'संपूर्णक्रांति' के लिए आंदोलन करेंगे बिहार के सांसद, जानें क्या है माजरा

सांसदों ने रेलवे बोर्ड (Railway Board) की मंशा की निंदा करते हुए कहा कि संपूर्णक्रांति एक्‍सप्रेस का विस्‍तार होने पर वह विरोध करेंगे.

News18 Bihar
Updated: September 10, 2019, 9:00 AM IST
'संपूर्णक्रांति' के लिए आंदोलन करेंगे बिहार के सांसद, जानें क्या है माजरा
बिहार के आठ सांसदों ने संपूर्णक्रांति एक्सप्रेस को मधुपुर ले जाने का विरोध किया है.
News18 Bihar
Updated: September 10, 2019, 9:00 AM IST
पटना. बिहार के सांसदों (MP of Bihar) ने राजेंद्र नगर टर्मिनल से नई दिल्ली तक चलने वाली 12393-12394 संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस (Sampoornkranti Express) को मधुपुर तक विस्तार देने की रेल मंत्रालय (Rail Ministry) की योजना का विरोध किया है. सोमवार को सांसद रामकृपाल यादव, डॉ. सीपी ठाकुर (Ramkripal Yadav And Dr CP Thakur) समेत आठ सांसदों ने आवाज बुलंद की है. सांसदों ने इस ट्रेन के प्रारंभ होने के स्टेशन में बदलाव किए जाने के स्थिति में बड़ा आंदोलन चलाने की चेतावनी तक दी है.

रामकृपाल यादव ने किया पुरजोर विरोध
पाटलिपुत्र से सांसद रामकृपाल यादव ने कहा की किसी भी कीमत पर पटना से खुलने वाली सम्पूर्णक्रन्ति एक्सप्रेस को पूर्व रेलवे के मधुपुर नहीं जाने दिया जाएगा. इस बाबत पूर्व-मध्य रेलवे के जीएम र रेल मंत्री को भी इस बात पर चर्चा की गई है. उन्होंने कहा है कि इसे पटना तक ही रोकने के लिए किसी भी हद तक जाएंगे. विरोध करने वाले सांसदों ने कहा कि इसके लिए कुछ भी करना पड़ेगा तो करेंगे.

आंदोलन की दी चेतावनी 

सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि पिछले 16 साल से चल रही पटना से दिल्ली को जोड़ने वाली यह ट्रेन काफी महत्वपूर्ण है. पटना से नई दिल्ली के लिए राजधानी और संपूर्णक्रांति एक्सप्रेस ही दिल्ली के लिए सीधी ट्रेनें हैं. राजधानी एक्सप्रेस की सारी बोगियां एसी हैं, जिनमें आम यात्रियों का जाना संभव नहीं है. संपूर्णक्रांति ही एकमात्र ऐसी ट्रेन है, जिससे आम और खास दोनों सफर करते हैं.

सभी सांसदों ने दिया रामकृपाल का साथ
रामकृपाल यादव के आवाज उठाने के पास बैठक में मौजूद केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बीजेपी के वरिष्ठ सांसद सीपी ठाकुर के साथ और सांसदों सहित उनके प्रतिनिधियों ने भी उनका साथ देते हुए विरोध किया. साथ ही झारखंड के सांसद निशिकांत दुबे को भी चेतावनी दी.
Loading...

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बीजेपी के वरिष्ठ सांसद सीपी ठाकुर के साथ अन्‍य सांसदों और उनके प्रतिनिधियों ने आंदोलन की चेतावनी दी है.


रेलमंत्री से मिलेंगे सांसद
विरोध करने वाले सभी सांसदों ने कहा कि मधुपुर से सम्पूर्णक्रन्ति को खोलने से बढ़िया है कि वहां से एक नई ट्रेन ही दे दें, ताकि सभी को सुविधा मिल सके और किसी प्रकार के बवाल से बचा जा सके. अश्विनी चौबे ने कहा कि सम्पूर्णक्रन्ति से हमारा अस्तित्व जुड़ा है. सांसदों ने रेलवे बोर्ड की मंशा की निंदा करते हुए कहा कि ऐसा हुआ तो पटना से लेकर दिल्ली तक विरोध होगा. एकजुटता दिखाते हुए शीघ्र ही इस संबंध में रेलमंत्री से मिलकर बात करने की बात कही है.

मंडल संसदीय समिति की बैठक में उठा मुद्दा
बता दें कि सोमवार को दानापुर मंडल कार्यालय में पूर्व-मध्य रेलवे के जीएम ललित चंद्र द्विवेदी और डीआरएम रंजन प्रकाश ठाकुर के अधिकारियों के साथ मंडल संसदीय समिति की बैठक की गई. इसमें सम्पूर्णक्रांति को पटना की जगह पश्चिम बंगाल के मधुपुर से खोले जाने का जमकर विरोध हुआ है.

बैठक में शिरकत करने आए पूर्व मध्य रेल के जीएम ललित चंद्र द्विवेदी व अन्य अधिकारी


इस विरोध का समर्थन डॉ. सीपी ठाकुर, चंदन सिंह, चंदेश्वर प्रसाद सिंह, कौशलेंद्र कुमार, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, विजय कुमार समेत आठ सांसदों एवं तीन सांसद प्रतिनिधियों ने किया है.सांसदों ने महाप्रबंधक को लिखित ज्ञापन भी सौंपा.

रिपोर्ट- अमरजीत शर्मा

ये भी पढ़ें-

मिसाल: बिहार के इस गांव में हिंदू मनाते हैं मुहर्रम, 100 साल से निभा रहे पूर्वजों का किया वादा

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की गाड़ी का कटा 2500 रुपए का चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 8:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...