लालू की बेटी रोहिणी ने पॉलिटिक्स को नकारा, बोलीं- पटना आने का मतलब MP-MLA बनना नहीं

लालू की बेटी रोहिणी भले ही सामने नहीं आती हों लेकिन वो सोशल मीडिया में अपने पिता और उनकी पार्टी राजद के लिए लगातार कुछ लिखते रहती हैं.

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: July 17, 2019, 4:46 PM IST
लालू की बेटी रोहिणी ने पॉलिटिक्स को नकारा, बोलीं- पटना आने का मतलब MP-MLA बनना नहीं
अपनी मां राबड़ी देवी और भाई तेजप्रताप यादव के साथ रोहिणी (तस्वीर- साभार फेसबुक)
Amrendra Kumar
Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: July 17, 2019, 4:46 PM IST
राजद सुप्रीमो और पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव की एक और बेटी रोहिणी आचार्या के राजनीति में आने की खबरें इनदिनों मीडिया में तेजी से फैल रही हैं. कई मीडिया हाउस ने दावा किया है कि मीसा की तर्ज पर लालू की दूसरी बेटी रोहिणी भी राजनीति में एंट्री की तैयारी में हैं और उनकी नजरें अगले साल होने वाले राज्यसभा चुनाव पर हैं. लेकिन मीडिया में आई रिपोर्ट्स का खुद रोहिणी ने खंडन किया है.

रोहिणी ने लिखा
फेसबुक, ट्विटर समेत सोशल साइट्स पर काफी एक्टिव रहने वाली रोहिणी ने साफ कर दिया है कि उनका इरादा राजनीति में आने का नहीं है. रोहिणी ने लिखा है- 'साथियों राज्यसभा सीट को लेकर मेरा नाम जोड़ा जा रहा है. मैं स्पष्ट करना चाहती हूं कि सक्रिय राजनीति में आने का मेरा कोई इरादा नहीं है. बिहार मेरा घर है. मेरी भावना है. मेरी जन्मभूमि है. जाहिर है आना - जाना लगा रहेगा. पापा और परिवार से मिलने पटना आती रहती हूं. मेरे पटना आने को सांसद - विधायक बनने की महत्वाकांक्षा से न जोड़ा जाये. मीडिया वालों से अनुरोध है बिना जानकारी के कुछ भी न लिखें. यह जरूरी नहीं है कि सिर्फ सांसद , विधायक बनना ही राजनीति है. लोगों के हक - अधिकार के लिए आवाज उठाना सामाजिक एवं राष्ट्रीय कर्तव्य है. मैं राजनीतिक परिवार से हूं, राजद सामाजिक न्याय की वकालत करने वाला ऐतिहासिक राजनीतिक दल है. स्पष्ट है कि मैं पार्टी का समर्थन करती हूं. सोशल मीडिया पर लिखना, लोगों की आवाज बुलंद करना, पार्टी को सहयोग करना, पापा का ख्याल रखना, मीसा दीदी-तेज-तेजस्वी को सहयोग करना मेरा उद्देश्य है. यह मैं करती रहूंगी. बिहार मेरी जन्मभूमि है और इसके स्वाभिमान की रक्षा के लिए मैं आवाज उठाती रहूंगी. मीडिया वालों से अनुरोध है मनगढ़ंत बातों को न लिखें.


मीडिया हाउस का दावा
राजद से जुड़े सूत्रों से मिली जानकारी के बाद कुछ मीडिया हाउस ने दावा किया था कि अंदरखाने चल रही चर्चा के मुताबिक रोहिणी राज्यसभा में जाना चाहती हैं. दरअसल अगले साल यानि अप्रैल 2020 में बिहार से राज्यसभा की सीटें खाली हो रही हैं और इस चुनाव में राजद को एक सीट मिल सकती है. इसी सीट को लेकर लालू की बेटी रोहिणी का नाम तेजी से उछल रहा है. लालू की बेटी रोहिणी भले ही सामने नहीं आती हों लेकिन वो सोशल मीडिया में अपने पिता और उनकी पार्टी राजद के लिए लगातार कुछ लिखते रहती हैं. रोहिणी फिलहाल अपने पति समरेश सिंह के साथ सिंगापुर में रहती हैं.

राजद में रोहिणी आचार्या
लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के साथ रोहिणी आचार्या
Loading...

(फोटो- फेसबुक)


लालू की चहेती हैं रोहिणी
रोहिणी के पति सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और वो मल्टी नेशनल कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. रोहिणी का लालू से काफी लगाव है और अन्य बेटियों की तरह वो भी पटना आती-जाती रहती हैं. रोहिणी लोकसभा चुनाव के समय से ही कई दफा पटना आ चुकी हैं लेकिन वो चुनाव प्रचार से भी काफी दूर थीं. रोहिणी ने अपनी पार्टी के लिए लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया के जरिये अभियान चलाया था. वो जेल में बंद अपने पिता से मिलने रांची भी गई थीं.

मां राबड़ी देवी के साथ रोहिणी आचार्या


लालू की बेटी एमपी तो बेटे हैं एमएलए
मीसा की तरह ही रोहिणी भी खुद डॉक्टर हैं. लालू यादव के परिवार की बात करें तो उनकी पत्नी राबड़ी देवी समेत बड़ी बेटी डॉ. मीसा भारती, पुत्र तेजप्रताप और तेजस्वी पहले से ही बिहार की सक्रिय राजनीति में हैं. लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद राजद में नेतृत्व को लेकर भी सवाल खड़े किए थे लेकिन पार्टी के नेताओं ने एक स्वर से तेजस्वी पर ही भरोसा जताया था. लालू परिवार में पहले से ही उत्तराधिकार के लिए चल रही लड़ाई के बीच रोहिणी की संभावित एंट्री ने सियासी गलियारे में हलचल मचाने की कोशिश की थी लेकिन रोहिणी ने फिलहाल इन कयासों को सिरे से नकार दिया है. चल रही है। तेजस्वी, तेजप्रताप और मीसा भारती के बीच राजद पर वर्चस्व के लिए होड़ चल रही है.
First published: July 17, 2019, 2:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...