लाइव टीवी

Delhi Fire: बिहार के मरने वालों की संख्या 36 हुई, एंबुलेंस से लाए जा रहे शव

News18 Bihar
Updated: December 10, 2019, 9:37 AM IST
Delhi Fire: बिहार के मरने वालों की संख्या 36 हुई, एंबुलेंस से लाए जा रहे शव
दिल्ली अग्निकांड में बिहार के मरने वालों की संख्या 36 हो गई है.

मरने वालों में सबसे अधिक समस्तीपुर के 12 लोग शामिल हैं. सहरसा के 09, सीतामढ़ी के 06, मुजफ्फरपुर के 03, दरभंगा के 02 और बेगूसराय, मधेपुरा, अररिया और मधुबनी के एक एक व्यक्ति शामिल हैं.

  • Share this:










पटना. नई दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी (Anaj Mandi) में रविवार सुबह लगी भीषण आग में जान गंवाने वाले बिहार के लोगों की संख्या 36 पहुंच गई है. इस बीच उनके शवों को आज बिहार लाया जा रहा है. शवों (Dead body) को सड़क मार्ग से एंबुलेंस में रखकर ले लाया जाएगा. दरअसल परिजनों की इच्छा के अनुसार अंत्येष्टि के लिए मृतकों को बिहार लाया जा रहा है. हालांकि मृतकों के परिजनों ने ट्रेन से शवों को भेजने पर ऐतराज किया था, इसलिए ये व्यवस्था की गई है.

मृतकों में सबसे अधिक समस्तीपुर के
बता दें कि मरने वालों में सबसे अधिक समस्तीपुर के 12 लोग शामिल हैं. सहरसा के 09, सीतामढ़ी के 06, मुजफ्फरपुर के 03, दरभंगा के 02 और बेगूसराय, मधेपुरा, अररिया और मधुबनी के एक एक व्यक्ति शामिल हैं. मिली जानकारी के अनुसार हादसे में मृत लोगों में से  दो शवों की पहचान नहीं हो सकी है. आशंका है कि ये दोनों भी बिहार के ही हैं. अगर ऐसा होता है तो बिहार के मृतकों की संख्या 38 तक पहुंच सकती है.

बिहार सरकार देगी मुआवजा
मिली जानकारी के अनुसार सोमवार की देर रात तक अधिकतकर मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम करवाया जा चुका है. बता दें कि बिहार सरकार की घोषणा के मद्देनजर हरेक मृतक के निकटतम परिजनों को दो-दो लाख का अनुग्रह अनुदान दिया जाएगा. इसमें एक लाख सीएम सहायता कोष से तो एक लाख श्रम संसाधन विभाग की प्रवासी मजदूर योजना से दी जाएगी.

ये भी पढ़ें

Delhi Fire: एक झटके में बुझ गए परिवार के दोनों चिराग, तीन अब भी अस्पताल में

Delhi Fire: नमाज ने बचाई युवक की जान, लौटा तो जान गंवा चुके थे दोनों पड़ोसी









News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 9:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर