लाइव टीवी

डिप्‍टी CM ने लालू पर कसा तंज, बोले- उनकी सोच केवल चरवाहा विद्यालय, लाठी और लालटेन तक थी
Patna News in Hindi

Neel kamal | News18 Bihar
Updated: January 28, 2020, 8:43 PM IST
डिप्‍टी CM ने लालू पर कसा तंज, बोले- उनकी सोच केवल चरवाहा विद्यालय, लाठी और लालटेन तक थी
लालू की सोच चरवाहा विद्यालय है- सुशील मोदी

डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kmar Modi) ने एक बार फिर आरजेडी और लालू प्रसाद यादव को निशाने पर लिया है. उन्‍होंने कहा कि लालू प्रसाद की सोच केवल चरवाहा विद्यालय, लाठी और लालटेन तक थी. इसके अलावा मोदी ने आरजेडी के पोस्‍टर को भद्दा करार दिया है.

  • Share this:
पटना. बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kmar Modi) ने एक बार फिर आरजेडी और लालू प्रसाद यादव को निशाने पर लिया है. आपको बता दें कि इस बार आरजेडी ने पोस्टर के जरिए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के 15 साल के शासन को जंगलराज बताने की कोशिश की है. इस मुद्दे पर सुशील मोदी ने आरजेडी के पोस्टर में लिखे शब्दों के साथ स्लोगन को भद्दा बताते हुए लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) और उनके बेटे तेजस्‍वी को घेरा है.

लालू प्रसाद यादव पर यूं साधा निशाना
डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद यादव ने 15 साल बिहार पर राज किया और वे पांच साल केंद्र की यूपीए सरकार में कद्दावर मंत्री भी रहे. इसके बावजूद पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय दर्जा क्यों नहीं दिलवा पाये? उन्होंने ने तेजस्वी यादव को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि विरोधी दल के नेता को जो सवाल बहुत पहले अपने माता-पिता से पूछना चाहिए था. वह सवाल वे राज्य सरकार से क्यों पूछ रहे हैं?

लालू की सोच चरवाहा विद्यालय

सुशील मोदी ने यह भी कहा कि लालू प्रसाद की सोच केवल चरवाहा विद्यालय, लाठी और लालटेन तक थी. इसलिए उन्होंने राज्य को कोई केंद्रीय विश्वविद्यालय देने की कोई बात सोची. ना तो आईआईटी (IIT) और ना ही आईआईएम (IIM) जैसे संस्थान बनाने का कोई प्रयास किया. आरजेडी के जो लोग स्कूली शिक्षा भी पूरी न कर पाए, वे आज विश्वविद्यालय की बात कर रहे हैं. राजनीतिक द्वेष के कारण आरजेडी को एनडीए सरकार की पहल से बने चाणक्य विधि विश्वविद्यालय, चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान और अन्तरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय नहीं दिखाई देते हैं.

NDA का पोस्टर जनता के दिल पर
सुशील मोदी ने आगे कहा कि इन उच्चस्तरीय संस्थानों को विकसित किया गया, जिससे बिहार से प्रतिभा और पूंजी का पलायन में काफी कमी आई है. लेकिन पलायन कराने वालों को ये काम अच्छे कैसे लगेंगे? राजद के लोग तो भद्दे पोस्टर लगा कर केवल अपनी नाकामी छिपाने की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन NDA की उपलब्धियों का पोस्टर जनता के दिल पर छा चुका है. 

ये भी पढ़ें-

मुझे मेरी बीवी से बचाओ, 'ब्‍लैकमेल' से परेशान पति ने लगाई गुहार

 

बिहार के इस जिले में रद्द हुई STET की पहली पाली की परीक्षा, जानिए पूरा मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 8:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर