लाइव टीवी

पटना पुलिस का बेतुका बयान, कहा- जहां डेंगू मच्छर ने काटा वहां दर्ज करवाएं केस

News18 Bihar
Updated: October 19, 2019, 4:37 PM IST
पटना पुलिस का बेतुका बयान, कहा- जहां डेंगू मच्छर ने काटा वहां दर्ज करवाएं केस
पीरबहोर थानाध्यक्ष पर मृतक के परिजनों ने केस नहीं दर्ज करने का आरोप लगाया है.

डेंगू पीड़ित लड़की की मौत हो जाने के बाद जब उसके परिजन इसकी एफआईआर (FIR) दर्ज करवाने गए तो पीरबहोर थानाध्यक्ष ने बेतुका नसीहत देते हुए कहा कि जहां डेंगू (Dengue) मच्छर ने काटा है उसी थाने में केस दर्ज करवाएं.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) के सबसे बड़े अस्पताल पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल (PMCH) पर एक बार फिर लापरवाही का गंभीर आरोप लगा है. यहां एक मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि अस्पताल की लापरवाही की वजह से डेंगू पीड़ित (Dengue Patient) अर्चना कुमारी की मौत हो गई. उनका आरोप है कि इस मामले में जब वो एफआईआर (FIR) दर्ज करवाने गए तो थानाध्यक्ष ने बेतुका नसीहत देते हुए कहा कि जहां डेंगू (Dengue) मच्छर ने काटा है उसी थाने में केस दर्ज करवाएं.

केस दर्ज करवाना चाहते हैं परिजन
परिजनों का आरोप है कि पीएमसीएच की जांच रिपोर्ट में डेंगू नन-रिएक्टिव निकला, जबकि पटना के एक निजी अस्पताल ने अर्चना की मौत का कारण डेंगू बताया है. कंकड़बाग स्थित एक निजी अस्पताल ने डेंगू से मौत सर्टिफिकेट भी जारी किया है. इसी आधार पर वो पीएमसीएच के साथ अन्य संबंधित पक्षों पर केस दर्ज करवाना चाहते हैं.

एसएसपी से भी लगा चुके हैं गुहार

पीएमसीएच राजधानी के पीरबहोर थाना क्षेत्र में आता है इसलिए परिजन यहीं केस दर्ज करवाना चाहते थे. वो चाहते हैं कि इसमें स्वास्थ्य विभाग के मंत्री, प्रधान सचिव और पीएमसीएच के अधीक्षक को आरोपी बनाया जाए. परिजनों का आरोप है कि थानाध्यक्ष रिजवान अहमद ने सीमा का हवाला देते हुए केस दर्ज करने से इनकार कर दिया. इसके बाद परिजनों ने एसएसपी से भी गुहार लगाई लेकिन यहां भी मामला दर्ज नहीं हो सका है.

पीएमसीएच पर गलत रिपोर्ट देने का आरोप
बता दें कि कंकड़बाग के अशोक नगर की रहने वाली अर्चना कुमारी को तेज बुखार के बाद परिजनों ने बीते 10 अक्टूबर को पीएमसीएच में भर्ती कराया था. यहां जांच में डेंगू नन-रिएक्टिव निकला. इसके बावजूद अर्चना की हालत लगातार खराब होती चली गई.
Loading...

निजी क्लिनिक में पॉजिटिव निकला डेंगू
जब हालत बिगड़ गई तो 13 अक्टूबर को परिजनों ने अर्चना को कंकड़बाग स्थित श्रीराम हॉस्पिटल में भर्ती कराया. यहां जांच में डेंगू पॉजिटिव निकला. हालांकि उसका इलाज किया गया, इसके बावजूद मरीज की स्थिति बिगड़ती गई थी जिससे 16 अक्टूबर को अर्चना की मौत हो गई. अर्चना की मौत के लिए उसके परिजनों ने लचर सरकारी सिस्टम को जिम्मेदार ठहराया है.

(इनपुट- संजय कुमार)

ये भी पढ़ें- 

पटना: इस मोहल्ले के लोग दरिया में मनाएंगे दिवाली! जानें क्या है मजबूरी

अर्धनग्न हालत में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, रेप कर हत्या की जताई आशंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 1:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...