Home /News /bihar /

दरभंगा ब्लास्ट: मास्टरमाइंड सलीम से बेउर जेल में NIA की टीम आज कर सकती है पूछताछ

दरभंगा ब्लास्ट: मास्टरमाइंड सलीम से बेउर जेल में NIA की टीम आज कर सकती है पूछताछ

न्यायालय ने इमरान और नासिर न्यायिक हिरासत में 23 जुलाई तक के लिए बेउर जेल भेज दिया है. (फाइल फोटो)

न्यायालय ने इमरान और नासिर न्यायिक हिरासत में 23 जुलाई तक के लिए बेउर जेल भेज दिया है. (फाइल फोटो)

Darbhanga Parcel Bomb Blast: दरभंगा ब्लास्ट के संदिग्ध आरोपी इमरान और उसके भाई नासिर की न्यायिक हिरासत की अवधि 23 जुलाई तक बढ़ी. सलीम से जेल में पूछताछ के लिए NIA ने कोर्ट से मांगी अनुमति.

पटना. दरभंगा पार्सल बम ब्लास्ट (Darbhanga Parcel Bomb Blast) मामले के मास्टरमाइंड हाजी सलीम उर्फ माे. सलीम से एनआईए की टीम  बेउर जेल में ही पूछताछ करेगी. प्राेस्ट्रेट की शिकायत हाेने की वजह से यूपी के कैराना से गिरफ्तार करने के बाद एनआईए (NIA) की टीम उसे एक बार भी रिमांड पर नहीं ले जा सकी है. फिलहाल सलीम बेउर जेल के हाॅस्पिटल सेल में बंद है. वहीं, शुक्रवार काे एनआईए ने इमरान और उसके भाई नासिर (Imran And Nasir) काे एटीएस दफ्तर से कोर्ट ले गई और दाेनाें काे एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया. एनआईए ने इन दाेनाें काे रिमांड पर लेने के लिए आवेदन नहीं दिया, जबकि सलीम से जेल में पूछताछ के लिए अनुमति मांगी गई है. अदालत ने सलीम से जेल में पूछताछ के लिए एनआईए काे अनुमति दे दी है.

न्यायालय ने इमरान और नासिर न्यायिक हिरासत में 23 जुलाई तक के लिए बेउर जेल भेज दिया है. इन दाेनाें काे एनआईए दाे बार रिमांड पर लेकर पूछताछ कर चुकी है. वहीं, इस मामले के एक और आराेपी कफिल भी बेउर जेल में बंद है. इन चाराें की न्यायिक हिरासत 23 जुलाई तक बढ़ा दी गई है. 23 जुलाई काे इन चाराें की फिर एनआईए की विशेष अदालत में पेशी हाेगी.- तलाशी में इमरान और नासिर के बैग से मिला ब्लूटुथ, ईयर फाेन और चार पाॅकेट सिगरेट काेर्ट में पेश करने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच इमरान और उसके भाई नासिर काे एनआईए  बेउर जेल लेकर पहुंची. जेल में जब दाेनाें के बैग की तलाशी ली गई ताे एक ब्लू टुथ, एक ईयर फाेन और चार पाॅकेट सिगरेट मिले. हालांकि, दाेनाें भाई इन सामान काे अपना बताने से इनकार कर दिया. जेल सूत्राें के अनुसार, जेल प्रशासन ने ब्लू टुथ, ईयर फाेन और चार पाॅकेट सिगरेट काे जब्त कर लिया. दाेनाें काे  एनआईए  के वार्ड में अलग-अलग रखा गया है. कफिल भी एनआईए  वार्ड में है.

कपड़े की ली गई तलाशी
इमरान और नासिर के जेल पहुंचने के बाद दाेनाें के कपड़े की तलाशी ली गई. जाे कपड़े बैग में लेकर आए थे, उसकी भी तलाशी हुई. जेल प्रशासन काे शक था कि कहीं इन दाेनाें ने कपड़े में कहीं चिप्स आदि ताे नहीं लगा दिया हाे. बैग काे जब्त करने के बाद उनके कपड़े दे दिए गए. दाेनाें का एंटीजन टेस्ट भी हुआ. दाेनाें की रिपाेर्ट निगेटिव थी. इससे पहले दाेनाें का मेडिकल कराने के बाद एनआईए ने काेर्ट में पेश किया था.

बेउर जेल में 20 आतंकी हैं बंद, जेल की सुरक्षा की गई सख्त
बेउर जेल में गांधी मैदान और बाेध गया क़सीरियल ब्लास्ट के कुल 16 आतंकी बंद हैं. दरभंगा के चार और इसी जेल में हैं. पटना, बाेध गया और दरभंगा ब्लास्ट के कुल 20 आतंकियाें के बेउर जेल में बंद रहने की वजह से वहां की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इन चाराें के सेल के आसपास पुलिस का सख्त पहरा लगा दिया गया है. जेल के टावर और चहारदीवारी के पास कारा सुरक्षाकर्मी अलर्ट माेड में हैं.

उधर, इमरान और नासिर की पेशी काे लेकर काेर्ट की सुरक्षा की बढ़ा दी गई थी. सुबह से ही वहां जवनाें की तैनाती कर दी गई थी. 17 जून काे हैदराबाद-सिकन्दराबाद एक्सप्रेस से कपड़े के बंडल दरभंगा स्टेशन पर आया था. कपड़े के बंडल काे जब प्लेटफार्म पर उतारा गया, वैसे ही ब्लास्ट हाे गया था. शुरू में इस मामले की जांच दरभंगा जीआरपी और आरपीएफ की टीम कर रही थी. एटीएस की टीम भी इसकी जांच में लगी हुई थी. लेकिन बाद में एनआए ने जांच का जिम्मा ले लिया. मामला दिल्ली में दर्ज हुआ और उसके बाद इसमें एनआईए लगातार जांच में जुटी हुई है.

Tags: Darbhanga Blast, NIA Court, Terrorists

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर