बिहार: तो क्या सुशील मोदी के इस बयान ने छीन ली उनकी डिप्टी CM की कुर्सी?

सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)
सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

Bihar Politics: सितंबर, 2012 को एक अखबार को दिए इंटरव्यू में तत्कालीन डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने साफ तौर पर कहा कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) आगामी लोकसभा चुनाव में एक अहम भूमिका निभा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 12:55 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में नए डिप्टी सीएम के ऐलान के साथ ही अब यह साफ है कि बिहार प्रदेश में सत्ता की राजनीति से सुशील कमार मोदी (Sushil Kumar Modi) अलग कर दिए गए हैं. भाजपा ने ये फैसला क्यों किया, इसको लेकर चर्चा व बहस जारी है. राजनीतिक जानकार इसके कई कारण गिना रहे हैं. हालांकि कुछ ऐसे भी हैं जो सुशील मोदी की सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से अत्यधिक करीबी होने को भी इसका कारण मान रहे हैं. दूसरा भाजपा के इस फैसले को अब सुशील मोदी के उस बयान से भी जोड़कर देखा जा रहा है जो उन्होंने वर्ष 2012 में नीतीश कुमार को पीएम मटीरियल बताते हुए दिया था.

दरअसल, वर्ष 2010 के बाद से ही नीतीश कैबिनेट में शामिल रहे तत्कालीन पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) और अश्विनी चौबे (Ashwini Chaube) वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव के लिए लगातार गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी (Gujarat CM Narendra Modi) को पीएम पद का उम्मीदवार बनाने के पक्ष में माहौल बना रहे थे. उसी दौरान तीन सितंबर 2012 को एक अखबार को दिए इंटरव्यू में तत्कालीन डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने साफ तौर पर कहा कि नीतीश कुमार आगामी लोकसभा चुनाव में एक अहम भूमिका निभा सकते हैं.

नीतीश को बताया था PM मटीरियल

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज