लाइव टीवी

पटना में जलजमाव के बाद डेंगू का कहर, अब तक 1900 से अधिक मरीज पहुंचे अस्पताल

Deepak Priyadarshi | News18 Bihar
Updated: October 21, 2019, 6:23 PM IST
पटना में जलजमाव के बाद डेंगू का कहर, अब तक 1900 से अधिक मरीज पहुंचे अस्पताल
पटना के कई इलाकों में अब भी जलजमाव की समस्या से परेशान हैं लोग. (फाइल फोटो)

बिहार की राजधानी पटना (Patna) में जलजमाव की शिकायतें अभी दूर भी नहीं हुई थीं कि डेंगू (Dengue) के कहर ने लोगों में दहशत भर दी है. सिर्फ पटना में ही लगभग 2 हजार लोग इस बीमारी से पीड़ित होकर अस्पताल पहुंच चुके हैं. राजधानी के हालात पर नगर निगम (Patna Municipal Corporation) और प्रशासनिक सुस्ती को देख पटना हाईकोर्ट (Patna High Court) को दखल देना पड़ रहा है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना (Patna) के लोग इन दिनों बेहद संकट के दौर से गुजर रहे हैं. कुछ समय पहले जलजमाव (Water Logging) के दंश ने इतना रुलाया कि लोग त्राहि-त्राहि कर उठे. इससे अभी राहत भी नहीं मिली थी कि डेंगू (Dengue) के डंक ने इतनी दहशत भर दी है कि बुखार की आहट मिलते ही लोग सिहर जा रहे हैं. सिर्फ पटना में ही डेंगू मरीजों की संख्या 1900 के आसपास पहुंच चुकी है. राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच (PMCH) में डेंगू पीड़ितों की संख्या रोजाना बढ़ रही है. नगर विकास विभाग, पटना नगर निगम (Patna Municipal Corporation) और जिला प्रशासन मिलकर भी पटना के लोगों को संकट की इस स्थिति से राहत नहीं दिला पा रहे हैं. नौबत यहां तक पहुंच चुकी है कि राजधानी के हालात पर गौर करने के लिए पटना हाईकोर्ट (Patna High Court) तक को आगे आना पड़ रहा है.

स्मार्ट सिटी का हर इलाका प्रभावित
राजधानी पटना को स्मार्ट सिटी बनाने की योजना है. लेकिन शहर की हालत ऐसी है कि जरा सी बारिश भी विकराल रूप धारण कर ले रही है. सितंबर के आखिरी दिनों में भारी बारिश हुई. नतीजा यह हुआ कि पूरा पटना पानी-पानी हो गया. कोई ऐसा इलाका नहीं था, जहां घरों में पानी न हो और लोग पानी में न हों. राजेन्द्रनगर, कंकड़बाग, बहादुरपुर, गोला रोड की हालत तो और भी खराब थी. पांच से छह फीट पानी के बीच जिंदगियां त्राहिमाम कर रही थीं. चारों ओर से पानी में डूबे लोग दो बूंद पीने के पानी को तरस रहे थे. करीब 10 दिन के नारकीय जीवन को काटने के बाद और अब पानी के निकलने के बाद लोगों ने राहत की सांस तो ली लेकिन घरों की तबाही ने लोगों को फिर सड़कों पर लाकर खड़ा कर दिया. 25 दिन बीतने के बाद भी गोला रोड से पानी पूरी तरह निकला नहीं है. राजधानी में जलजमाव की वजह से 10 लाख से ऊपर की आबादी और 50 हजार से अधिक परिवार प्रभावित हुए. सरकार ने कुछ अधिकारियों को दोषी ठहराकर कार्रवाई कर दी. लेकिन सवाल यह है कि क्या सरकार की कार्रवाई से यह सुनिश्चित हो पाएगा कि अगले वर्ष ऐसी नौबत नहीं आएगी?

पटना में जलजमाव के बाद डेंगू के कहर से लोगों में दहशत है.


गंभीर हो रहा डेंगू का संक्रमण
पटना में जलजमाव की समस्या के बाद डेंगू ने अपना पांव पसारना शुरू कर दिया है. सिर्फ पटना में ही डेंगू के मरीजों की संख्या 1900 के आसपास पहुंच चुकी है. राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में संख्या रोजाना बढ़ रही है. पीएमसीएच माइक्रो बायोलॉजी विभाग में वायरो लैबोरेट्री के इंचार्ज डॉ. सच्चिदानंद कुमार के अनुसार, अभी तक 1800 से ऊपर डेंगू के पॉजीटिव केस आए हैं. चार हजार अधिक सैंपल की जांच की है. इसमें टायफायड, मलेरिया, चिकनगुनिया और जेई के केस भी शामिल हैं. हर दिन सौ से अधिक केस सामने आ रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की मानें तो अभी पूरे राज्य में ढाई हजार लोगों में डेंगू पॉजीटिव पाया गया है, लेकिन किसी की मौत नहीं हुई है.

एक-दूसरे पर थोप रहे जिम्मेदारी
Loading...

डेंगू के मामले में जलजमाव की ही तरह पटना नगर निगम और जिला प्रशासन एक-दूसरे पर दोष थोप रहे हैं. अब जबकि समस्या बढ़ती जा रही है, तो तैयारियों की समीक्षा हो रही है. जगह-जगह दौरे किए जा रहे हैं. लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है. जलजमाव के बाद ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव होना था, लेकिन पानी उतरने के बाद भी न तो फॉगिंग हुई और न छिड़काव किया गया. नगर निगम की अंदरूनी राजनीति ने लोगों की समस्याओं को अनसुना कर दिया. पटना नगर निगम में मेयर-डिप्टी मेयर और मेयर-नगर आयुक्त के बीच वर्चस्व की लड़ाई चल रही है. ऐसे में राजधानी को साफ-सुथरा रखने और बीमारियों से बचाने की फुर्सत किसी को नहीं है. इसलिए अब जबकि हालात बिगड़ने लगे हैं, तो संबंधित एजेंसियां एक-दूसरे पर जिम्मेदारी थोपना चाह रही हैं. आखिरकार पटना हाईकोर्ट ने हालात पर टिप्पणी करते हुए सरकार से जवाब मांगा है, लेकिन इससे कोई सकारात्मक परिणाम निकलेगा, इसकी उम्मीद करना कठिन है.

ये भी पढ़ें -

मुजफ्फरपुर में लूट के दौरान कपड़ा व्यवसायी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

कैंपस में हुई लड़कों की इंट्री तो पटना की सड़क पर उतर गई वीमेंस कॉलेज की लड़कियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 6:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...