लाइव टीवी

बिहार में बन रहे इन ईको फ्रेंडली बैग्स की धूम मुंबई ही नहीं इजरायल में भी
Patna News in Hindi

jyoti mishra | News18Hindi
Updated: February 3, 2020, 4:54 PM IST
बिहार में बन रहे इन ईको फ्रेंडली बैग्स की धूम मुंबई ही नहीं इजरायल में भी
इन को बनाने वाली मोनिका ने कहा कि इस बैग को बनाने के पीछे सीधा मकसद है कि पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचे और लोग आसानी से इसका उपयोग कर सकें.

बिहार में बने ईको फैंडली बैग्ज बने लोगों की पसंद, देश विदेश से भी लोग दे रहे हैं ऑनलाइन ऑर्डर.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2020, 4:54 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में बने ईको फ्रेंडली बैग्स (Eco Friendly) की इन दिनों हर तरफ चर्चा है. ये गौरैया ईको फ्रेंडली बैग्स न केवल मुंबई, कोलकाता जैसे महानगरों में इन दिनों लोगों के बीच काफी पॉपुलर हो रहे हैं,  बल्कि अब ये इजरायल के लोगों की पसंद बन गए हैं. पटना के तारामंड में लग रहे महिला उद्योग मेरे में एक स्टॉल इन बैग्स की भी है. इन को बनाने वाली मोनिका ने कहा कि इस बैग को बनाने के पीछे सीधा मकसद है कि पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचे और लोग आसानी से इसका उपयोग कर सकें. गौरतलब है कि पटना तारामंडल में आयोजित उद्योग मेरे में करीब 8 राज्यों से आई महिलाओं ने अपने-अपने प्रोडक्ट्स के स्टॉल्स लगाए हैं.

इसलिए शुरू किया ये काम
मोनिका जो कि अब तक एक ग्रहणी थीं. उन्होंने एक रिपोर्ट पढ़ने के बाद इस काम को शुरू करने का निर्णय लिया. इस रिपोर्ट में बताया गया था कि कैसे जानवर प्लास्टिक को खाकर अपनी जान खतरे में डालते हैं. इसके बाद मोनिका ने ऐसे बैग्स का निर्माण शुरू किया. इन बैग्स पर गौरैया को बचाने के संबंध में संदेश भी जाता है. यहां तक की मोनिका ने लुप्त होती इस चिढ़िया की प्रजाती को बचाने के लिए लोगों को जागरुक करने का मकसद रखते हुए इन बैग्स का नाम भी गौरैया ईको फ्रैंडली बैग्स नाम दिया है.

पटना के लोगों को भी काफी पंसद

मेले में बैग खरीदने वाली श्रेया ने कहा कि ये काफी ट्रेंडी हैं और प्लास्‍टिक का यूज नहीं किया जाए इसका एक बेहतर विकल्प भी हैं. वहीं एक अन्य खरीददार मीरा कुमार ने कहा कि ये इतने यूजर फ्रेंडली हैं कि इन्हें आसानी से हैंड बैग में भी रखा जा सकता है. वहीं ये पर्यावरण के लिहाज से भी काफी कारगर हैं.

ऑनलाइन मिल रहे देश विदेश से ऑर्डर
मोनिका ने बताया कि इन बैग्स को न केवल मुंबई, दिल्ली, कोलकता या चेन्नई जैसे महानगरों के लोग ऑनलाइन ऑर्डर कर मंगवा रहे हैं, बल्कि इजरायल से भी लोग अब बड़ी संख्या में और ज्यादा ऑर्डर करने लगे हैं. मोनिका ने कहा कि यदि प्लास्टि की जगह ऐसे बैग्स का इस्तेमाल किया जाए तो पर्यावरण को नुकसान भी नहीं होगा और हजारों की संख्या में प्लास्टिक खाकर अपनी जान देने वाले जानवरों को भी बचाया जा सकेगा.ये भी पढ़ेंः तेजप्रताप यादव को सताने लगा हार का डर! सेफ जोन की तलाश में जुटे 'लालू के लाल'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 4:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर