लाइव टीवी

बिहार पुलिस के DG बोले- चेक पोस्ट और ट्रैफिक ड्यूटी लेने के लिए घूस देते हैं जवान
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: February 7, 2020, 9:36 AM IST
बिहार पुलिस के DG बोले- चेक पोस्ट और ट्रैफिक ड्यूटी लेने के लिए घूस देते हैं जवान
पटना में आयोजित कार्यक्रम में होमगार्ड के डीजी

डीजी आर के मिश्र ने कहा कि घूस लेने वाले से ज्यादा देने वाला दोषी होता है. उन्होंने कहा कि आज होमगार्ड के जवान ट्रैफिक और चेक पोस्ट जैसी जगहों पर ड्यूटी लेने के लिये घूस देने को आराम से तैयार हो जाते हैं

  • Share this:
रिपोर्ट- संजय कुमार

पटना. बिहार (Bihar) की मौजूदा नीतीश सरकार (Nitish Government) भ्रष्टाचार (Corruption) को लेकर भले ही सख्त होने का दावा करती है लेकिन हकीकत है कि कई विभाग ऐसे हैं जो भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे हैं. ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि राज्य के डीजी होमगार्ड आर के मिश्रा खुद इसे स्वीकार कर रहे हैं. पटना में अपने जवानों और अधिरकारियों के संबोधन में डीजी होमगार्ड आर के मिश्रा ने स्वीकार किया कि होमगार्ड विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर उन्हें रोज शिकायतें मिलती रहती हैं. डीजी ने कहा की संघ के नेता भी बहती गंगा में हाथ धोते रहते हैं और जवानों से पैसे लेकर उनका आधिकारिक काम करवाने का ठेका तक ले लेते हैं. डीजी ने कहा कि अगर जवानों से ईमानदारी की उम्मीद करनी है तो कमांडेट से लेकर डीजी तक को ईमानदार बनना होगा.

DG ने बोलना शुरू किया तो दंग रह गए जवान और अधिकारी

डीजी आर के मिश्रा के इस खुलासे के बाद पुलिस महकमे में खलबली मच गई है. ईमानदार छवि वाले बिहार के होमगार्ड डीजी आर के मिश्र ने गुरुवार को पटना में विभागीय कार्यक्रम में शिरकत करते हुए अपना संबोधन शुरू किया तो वहां मौजूद होमगार्ड के जवानों से लेकर कमांडेट तक को इस बात का अहसास नहीं था की उनके मुखिया विभागीय भ्रष्टाचार को लेकर इतना बड़ा दर्द साझा करेंगे. लेकिन जब डीजी आर के मिश्रा ने भ्रष्टाचार को लेकर सच्चाई उजागर करना शुरू किया तो खलबली सी मच गई.

घूस लेने से ज्यादा देने वाला दोषी

डीजी आर के मिश्रा ने कहा कि घूस लेने वाले से ज्यादा देने वाला दोषी होता है. डीजी ने कहा कि आज होमगार्ड के जवान ट्रैफिक और चेक पोस्ट जैसी जगहों पर ड्यूटी लेने के लिये घूस देने को आराम से तैयार हो जाते हैं. डीजी होमगार्ड ने आह्वान किया कि ड्यूटी कहीं भी मिले जवानों को घूस देने की प्रवृति से बचना चाहिये. डीजी ने कहा कि पता नहीं हमारे सामने किस तरीके की मजबूरी होती है? अगर हमें दो से चार महीने ड्यूटी नहीं मिले और हम भूखे पेट सो जायें तब भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सकता है.

संबोधन में नेताओं की भी ली क्लासमंच पर कई खद्दरधारी और विभागीय संघ के नेता भी उनके स्वागत के लिए मौजूद थे लेकिन डीजी आर के मिश्रा ने इन नेताओं को भी भ्रष्टाचार की बहती गंगा में हाथ धोने वाला बताया. डीजी ने कहा की ये नेता होमगार्ड के जवानों को मेडिकल बिल पास करने तक के नाम पर पैसे वसूल लेते हैं. डीजी ने कहा कि जिसका जो काम है अगर वो वही करे तो इससे भी भ्रष्टाचार रोका जा सकता है.

ये भी पढ़ें- शहीद रमेश के पिता बोले, मुआवजा नहीं परमवीर चक्र चाहिए

नगर निगम कर्मियों की हड़ताल के बीच यह है पटना के महत्वपूर्ण इवेंट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 8:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर