लाइव टीवी

11वीं में फेल हो गए थे बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय, 6वीं तक नहीं था अंग्रेजी का ज्ञान
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: February 27, 2020, 11:59 AM IST
11वीं में फेल हो गए थे बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय, 6वीं तक नहीं था अंग्रेजी का ज्ञान
बिहार के डीजीपी ने ये खुलासा पटना में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान किया (फोटो- फेसबुक)

डीजीपी (DGP) गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने कहा कि व‍ह फिजिक्स, कैमिस्ट्री जैसे विषयों में कमजोर थे. उन्‍होंने बताया कि छठी कक्षा तक उन्हें अग्रेजी के लेटर्स तक का ज्ञान नहीं था.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: February 27, 2020, 11:59 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) ने अपने जीवन को लेकर बुधवार को दिलचस्‍प लेकिन चौंकाने वाली जानकारी दी. डीजीपी के इस खुलासे से कार्यक्रम में मौजूद उनके अधिकारी और कर्मचारी भौंचक रह गए. दूसरी तरफ, पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा.

डीजीपी ने एक कार्यक्रम में कहा, 'मैं 11वीं में तो फेल हो गया था, लेकिन उसके बाद भी डीजीपी बन गया.' पुलिस अधिकारी से इतर बच्चों के गुरु बने डीजीपी ने पटना में अपने बारे में बताया तो सभी छात्रों ने उनकी तरह बनने का लिया संकल्प. पटना स्थित पुलिस मुख्य़ालय़ ऑडिटोरियम में छात्रों का हुजूम गुरु मंत्र लेने पंहुचा था. दरअसल, बुधवार को छात्रों के लिए खास तौर से क्लास का आयोजन किया गया था. छात्रों को गुरु मंत्र देने खुद प्रदेश के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय पहुंचे थे. शिक्षक बने डीजीपी साहब ने भले ही खाकी वर्दी पहन रखी थी, लेकिन उनकी भूमिका केवल और केवल गुरु के रूप में दिखी.

इन विषयों में थे कमजोर
गुरु मंत्र देने वाले डीजीपी ने साफगोई के साथ जब सच्चाई बयां करना शुरू किया तो हॉल में बैठे सैकड़ों छात्र ने तालियां बजाकर उनका स्‍वागत किया. डीजीपी ने अपने जीवन की सबसे बड़ी सच्चाई का खुलासा करते हुए बताया कि वे औसत से भी नीचे के छात्र थे और ग्यारहवीं में फेल हो गए थे. डीजीपी ने कहा कि मेरे फेल होने का कारण था फिजिक्स, कैमिस्ट्री जैसे विषयों में कम जानकारी. गुप्तेश्वर पांडेय ने यह भी खुलासा किया कि छठी कक्षा तक उन्हें अग्रेजी के लेटर तक का ज्ञान नहीं था.



औसत छात्र भी बन सकते हैं अधिकारी
जब न्यूज़ 18 की टीम ने डीजीपी गुप्‍तश्‍वर पांडेय से इस बारे में पूछा तो उन्‍होंने कहा कि उनकी बातों को सकारात्मक रूप में लिया जाना चाहिए. डीजीपी का कहना है कि उन्होंने छात्रों को यह बात इसलिए बताई ताकि जब उनके जैसा औसत से भी निम्न छात्र डीजीपी बन सकता है तो आज के होनहार छात्र मेहनत के बल पर क्या नहीं हासिल कर सकते हैं?

बच्चों ने लिया संकल्प
डीजीपी के गुरुमंत्र से वहां मौजूद 500 से अधिक छात्र-छात्राएं इस कदर प्रभावित हुए कि हर छात्र ने गुप्तेश्वर पांडेय बनने का संकल्प ले लिया. रचना, रिया सिंह, प्रिया जैसी छात्राएं हों या रजनीश और अमरीश कुमार जैसे छात्र, सभी डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से पूरी तरह प्रभावित दिखे.

ये भी पढ़ें- समस्तीपुर में अपराधियों का तांडव, 8 घंटे के दौरान दो लोगों की गोली मारकर हत्या

ये भी पढ़ें- प्रशांत किशोर के खिलाफ पटना में धोखाधड़ी का केस दर्ज, उन पर लगा ये आरोप...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 11:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर