Corona को लेकर अलर्ट पर रेलवे, पर्दे से लेकर कंबल-खिड़की तक किए जा रहे सेनेटाइज
Patna News in Hindi

Corona को लेकर अलर्ट पर रेलवे, पर्दे से लेकर कंबल-खिड़की तक किए जा रहे सेनेटाइज
कोरोनो से बचाव के लिए ट्रेनों की सफाई करते कर्मी (फाइल फोटो)

ECR के CPRO राजेश कुमार ने यह भी बताया कि पटना समेत तमाम स्टेशनों पर जहां यात्रियों का आवागमन ज्यादा होता है. वहां विशेष सतर्कता बरती जा रही है.

  • Share this:
पटना. भारत समेत विश्व के कई देशों में कोरोना (Corona) कहर बरपा लरहा है. इसको देखते हुए देश भर में ऐहतियात बरते जा रहे हैं. रेलवे (Indian Railway) भी कोरोना के संभावित खतरे के मद्देनजर विशेष उपाय कर रहा है. पूर्व-मध्य रेलवे यानी ECR से संचालित 274 ट्रेनों को जहां सेनेटाइज किया जा रहा है वहीं इनकी साफ-सफाई पर भी विशेष नजर है.

खोले गए AC बोगी के पर्दे

कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए पूर्व मध्य रेल ने रेल यात्रियों की सुरक्षा हेतु कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. पूर्व मध्य रेल से चलने वाली सभी गाड़ियों में ना सिर्फ फागिंग की जा रही है बल्कि AC बोगी में लगे सभी पर्दे खोले जा रहे हैं.



कम्बल को भी किया जा रहा सेनेटाइज
इसके अलावा AC बोगी में यात्रियों को दिए जाने वाले कंबल को भी 40 डिग्री के टेंपरेचर रख सैनेटाइज किया जा रहा है. इसके अलावा ट्रेन के सभी बोगी के खिड़की, दरवाजे और हैंडल को भी सैनिटाइज कर ट्रेन को रवाना किया जा रहा है .

ECR के 5 मंडलों के सभी स्टेशन पर जागरूकता अभियान

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि ECR(ईस्ट सेंट्रल रेलवे) के सभी 5 मंडलों के सभी स्टेशनों पर भी कोरोना से बचने के लिए उदघोषणा के माध्यम से जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है.

कोरोना से ग्रसित यात्री के लिए व्यवस्था

CPRO ने बताया कि कोरोना के संदिग्ध पाए जाने वाले रेल यात्री के इलाज की भी व्यवस्था की गई है .उन्हें एंबुलेंस के माध्यम से सरकारी अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में पहुंचाया जाएगा. अगर मरीज की स्थिति गंभीर हो तो पहले रेलवे के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड में ट्रांसफर किया जा सकता है.

पटना समेत बड़े स्टेशनों पर ज्यादा सतर्कता

ECR के CPRO राजेश कुमार ने यह भी बताया कि पटना समेत तमाम स्टेशनों पर जहां यात्रियों का आवागमन ज्यादा होता है. वहां विशेष सतर्कता बरती जा रही है. और वहां किसी यात्री के अंदर कोरोना के लक्षण है तो वह रेलवे के किसी भी अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक को सूचना दे सकता है. रेलवे की तरफ से तत्काल उस व्यक्ति को आइसोलेशन वार्ड में या फिर सैनिटाइज कर सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया जाएगा.

ECR जोन से रोजाना गुजरती है 845 ट्रेन

बता दें कि पूर्व मध्य रेल से 147 मेल/एक्सप्रेस का संचालन होता है. MEMU/DEMU ट्रेन की संख्या 274 है जो ECR से संचालित होती है. इसके अलावे अन्य जोन से 108 और पूर्व रेलवे जोन की 316 ट्रेन ECR जोन से होकर गुजरती है. यानी पूर्व मध्य रेल का दावा है कि यहां से खुलने वाली सभी ट्रेन है सैनिटाइज कर ही भेजी जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज