पटना में हो रही है डिजीटल शादी, ऑनलाइन मिलेगा आशीर्वाद और गेस्ट की इस तरह होगी एंट्री

पोस्ट कोरोना के दिनों में लोगों के स्वभाव, सामाजिक व्यवहार में बदलाव की एक आहट देखी जा सकती है. (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना महामारी के कारण लोगों के जीवन में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है. इसी बीच बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में डिजीटल शादी होने जा रही है.

  • Share this:
    पटना. कोरोना संकट (Corona Crisis) के कारण बहुत कुछ बदला बदला दिखाई दे रहा है. आम लोगों को यह समझ में आ चुका है कि इस महामारी के बीच जीवन को जीना सीखना पड़ेगा. अनलॉक-01 (Unlock) के दौरान लोगों को सरकार की तरफ से रियायत मिलनी शुरू हो गई. उसके बाद लंबे समय से रूके शादी-ब्याह का सीजन भी शुरू हो गया. इसी बीच बिहार की राजधानी पटना (Patna) में डिजिटल शादी की भी खबर मिल रही है. इस शादी की खास बात यह है कि इसमें बाराती और सराती वर-वधू को ऑनलाइन आशीर्वाद देंगे. इसके अलावा गेस्ट की सीमित संख्या की पाबंदी के कारण जो भी शादी में सम्मलित होने वाले हैं, उनके चेक इन और चेक आउट का समय भी निर्धारित किया गया है. ये शादी रेडियो जॉकी के तौर पर काम करने वाली जिज्ञासा और संदीप की है.


    पोस्ट कोरोना डेज का दिख रहा है असर
    आम लोगों को एक बात साफ तौर पर पता है कि कोरोना महामारी के बीच हमे अपने जीवन को भी आगे बढ़ाते रहना है. देश भर में लॉकडाउन लागू होने के कारण जीवन मानो ठहर सा गया था. लेकिन अब उसे धीरे धीरे ही सही इसे पटरी पर लाने का प्रयास किया जा रहा है. पोस्ट कोरोना के दिनों में लोगों के स्वभाव, सामाजिक व्यवहार, लोकाचार सभी में बदलाव की एक आहट साफ तौर पर देखी जा सकती है.

    30 जून को पटना में होने जा रही है शादी
    बिहार की राजधानी पटना में 30 जून को एक ऐसी ही शादी होने वाली है. जिसमें पोस्ट कोरोना डेज का असर साफ तौर देखने को मिलेगा. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की विशेष व्यवस्था की गई है. साथ ही शादी में शामिल होने वाले अतिथियों के चेक इन और चेक आऊट का टाइम भी निर्धारित कर रखा गया है. जिससे ज्यादा लोग वहां इकट्ठे नहीं हो सकें. इस दौरान आने वाले लोगों को सैनिटाइज किया जाएगा. साथ ही थर्मल स्कैनिंग भी होगी.

    ये भी पढ़ें:  रात के अंधेरे में प्रेमिका से मिलना प्रेमी को पड़ा महंगा, ग्रामीणों ने कराई शादी

     

    शादी का होगा लाइव टेलीकास्ट
    इस शादी की सबसे खास बात ये है कि इसका सोशल मीडिया पर लाइव टेलीकास्ट भी होगा. इसके अलावा शादी में मिलने वाले उपहार को पीएम राहत कोष में दान किया जाएगा. न्यूज 18 डिजीटल से बातचीत में संदीप पांडेय ने कहा कि कोरोना संकट के अलावा वर्तमान समय में सामाजिक उत्सव में रिश्तेदारों का सम्मलित होना काफी मुश्किल हो गया. इस कारण यह निर्णय लिया गया. वहीं जिज्ञासा ने कहा कि इस तरह शादी करने के निर्णय लेने के बाद परिवार के सदस्यों का सकारात्मक सहयोग मिला. उन्होंने बताया कि संदीप के पास टेक्निकल टूल्स की अच्छी जानकारी है और जिस वजह से इस तरह शादी करने की प्लानिंग की जा सकी.