Bihar: 2019 में STET पास सभी शिक्षक भर्ती के लिए पात्र, 2011 वाले भी करेंगे आवेदन

बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी शिक्षक नियक्ति प्रक्रिया का पूरा प्लान बताया.

Bihar News: STET 2019 की परीक्षा BSEB ने ली थी. कुल 15 विषयों की परीक्षा हुई जिसमें कुल पौने दो लाख परीक्षार्थी उसमे शामिल हुए थे. उनमें से 12 के परिणाम इसी वर्ष मार्च में आए थे. संस्‍कृत, विज्ञान और उर्दू विषयों का परिणाम 21 जून की शाम घोषित किया गया.

  • Share this:
    पटना. बिहार में शिक्षक भर्ती के मामले पर सरकार ने अपना रुख साफ कर दिया है. शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary,) ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि माध्यमिक-उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले सभी शिक्षक अभ्यर्थी आगामी शिक्षक बहाली में पात्र होंगे. इसमें एसटीईटी 2011 और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 21 जून को जारी एसटीईटी- 2019 की दोनों प्रकार की सूची के अभ्यर्थी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि  मेरिट लिस्‍ट में नहीं आने वाले अभ्‍यर्थी परेशान नहीं हों.



    शिक्षा मंत्री ने बताया कि सरकार ने इस मुद्दे पर अहम निर्णय लिया है. 2019 की STET में जो भी उत्‍तीर्ण हुए हैं वे सभी सातवें शिक्षक नियोजन के पात्र होंगे. भले ही वे बोर्ड की ओर से जारी क्‍वालिफाइ बट नॉट इन मेरिट लिस्‍ट की सूची में क्‍यों नहीं हों. इस बाबत निर्णय हो गया है औरजल्‍द ही सारी कार्रवाई कर विभाग की ओर अधिसूचना जारी की जाएगी. मंत्री ने कहा कि पहले ही अभ्‍यर्थियों की मान्‍यता ताउम्र (Life Time Validity) की जा चुकी है. सातवें शिक्षक नियोजन में 2011 में माध्‍यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्‍तीर्ण भी आवेदन कर सकेंगे.

    शिक्षा मंत्री ने कहा कि बिहार सरकार द्वारा  निर्णय लिया जा चुका है और प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद शीघ्र ही विभाग की ओर से इसको लेकर अधिसूचना जारी कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) का पूर्णत: अनुसरण करता हैं. इसको लेकर पहले ही एसटीईटी में पात्र हो चुके अभ्यर्थियों की मान्यता भूतलक्षी प्रभाव से आजीवन की जा चुकी है. इसी के तहत सातवें शिक्षक नियोजन में 2011 में माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले भी अगले चरण की बहाली में आवेदन कर सकेंगे.

    बता दें कि बिहार में शिक्षक बहाली की पात्रता को लेकर काफी संशय की स्थिति थी. अभ्‍यर्थ‍ियों इसको लेकर आंदोलन भी किया. कोर्ट जाने की धमकी तक दी. बुधवार को इसी मांग को लेकर सचिवालय के समय खूब हंगामा किया गया. इसके बाद शिक्षा मंत्री ने आश्‍वासन दिया था कि उनकी समस्‍याएं दूर की जाएंगी.

    गौरतलब है कि STET 2019  की परीक्षा BSEB ने ली थी. कुल 15 विषयों की परीक्षा हुई जिसमें कुल पौने दो लाख परीक्षार्थी उसमे शामिल हुए थे. उनमें से 12 के परिणाम इसी वर्ष मार्च में आए थे. संस्‍कृत, विज्ञान और उर्दू विषयों का परिणाम 21 जून की शाम घोषित किया गया.सफलता का प्रतिशत 16 से भी कम रहा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.