Home /News /bihar /

डिप्टी सीएम ने कर दिया साफ, बिहार में नहीं होगा शराबबन्दी कानून में संशोधन, बताई वजह

डिप्टी सीएम ने कर दिया साफ, बिहार में नहीं होगा शराबबन्दी कानून में संशोधन, बताई वजह

बिहार के डिप्टी मेयर तारकिशोर प्रसाद ने शराबबंदी की समीक्षा की बातों को सिरे से खारिज कर दिया है

बिहार के डिप्टी मेयर तारकिशोर प्रसाद ने शराबबंदी की समीक्षा की बातों को सिरे से खारिज कर दिया है

Bihar Liquor Ban Review: बिहार में हाल के दिनों में लगातार शराबबन्दी कानून में संशोधन की खबरें राजनीतिक गलियारें में तैर रही हैं. सीएम नीतीश कुमार ने पिछले दिनों ही शराबबंदी कानून की समीक्षा की थी लेकिन अब डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने शराबबन्दी कानून में संशोधन वाली बातों को सिरे से खारिज कर दिया है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार में शराबबंदी कानून (Bihar Liquor Ban) में किसी भी तरह का संशोधन नहीं होगा और संशोधन के मामले में किसी भी तरह का विचार नहीं किया जा रहा है. यह कहना है बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (Deputy CM Tarkishore Prasad) का. बिहार में हाल के दिनों में जिस तरह से शराबबंदी को लेकर लगातार विपक्ष का सरकार पर हमला हो रहा है और बिहार सरकार के सहयोगी बीजेपी के मंत्री की तरफ से भी शराबबन्दी की समीक्षा की बातें की जा रही हैं उसके बाद इस तरह की खबरे सामने आने लगी थीं कि शराबबन्दी कानून में सरकार संसोधन ला सकती है लेकिन बिहार सरकार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने उन तमाम कयासों पर विराम लगा दिया है.

मंगलवार को पटना स्थित बीजेपी कार्यालय में युवा विंग के कार्यक्रम ब्लड डोनेशन में शामिल हुए तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि शराबबन्दी कानून पर एनडीए पूरी तरह से एकजुट है और शराबबन्दी कानून का पूरी तरह से पालन किया जाएगा. डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी जिसमें जीतन राम मांझी ने शराबबन्दी कानून की समीक्षा की बातें कही थी.

डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि पूर्व सीएम जीतन राम मांझी हमारे अभिभावक हैं. एनडीए के महत्वपूर्ण घटक दल है उन्होंने अपने विचार और सलाह दिये हैं लेकिन अभी तक एनडीए विधानमंडल में शराबबन्दी संशोधन पर कोई बात नहीं हुई है. दूसरी तरफ इसी मुद्दे पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल कुछ भी बोलने से बचते नजर आए.

नालंदा जहरीली शराब कांड में तेरह लोगों की मौत पर बिहार की सियासत पूरी तरह से गर्मा गई है. खास कर सत्तारूढ़ दलों के बीच जिस तरीके से बयानबाजी सामने आ रही है उससे एनडीए के घटक दलों के बीच स्थाई संबंधों को लेकर सवाल खड़ा हो गया है. बीजेपी हो या हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम), दोनों दलों के द्वारा शराबबंदी कानून को लेकर लगातार सवाल उठाये जा रहे हैं.

Tags: Bihar News, Liquor Ban

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर