Covid-19 महामारी के बावजूद बिहार में इस बार 2015 से अधिक हुआ मतदान

पिछले साल के लोकसभा चुनाव में 57.33 प्रतिशत मतदान हुआ था. (सांकेतिक फोटो)
पिछले साल के लोकसभा चुनाव में 57.33 प्रतिशत मतदान हुआ था. (सांकेतिक फोटो)

Bihar Assembly Elections: आंकड़ों के अनुसार तीन चरणों में समाप्त हुये मतदान में इस वर्ष महिला मतदाताओं (Female Voters) की संख्या (59.69 प्रतिशत) पुरुष मतदाताओं (54.68 फीसदी) की तुलना में अधिक रही.

  • Share this:
पटना. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के बावजूद इस बार बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में वर्ष 2015 की तुलना में अधिक लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इस बार प्रदेश में मतदान का प्रतिशत 57.05 रहा. निर्वाचन आयोग के आंकड़ों में यह स्पष्ट हुआ है. आयोग के आंकड़ों के अनुसार, बिहार में 2015 में हुये विधानसभा चुनाव में 56.66 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार (Voting Right) का इस्तेमाल किया था. वहीं, इस साल कोविड-19 के बावजूद 57.05 प्रतिशत मतदान हुआ.

आंकड़ों के अनुसार, तीन चरणों में समाप्त हुये मतदान में इस वर्ष महिला मतदाताओं की संख्या (59.69 प्रतिशत) पुरुष मतदाताओं (54.68 फीसदी) की तुलना में अधिक रही. इस वर्ष बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 7 नवंबर को अपेक्षाकृत अधिक मतदान हुआ. इस चरण में कोसी-सीमांचल, मिथिलांचल और तिरहुत के 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान हुआ था. तीसरे चरण के चुनाव में मतदान करीब 60 प्रतिशत हुआ, जबकि पहले चरण में 55.68 प्रतिशत और दूसरे चरण में मतदान का प्रतिशत 55.70 रहा था. पिछले साल के लोकसभा चुनाव में 57.33 प्रतिशत मतदान हुआ था.

किसी भी बूथ पर दोबारा मतदान नहीं
सूत्रों ने बताया कि तीसरे चरण के तहत जिन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ था, किसी भी निर्वाचन क्षेत्र में दोबारा मतदान का आदेश नहीं दिया गया है. उन्होंने कहा कि तीसरे चरण में चुनाव पर्यवेक्षकों और रिटर्निंग आफिसरों ने जांच पूरी कर ली है और किसी भी तरह की कोई सिफारिश नहीं की गई है. कोविड-19 महामारी के बीच देश में यह पहला बड़ा चुनाव था और इसके दृष्टिगत लोगों की सुविधा के लिए आयोग ने मतदान की अवधि इस बार एक घंटे बढ़ा दी थी.




एग्जिट पोल के नतीजे
बता दें कि बिहार में हुए विधानसभा चुनाव के बाद एग्जिट पोल में महागठबंधन जनादेश की ओर बढ़ता दिख रहा है. ऐसे में तेजस्वी यादव के मुख्यमंत्री बनने की संभावनाओं से भी उनके समर्थक इंकार नहीं कर रहे हैं. बिहार में शनिवार को तीसरे और अंतिम चरण का चुनाव समाप्त होने के बाद जब विभिन्न मीडिया हाउस ने अपने एग्जिट पोल (Exit Poll) के सर्वे जारी किए तो उसमें बिहार में महागठबंधन को बहुमत दिया जा रहा है. ऐसे में माना ये जा रहा है कि बिहार में इस बार सत्ता का परिवर्तन हो सकता है और नीतीश कुमार की जगह तेजस्वी यादव सीएम हो सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज