• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार चुनाव 2020: राजद में भगदड़! लालू के बेहद खास 3 और विधायक जाएंगे नीतीश के पाले में

बिहार चुनाव 2020: राजद में भगदड़! लालू के बेहद खास 3 और विधायक जाएंगे नीतीश के पाले में

लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार  (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

दलबदल का खेल आरजेडी से जेडीयू (RJD to JDU) में जाने का ही नहीं बल्कि जेडीयू से आरजेडी में जाने का भी हो रहा है. श्याम रजक और जावेद इकबाल अंसारी (Shyam Rajak and Javed Iqbal Ansari) ने तीर छोड़ लालटेन थाम ली है.

  • Share this:
पटना. विधायक प्रेमा चौधरी, महेश्वर यादव, अशोक कुमार, चंद्रिका राय, फराज फातमी, जयवर्धन यादव जैसे कद्दावर चेहरे हैं जो आरजेडी से जेडीयू (RJD to JDU) में गए हैं. इससे पहले पांच आरजेडी के ही पांच एमएलसी दिलीप राय, राधा चरण सेठ, संजय प्रसाद, कमरे आलम और रणविजय सिंह ने भी पाला बदल जेडीयू का दामन थाम लिया था. इस बीच बड़ी खबर ये है कि आरजेडी के तीन और कद्दावर नेता व विधायक मंगलवार को जेडीयू ज्वाइन कर सकते हैं. सूत्रों से जानकारी मिली है कि ये सभी विधायक आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (RJD President Lalu Prasad Yadav) के काफी करीबी रहे हैं. बता दें कि जेडीयू संसदीय दल के नेता ललन सिंह ने शनिवार को कहा था कि राजद में भगदड़ मची है, बैरियर खोल देंगे, तो पार्टी खत्म हो जाएगी. राजद के तमाम नेता पार्टी छोड़ने की तैयारी में हैं कब कौन आएगा इसका इंतजार है.

गौरतलब है कि बिहार में करीब दो महीने बाद विधानसभा चुनाव है. चुनावी आहट के साथ राजनेताओं का एक दल से दूसरे दल में भगदड़ शुरू हो गयी है. इस बीच एक बड़े राजनीतिक चेहरे के पाला बदलने के कयास लगाए जा रहे हैं. खबर है कि लालू यादव के खास माने जाने वाले लोकतांत्रिक जनता दल के अध्यक्ष शरद यादव इन दिनों सीएम नीतीश कुमार के संपर्क में हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि उनकी घर वापसी हो सकती है.

बता दें कि आरजेडी के टिकट पर लोक सभा चुनाव लड़ने वाले शरद यादव एक माह से बीमार होने की वजह से अस्पताल में भर्ती थे. इस दौरान शरद यादव से जेडीयू के नेता संपर्क में थे. जिसके बाद यह माना जा रहा है कि शरद यादव की नीतीश कुमार के साथ घर वापसी हो सकती है.  LJD राष्ट्रीय महासचिव अरुण श्रीवास्तव ने इस बात की पुष्टि की है कि सीएम नीतीश कुमार  ने शरद यादव से बात की है. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश ने शरद यादव से तबीयत को लेकर कुशल क्षेम पूछा, लेकिन साथ ही यह भी कह दिया कि राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं होता.

इस मसले पर जेडीयू के नेता व मंत्री नीरज कुमार सिंह एवं बीजेपी प्रवक्ता निखिल मंडल कहते हैं कि  महागठबंधन में तेजस्वी यादव के नेतृत्व को कोई मानने के लिए तैयार नहीं है, ऐसे में आरजेडी के विधायक वहां रहना नहीं चाहते हैं. जेडीयू का आरोप है कि आरजेडी में जमीन और मकान लेने की परंपरा है ऐसे में वहां के नेता भागना चाहते हैं. जबकि आरजेडी प्रवकाता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि शरद यादव उनके साथ हैं और तेजस्वी यादव को जनता दिल मे बसा चुकी है और उन्हें ही मुख्यमंत्री बनाएगी.

बता दें कि दलबदल का खेल आरजेडी से जेडीयू में जाने का ही नहीं बल्कि जेडीयू से आरजेडी में जाने का भी हो रहा है. श्याम रजक और जावेद इकबाल अंसारी ने जेडीयू का तीर छोड़ आरजेडी की लालटेन थाम ली है. वैसे चुनावी बिगुल बजने के बाद जब तक टिकट उम्मीदवारों को टिक नहीं मिल जाती है तब तक भगदड़ का दौर जारी रहेगा और नेता अपने अपने लिए राजनीतिक दल में अपनी जगह तलाशते रहेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज