए मॉक ड्रिल थी. इस घटना की जानकारी मिलने के बाद पटना पुलिस और एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची, तो लोगों की भीड़ भी वहां मौजूद थी.

  • Share this:
दानापुर. बिहार के दानापुर में दानापुर बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस (Danapur Banaras Intercity Superfast Express) दुर्घटनाग्रस्त हो गई है. इस दौरान एक एसी बोगी और एक एसएलआर बोगी एक दूसरे पर चढ़ने के कारण 5 यात्रियों की मौत होने की पुष्टि दानापुर डीआरएम सुनील कुमार ने की है. जबकि इस हादसे में 15 यात्री घायल हुए हैं, जिसमें से सात की हालत गंभीर है. आप सोच रहे हैं कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी इसको लेकर कोई हंगामा नहीं हो रहा है. दरअसल, यह मॉक ड्रिल थी.

दानापुर बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस (05125) का यह एक्सीडेंट दानापुर स्टेशन के पास जमालुद्दीन चक में करवाया गया और उसके बाद मॉक ड्रिल हुई. रेलवे और एनडीआरएफ की संयुक्त टीम ने इस मॉक ड्रिल के बारे में किसी को नहीं बताया था. हालांकि इस एक्सीडेंट की खबर पूरे स्टेट में फैल गई. इस दौरान न सिर्फ पटना पुलिस बल्कि एनडीआरएफ की टीम भी पहुंची. जबकि स्‍थानीय अग्निशमन के साथ-साथ एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर तुरंत पहुंच गई थी, जिसे पहले से तैयार किया गया था.

ऐसे चला रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन

बहरहाल, इस घटना को देखने के लिए भीड़ जुट गई थी. जबकि ट्रेन की एक दूसरे पर चढ़ी बोगी को रेलवे बचाव दल और एनडीआरएफ की टीम ने न सिर्फ उतारा बल्कि उसके अंदर फंसे यात्रियों को भी निकाला गया. यही नहीं, इसके बाद ट्रेन की दो बोगियों को काटकर ट्रेन को गंतव्य स्थान के लिए भेज दिया गया. जबकि यह पूरा मॉक ड्रिल कई घंटे चला और इसे घटना की तरह ट्रीट किया. जबकि रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के साथ लोगों को बचाकर पीएमसीएच भेजा गया. इस दौरान दानापुर डीआरएम और एनडीआरएफ के कमांडेंट भी मौजूद थे. इसके साथ-साथ एसआरपीके एसपी और स्टेट पुलिस बल भी मौजूद था.
दानापुर डीआरएम सुनील कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि हमने मॉक ड्रिल आयोजित की थी, जिसमें दानापुर बनारस एक्सप्रेस को दुर्घटनाग्रस्त बताकर फ्लैश कराया. इसमें एनडीआरएफ की भी टीम शामिल थी. इस हादसे में 15 घायल और 5 की मृत्यु दिखाई थी. इसके बाद यह ऑपरेशन चला जिसे पूरी सफलता के साथ अंजाम दिया गया.

एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेन्ट अभिषेक कुमार राय ने बताया,'सुबह सूचना मिली थी कि एक ट्रेन  दुर्घटनाग्रस्त हुई इसमें कुछ यात्री घायल हुए हैं. इसके बाद हमारी 45 की संख्या में टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई. इसके बाद मॉक ड्रिल में रेलवे और हमारी टीम ने अन्‍य एजेंसियां के साथ मिलकर काम किया और लोगों का रेस्क्यू किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज