वर्षा के चलते ढही BSNL की जर्जर दीवार, 5 बच्चों समेत 6 दबे- दो की मौत

भारी बारिश के चलते पटना में भिखारी ठाकुर पुल के पास स्थित बीएसएनएल की जर्जर दीवार ढह गई. जिसमें 2 बच्चों समेत 4 लोग दब गए. हालांकि अभी तक केवल एक बच्चे की मौत की पुष्टि हो सकी है.

News18 Bihar
Updated: July 9, 2019, 11:22 PM IST
वर्षा के चलते ढही BSNL की जर्जर दीवार, 5 बच्चों समेत 6 दबे- दो की मौत
सांकेतिक फोटो
News18 Bihar
Updated: July 9, 2019, 11:22 PM IST
बिहार की राजधानी पटना में भिखारी ठाकुर पुल के पास एक बड़ा हादसा हुआ है. दरअसल पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते पुल के पास स्थित बीएसएनएल की जर्जर दीवार ढह गई. जिसमें 2 बच्चों समेत 4 लोग दब गए. हालांकि अभी तक केवल एक बच्चे की मौत की पुष्टि हो सकी है. मौके पर बचाव कार्य तेजी से चलाया जा रहा है लेकिन भारी बारिश के चलते इसमें कठिनाई आ रही है. वहीं इस मामले को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है.

राष्ट्रीय जनता दल के विधायक शक्ति सिंह यादव ने BSNL भवन की दीवार गिरने की घटना को लेकर सरकार और आपदा प्रबंधन पर बोला हमला है. बता दें कि बिहार विधानसभा के मुख्य द्वार से सटे BSNL भवन की दीवार गिरने से दो बच्चे की मौत हो गई है, जबकि कई अन्य लोग घायल हैं. ताजा समाचार मिलने तक 6 लोगों घायल बताए जा रहे हैं.

आरजेडी विधायक शक्ति सिंह ने आपदा प्रबंधन विभाग को जिम्मेदार ठहराया है.


आरजेडी ने आपदा प्रबंधन को ठहराया जिम्मेदार

आरजेडी विधायक ने बच्चों की मौत पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने कहा है कि नगर विकास और आपदा प्रबंधन विभाग बच्चों की मौत के लिए जिम्मेदार है. उन्होंने आरोप लगाया कि विभाग द्वारा हर आपदा से निपटने के दावे पूरी तरह से खोखले साबित हुए हैं. शक्ति सिंह ने कहा कि मात्र दो दिन की हल्की बारिश ने पूरे पटना शहर की सूरत बिगाड़ दी है, यह कैसा विकाश है?

घायलों का पीएमसीएच में चल रहा है इलाज
बता दें कि बीएसएनएल की दीवार गिरने के हादसे में घायल लोगों का इलाज पटना के पीएमसीएच में चल रहा है. जहां इलाज के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई है. गौरतलब हो कि हादसे के शिकार सभी 6 लोग एक ही परिवार के सदस्य थे. इस दौरान यह दुर्घटना हुई, बच्चों की मां बसंती खाना बना रही थी. दीवार में दबे दोनों बच्चे- एक साल की बच्ची और 3 साल के मासूम बेटे की इलाज के दौरान मौत हो गई है.
Loading...

4 लोगों का चल रहा है इलाज
प्राप्त ताजा जानकारी के अनुसार चार लोगों का इलाज चल रहा है. तीन बच्चे और बच्चों की बुआ रिंकी गंभीर रूप से जख्मी हैं, जिनका इलाज जारी है. बताया जा रहा है कि रिंकी दो दिन पहले ही अपने भाई से मिलने के लिए पटना पहुंची थी. यह परिवार करीब डेढ़ साल से रोजी रोटी के लिए पटना में रह रहा है. बांस का घर बनाकर यह परिवार किसी तरह से अपना गुजारा कर रहा था.

ये भी पढ़ें:

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 10:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...