पटना में डॉक्टरों को सता रहा कोरोना का डर, अस्पतालों में नहीं है मास्क और सैनेटाइजर
Patna News in Hindi

पटना में डॉक्टरों को सता रहा कोरोना का डर, अस्पतालों में नहीं है मास्क और सैनेटाइजर
पटना के सभी सरकारी अस्पतालों में नहीं है कोरोना से निपटने के उपाय

कहने को तो कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर बिहार की सरकार बहुत सतर्क और सजग है लेकिन न्यूज18 की विशेष पड़ताल में सरकार के दावों की पोल खुल गई है पटना (Patna)के बड़े अस्पतालों को छोड़कर बाकी जगहों पर सरकार की कोई तैयारी नहीं है

  • Share this:
पटना. कोरोना वायरस (Corona Virus) के आतंक से पूरी दुनिया में दहशत है तो देश भर में हाई अलर्ट है ऐसे में इस खतरनाक बीमारी से निपटने के लिए बिहार सरकार और स्वास्थ्य विभाग ने पटना (Patna) के बड़े अस्पतालों में आईसोलेशन वार्ड से लेकर डाक्टरों की एक स्पेशल टीम तो बनाई है लेकिन सच ये है कि बड़े अस्पतालों को छोड़कर पटना के आसपास के अस्पतालों में डॉक्टरों को मास्क (Mask) तक नसीब नहीं हो रहा. गर्दनीबाग अस्पताल की मेडिकल ऑफिसर कविता सिंह ने जो न्यूज 18 बताया कि वो सरकार के दावों की पोल खोलने के लिए काफी है. मेडिकल ऑफिसर ने कहा कि आईसोलेशन वार्ड तो दूर सरकार अब तक डाक्टरों और नर्सों के लिए एक मास्क और सैनिटाइजर तक मुहैया नहीं करा पाई हैं.

न्यूज 18 की पड़ताल में हुआ खुलासा

न्यूज 18 ने कोरोना वायरस को लेकर सरकारी सिस्टम की पड़ताल की जिसमें पटना का पीएमसीएच और एनएमसीएच के अलावे कोरोना को लेकर बाकी अस्पतालों में सरकार की कोई तैयारी नहीं दिखी. बिहार सरकार के मेडिकल ऑफिसर ने न्यूज 18 को बताया कि सरकार से अब तक उन्हें ना तो कोई मास्क मिला है और ना ही कोई सैनिटाइजर. डॉक्टर कविता सिंह ने कहा कि वो बेहद डरी हुई हैं और उनकी मजबूरी है कि वो अस्पताल में ड्यूटी करते रहें क्योंकि अब बहुत रिस्क भी है और डर भी लगने लगा है.



कई अस्पतालों में नहीं है आइसोलेशन वार्ड
न्यूज 18 की इस विशेष पड़ताल में सरकार के सारे दावे तकरीबन फेल साबित हुए और इन दावों की पोल खुद स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों और नर्सों ने खोल कर रख दी. पटना से सटे दानापुर अनुमंडल अस्पताल में आईसोलेशन वार्ड का तो नामोनिशान नहीं था हैरत इस बात की थी कि यहां के डाक्टरों और नर्स को मास्क और सैनिटाइजर तक भी नसीब नहीं था. कैमरे को देखकर ये बेचारे जैसे-तैसे आम मास्क पहनकर ही काम करने लगे लेकिन अस्पताल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट ने माना कि यह मास्क बेहद मामूली है. N95 मास्क और सैनिटाइजर अब तक सरकार ने अस्पताल को मुहैया नहीं करवाया है.

मरीजों की देखभाल पर सवाल

हम इस रिपोर्ट के जरिये सरकार और स्वास्थ्य विभाग को ये बताने की कोशिश कर रहे हैं कि एकतरफ आप पीएमसीएच, एनएमसीएच जैसे बड़े अस्पतालों में आईसोलेशन वार्ड से लेकर डॉक्टर और नर्स को मास्क और सैनिटाइजर मुहैया करते हैं वहीं पटना के दूसरे अस्पतालों में डॉक्टरों को कुछ भी नसीब नहीं होता ऐसे में सवाल ये है कि जब अस्पताल डॉक्टर ही असुरक्षित हैं तो भला उन मरीजों का क्या होगा.

ये भी पढ़ें- बिहार: विधानपरिषद की 27 सीटों क लिए होंगे चुनाव, जानें किसका पलड़ा है भारी

ये भी पढ़ें- BJP-JDU के सवर्ण नेताओं के लिए इस बार आसान नहीं राज्यसभा जाने की राह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज