पुलिस इंस्पेक्टरों पर हुई कार्रवाई तो DIG ने उठाए सवाल, DGP को लिखा पत्र

शाहाबाद रेंज के डीआईजी राकेश राठी ने सरकारी सेवक नियमावाली 2005 के तहत इस कार्रवाई पर सवाल उठाया है.

News18 Bihar
Updated: August 14, 2019, 4:22 PM IST
पुलिस इंस्पेक्टरों पर हुई कार्रवाई तो DIG ने उठाए सवाल,  DGP को लिखा पत्र
अपने अफसरों के साथ बिहार पुलिस के डीजीपी
News18 Bihar
Updated: August 14, 2019, 4:22 PM IST
बिहार के पुलिस (Bihar Police) महकमे में बगावत की कहानी फिलहाल समाप्त होते नहीं दिख रही. थानेदार, इंस्पेक्टर (Inspector) समेत लगभग 400 पुलिस अधिकारियों (Police Officer) पर हुई कार्रवाई के बाद इस लड़ाई में अब डीआईजी (DIG) भी कूद चुके हैं. दरअसल हाल ही में बिहार पुलिस मुख्यालय ने पटना (Patna) समेत राज्य के तमाम जिलों में पदस्थापित कुल 386 पुलिस अधिकारियों को दागी बताकर स्ट्रीम लाईन यानि की थानेदारी (SHO) से बाहर का रास्ता दिखा दिया था, वो भी एक ही झटके में.

डीजीपी की कार्रवाई का हुआ था विरोध

इधर पुलिस मुख्यालय के इस आदेश का विरोध भी खूब हुआ. विभाग ने जिन पुलिस अधिकारियों को दागी बताया गया और स्ट्रीम लाईन से साइड किया उनमें से कुछ ने सोशल मीडिया पर तो कुछ ने दबी जुबान से ही सही पर अपनी भड़ास भी निकाली. पुलिस मुख्यालय के इस फैसले का खुलकर विरोध बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह समेत सभी सदस्यों ने किया.

आईपीएस ने नियमावली का दिया हवाला

अब इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है. पुलिस मुख्यालय के इस फैसले का विरोध अब एक सीनियर आईपीएस ने भी किया है. शाहाबाद रेंज के डीआईजी राकेश राठी ने सरकारी सेवक नियमावाली 2005 के तहत इस कार्रवाई पर सवाल उठाया है. कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए डीआईजी ने आईजी पुलिस मुख्यालय नैयर हसनैन खान को एक पत्र लिखा है. अपने इस पत्र में उन्होंने नियमावाली में दिए गए प्रावधानों का हवाला देते हुए सरकार के फैसले को परस्पर विरोधी करार देते हुए इस स्पष्ट दिशा निर्देश देने का अनुरोध किया है.

25 अगस्त को एसोसिएशन की बैठक

मालूम हो कि राज्य के 386 पुलिस पदाधिकारियों को दागी बताकर हटाए जाने के खिलाफ बिहार पुलिस एसोसिएशन 25 अगस्त को एक महत्वपूर्ण बैठक कर इस मामले में अपनी आगे की कार्रवाई तय करने का ऐलान किया है. इस मामले में जब एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा कोई लेटर नहीं मिला है वहीं खुद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय पत्रकारों के सवालों पर कन्नी काटते दिखे.
Loading...

रिपोर्ट- अमित कुमार 

ये भी पढ़ें- मांझी बोले- तेजस्‍वी अनुभवहीन, इसलिए होते हैं विचलित

ये भी पढ़ें- 700 लोगों के इस गांव में आज तक नहीं गई पुलिस, न कोई केस दर्ज
First published: August 14, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...